फानी तूफान के कारण एम्स ने निरस्त किया भुवनेश्वर परीक्षा केंद्र

फानी तूफान के कारण आल इंडिया इस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) ने शुक्रवार को भुवनेश्वर के परीक्षा केंद्र को निरस्त करने की घोषणा की. आपको बता दें कि यहां 5 मई (रविवार) को परीक्षा का आयोजन किया गया था.

News18Hindi
Updated: May 3, 2019, 9:12 PM IST
फानी तूफान के कारण एम्स ने निरस्त किया भुवनेश्वर परीक्षा केंद्र
फानी तूफान: एम्स ने निरस्त किया भुवनेश्वर परीक्षा केंद्र.
News18Hindi
Updated: May 3, 2019, 9:12 PM IST
फानी तूफान के कारण आल इंडिया इस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) ने शुक्रवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर के परीक्षा केंद्र को निरस्त करने की घोषणा की. आपको बता दें कि यहां 5 मई (रविवार) को परीक्षा का आयोजन किया गया था.

इस आशय की जानकारी प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो (पीआईबी) के महानिदेशक शितांशु कर ने ट्वीट करके दी. ओडिशा के परिवार कल्याण मंत्रालय की सचिव प्रीति सुडान ने शितांशु कर के ट्वीट को उद्धरित (कोट) करते हुए कहा कि इस परीक्षा केंद्र के निरस्त होने से प्रभावित विद्यार्थियों के लिए सामान्य स्थिति बहाल होते ही फिर से परीक्षा का आयोजन किया जाएगा.





फानी तूफान की वजह से ओडिशा के अनुमानित तौर पर 10,000 गांव और 52 शहर प्रभावित है. ऐसे में इलाके से करीब 11 लाख लोगों को हटा लिया गया और उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. इनके रहने के लिए 5000 शेल्टर होम तैयार किए गए हैं. फानी की वजह से 6 लोगों की मौत हो गई है, तेज़ हवाओं के कारण कई पेड़ उखड़ गए और गांव डूब गए.
Loading...

बता दें कि फानी 1999 में आए सुपर साइक्लोन के बाद अब तक का सबसे खतरनाक चक्रवात है. केंद्र सरकार ने फानी तूफान को देखते हुए 1000 करोड़ रुपये का एडवांस रिलीफ फंड जारी किया है. चक्रवात की वजह से ओडिशा के पुरी समेत कई इलाकों में 250 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं. तेज हवाओं के साथ बारिश भी हो रही है.

चक्रवात 'फानी' का असर उत्तर प्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड में भी दिखने लगा है. यूपी के चंदौली जिले में आंधी-पानी व आकाशीय बिजली से 4 लोगों की मौत हो गई, जबकि सोनभद्र जिले में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक किशोर की मौत हो गई. वहीं, उत्तराखंड में तेज हवाएं चल रही हैं. मौसम विभाग ने बारिश की भी संभावना जताई है.

फानी को देखते हुए 1 मई के ओडिशा की तरफ जाने वाली करीब 102 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और चार ट्रेनों के रूट बदले गए हैं. ओडिशा के भुवनेश्वर एयरपोर्ट को आधी रात और पश्चिम बंगाल के कोलकाता एयरपोर्ट को रात साढ़े नौ बजे से बंद कर दिया गया. भुवनेश्वर एयरपोर्ट 24 घंटे तक बंद रहेगा, जबकि कोलकाता एयरपोर्ट शुक्रवार शाम 6 बजे तक बंद रहेगा. इधर, वायुसेना, थलसेना और NDRF की टीमें अलर्ट पर हैं.

ये भी पढ़ें: 

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...