होम /न्यूज /करियर /Indians In Ukraine: यूक्रेन से MBBS करने वाले भारतीय अब क्या करेंगे? उनके काम आ सकते हैं ये ऑप्शन

Indians In Ukraine: यूक्रेन से MBBS करने वाले भारतीय अब क्या करेंगे? उनके काम आ सकते हैं ये ऑप्शन

Indians In Ukraine: अन्य देशों की यूनिवर्सिटी में मिल सकता है ट्रांसफर

Indians In Ukraine: अन्य देशों की यूनिवर्सिटी में मिल सकता है ट्रांसफर

Indians In Ukraine, Russia Ukraine War, Study MBBS Abroad: रशिया यूक्रेन युद्ध के बीच भारत वहां रह रहे अपने नागरिकों को ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली (Indians In Ukraine, Russia Ukraine War, Study MBBS Abroad). ज्यादातर बच्चे बड़े होकर डॉक्टर बनने का ख्वाब देखते हैं. डॉक्टर बनने के लिए एमबीबीएस की पढ़ाई करनी पड़ती है. भारत में एमबीबीएस (MBBS In India) की पढ़ाई काफी महंगी और कठिन मानी जाती है. इस वजह से अधिकांश छात्र यूक्रेन और रशिया जैसे देश जाकर मेडिकल की पढ़ाई करते हैं (MBBS In Ukraine). हालांकि मौजूदा हालात भारतीय छात्रों को रशिया यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War) के बीच देश वापस आने के लिए मजबूर कर रहे हैं.

रशिया यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War) खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ‘ऑपरेशन गंगा’ (Operation Ganga) के तहत भारतीय छात्रों को यूक्रेन से वापस लाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं. हालांकि कई लोगों और विशेषकर यूक्रेन में एमबीबीएस (MBBS In Ukraine) की पढ़ाई कर रहे छात्रों व उनके परिजनों के मन में भविष्य को लेकर काफी अनिश्चितता है. क्या वे कभी डॉक्टर बन पाएंगे? क्या वे वापस यूक्रेन जा पाएंगे? क्या उन्हें कोई डिग्री मिल पाएगी?

छात्रों के पास हैं ये विकल्प
यूक्रेन से एमबीबीएस (MBBS In Ukraine) कर रहे छात्र अभी बेशक भारत वापस आ रहे हैं लेकिन एमबीबीएस पूरा करने के लिए उनके पास कई विकल्प हैं. सभी को उनकी जानकारी होनी चाहिए.

1- अगर रशिया यूक्रेन युद्ध (Russia Ukriane War) थम जाता है तो दो-तीन महीने में छात्र वापस यूक्रेन जा सकते हैं. फिर वे अपनी पढ़ाई पूरी कर डिग्री हासिल कर सकेंगे (MBBS In Ukraine).

2- एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे छात्र उसी देश की अन्य यूनिवर्सिटी या किसी और देश के मेडिकल कॉलेज में ट्रांसफर ले सकते हैं (MBBS In Ukraine). हालांकि यह उस देश की मेडिकल एजुकेशन गाइडलाइंस पर भी निर्भर करेगा, जहां के संस्थान में वे ट्रांसफर लेना चाहते हैं.

3- भारत में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए नीट परीक्षा (NEET Exam) देना अनिवार्य है. लेकिन अगर मौजूदा परिस्थिति को अपवाद मानते हुए एनएमसी या मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) कोई छूट दे दे तो भारत के किसी मेडिकल संस्थान में इन छात्रों को ट्रांसफर मिल सकता है.

4- कनाडा, यूके, ऑस्ट्रेलिया के अलावा कई पश्चिमी देशों की मेडिकल यूनिवर्सिटी में ट्रांसफर मिल सकता है. हालांकि इन देशों में यूक्रेन की तुलना में पढ़ाई महंगी जरूर होगी. लेकिन कोर्स पूरा करने के बाद अच्छे अवसर भी हासिल हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें:
FMGE Exam: विदेश से मेडिकल की पढ़ाई करना चाहते हैं? कोर्स के बाद देना होगा ये कठिन टेस्ट
Indians In Ukraine: यूक्रेन से मेडिकल की पढ़ाई कर रहे छात्रों का क्या होगा? पढ़ें डिटेल रिपोर्ट

Tags: MBBS, Neet exam, Russia ukraine war, नीट परीक्षा

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें