• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • AICTE ने इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों से ट्यूशन फीस न बढ़ाने को कहा

AICTE ने इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों से ट्यूशन फीस न बढ़ाने को कहा

2020-21 FYJC में दाखिले के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस 26 जुलाई से शुरू होगा.

2020-21 FYJC में दाखिले के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस 26 जुलाई से शुरू होगा.

AICTE के चेयरमैन प्रो. अनिल डी सहस्रबुद्धे कहा कि अभिभावकों (Parents) को राहत दिलाने के लिए कॉलेज प्रबंधन (College Management) से ट्यूशन फीस न बढ़ाने की अपील की है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट स्टूडेंट्स की मदद के लिए सामने आया है. AICTE ने सभी इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट और होटल मैनेजमेंट कॉलेजों से सत्र 2020-21 में ट्यूशन फीस (Tuition Fees)  न बढ़ाने की अपील की है. साथ ही कहा कि लोगों की आर्थिक हालत ठीन नहीं है इसलिए कॉलेज ट्यूशन फीन न लें. इस मामले को लेकर AICTE ने सभी तकनीकी कॉलेजों के मैनेजमेंट को पत्र भी लिखा है. पत्र में कहा कि लॉकडाउन के कारण लोगों की आर्थिक हालत ठीक नहीं है. लोगों के पास जीवन यापन के लिए पैसे नहीं है. ऐसे में वो फीस कहां से दे पाएंगे. इसलिए संस्थानों को सत्र 2020-21 में स्टूडेंट्स से ट्यूशन फीस नहीं लेनी चाहिए. हाल में किसी तरह की फीस न बढ़ाने के लिए भी कहा है. इसके साथ ही AICTE ने कहा कि बाकी फीस जमा करने के लिए स्टूडेंट्स के अभिभावकों को समय देना चाहिए.

    कुछ संस्थान फीस न लेने का फसला ले चुके हैं
    AICTE से पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने संस्थानों से फीस न बढ़ाने का आग्रह किया था. इस पर IIT, NIT और IIIT ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 में ट्यूशन फीस नहीं बढ़ाने का फैसला लिया था. एचआरडी मिनिस्टर के बाद अब AICTE की अपील पर तकनीकी कॉलेज भी छात्रों को राहत दे सकते हैं. हालांकि, काउंसिल ने यह भी साफ किया है कि तकनीकी कॉलेजों के छात्रों को फीस तो देनी होगी पर एक बार में नहीं.

    लॉकडाउन के चलते लिया निर्णय
    AICTE के चेयरमैन प्रो. अनिल डी सहस्रबुद्धे ने बताया कि तकनीकी कॉलेज प्रबंधन से ट्यूशन फीस न बढ़ाने की मांग का मकसद अभिभावकों को राहत दिलाने का काम करना है. क्योंकि पिछले 25 मार्च से देश में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन है. ऐसे में सभी प्रतिष्ठान बंद हैं. स्कूल कालेज के साथ ही शैक्षणिक संस्थान भी बंद हैं. ऐसे में लोगों की इनकम बंद हो गई है. AICTE का कहना है कि लोगों के पास इन दिनों खाने जीने के लिए पैसे कम पड़ रहे हैं. इसलिए लोग फीस नहीं दे सकते. इस आधार पर AICTE ने शैक्षणिक संस्थानों से ट्यूशन फीस न लेने की अपील की है.

    ये भी पढ़ें- रिसर्च में रखते हैं रुचि तो UGC और IIT कानपुर की इन फेलोशिप के लिए करें अप्लाई

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज