जरूरी खबर: फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर कंफ्यूजन खत्म! HRD मंत्रालय ने उठाया ये कदम

जरूरी खबर: फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर कंफ्यूजन खत्म! HRD मंत्रालय ने उठाया ये कदम
एमएचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने हाल ही में जेईई मेन और नीट की परीक्षा टलने की जानकारी भी दी थी.

यूजीसी (UGC) ने हाल ही में फाइनल ईयर की परीक्षाओं (Final Year Exams) को लेकर नए दिशा-निर्देश (Guidelines) जारी किए थे.

  • Share this:
नागपुर. फाइनल ईयर एग्जाम (Final Year Exam) को लेकर लगातार बढ़ रहे असमंजस को खत्म करने का जिम्मा अब मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Human Resource Development Ministry) ने उठाया है. मंत्रालय ने इसके लिए एक स्टैंडर्ड आपरेटिंग प्रोसीजर यानी एसओपी (SOP) जारी किया है. इसके तहत एग्जाम के वक्त दो मीटर का डिस्टेंस बनाए रखना और बीच में एक सीट खाली छोड़ने जैसे उपाय भी बताए गए हैं. आइए जानते हैं, मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने फाइनल ईयर एग्जाम के लिए वो कौन सी बातें बताईं हैं, जिनका ध्यान रखे जाने की जरूरत है.

जानिए खास बातें
1. हर सत्र के बाद एग्जाम सेंटर को पूरी तरह सेनिटाइज किया जाएगा.
2. जिन स्टूडेंट्स को बुखार, खांसी और सर्दी जुकाम की समस्या है, उन्हें अलग से बैठाकर पेपर दिलाया जाएगा. या फिर उन्हें किसी अन्य दिन परीक्षा देने का विकल्प भी दिया जा सकेगा.
3. एग्जाम सेंटर में परीक्षार्थियों को फ्रेश मास्क पहनने को दिए जाएंगे.
4. एग्जाम सेंटर के प्रवेश और निकास मार्ग पर थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर और फेसमास्क के इंतजाम होंगे.



ये भी पढ़ेें
JAC 10th Result 2020 Live Updates: जारी हो गया 10वीं का परिणाम, 75.01% हुए पास
राजस्थान बोर्ड जारी नहीं करता टॉपर्स लिस्ट, ये है वजह


एडमिट कार्ड मान्य होगा
दरअसल, टाइम्स आफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, एसओपी में ये भी कहा गया है कि अगर कोई स्टूडेंट ऐसी जगह रहता है, जहां आवाजाही पर लिमिटेशन हैं तो ऐसे स्टूडेंट्स के लिए एडमिट कार्ड उनके वहां से बाहर निकलने का पास माना जाएगा. इसके अलावा एग्जाम सेंटर में चार लाइनों में परीक्षार्थियों को बैठाने की बात कही गई है और वो भी एक-एक सीट छोड़कर.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading