बड़ी खबर : चाय वाले की बेटी की ऊंची उड़ान, इंडियन एयरफोर्स एकेडमी से हुई ग्रेजुएट

बड़ी खबर : चाय वाले की बेटी की ऊंची उड़ान, इंडियन एयरफोर्स एकेडमी से हुई ग्रेजुएट
परिवार के साथ आंचल गंगवाल.

उत्तराखंड की विनाशकारी बाढ़ देखकर चुनी थी भारतीय वायुसेना की राह. पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर भी रहीं आंचल गंगवाल.

  • Share this:
नई दिल्ली. मंजिले उन्हीं को मिलती हैं, जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है... सफलता के शिखर पर मध्य प्रदेश के नीमच जिले की आंचल गंगवाल (Aanchal Gangwal) की उड़ान कुछ ऐसी ही है. आंचल ने बीते इंडियन एयर फोर्स एकेडमी (Indian Air force Academy) से ग्रेजुएट किया है. शनिवार को दीक्षा परेड में उन्हें सम्मानित किया गया. चाय की दुकान चलाने वाले आंचल के पिता ने जब टीवी पर बेटी को ग्रेजुएट होते देखा तो उनका सीना गर्व से चौड़ा हो गया.

नीमच बस स्टैंड पर पिता की चाय की दुकान
दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, नीमच के सरकारी स्कूल से कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएट आंचल ने संब इस्पेक्टर के पद पर मध्य प्रदेश पुलिस ज्वाइन की थी. बाद में लेबर इंस्पेक्टर की मेरिट में आने के बाद उन्होंने पुलिस की नौकरी छोड़ दी. करीब आठ महीने बाद उन्होंने एयर फोर्स में जाने का फैसला किया. आंचल के पिता सुरेश गंगवाल नीमच के बस स्टैंड पर छोटी सी चाय की दुकान चलाते हैं. आंचल ने एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में वर्ष 2018 में सफलता हासिल की थी जिसके बाद जून 2018 में वह लड़ाकू विमान के पायलट के प्रशिक्षण के लिए हैदराबाद रवाना हुईं.

प्रलयकारी बाढ़ ने दी वायुसेना में जाने की प्रेरणा
कभी-कभी कोई एक वाकया जिंदगी की दिशा तय कर देता है. आंचल गंगवाल के लिए वो लम्हा साल 2013 में आया था. तब उत्तराखंड में आई विनाशकारी बाढ़ के दौरान भारतीय वायुसेना ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए बचाव अभियान में सबकुछ झोंक दिया था. टीवी पर वायुसेना के इस कारनामे को देखकर आंचल ने ठान लिया कि उन्हें भी वायुसेना में जाकर देश की सेवा करनी है. तब आंचल 12वीं क्लास में पढ़ रही थीं.



ये भी पढ़ें
कभी भी जारी हो सकता है CTET का एडमिट कार्ड, अफवाहों से बचें, लें पूरी जानकारी
DU Admissions 2020: 24 घंटों में हुए 88 हज़ार से ज्यादा रजिस्ट्रेशन

ऐसे चढ़ी सफलता की सीढ़ियां
- अप्रैल 2017 में पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर बनी. इसी साल अगस्त में इस्तीफा दे दिया.
- अगस्त 2017 में लेबर इंस्पेक्टर के पद पर चुनी गईं. ​मंदसौर में कई महीने तक इस पद पर काम किया.
- जून 2018 से लेकर जून 2020 तक एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में सफल हुईं. चयनित होने वाली मध्य प्रदेश की एकमात्र युवती.
- 30 जून 2028 से हैदराबाद स्थित एयर फोर्स एकेडमी में प्रशिक्षण शुरू किया. इसके बाद 20 जून 2020 को ग्रेजुएशन सेरेमनी हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज