आंध्र प्रदेश बोर्ड ने स्कूल री-ओपन और सिलेबस कटौती पर अभिभावकों, छात्रों से मांगा सुझाव

आंध्र प्रदेश बोर्ड ने स्कूल री-ओपन और सिलेबस कटौती पर अभिभावकों, छात्रों से मांगा सुझाव
पेरेंट्स, टीचर्स और छात्रों से अपना फीडबैक bie.ap.gov.in पर शेयर करने की रिक्वेस्ट की गई है.

आंध्र प्रदेश बोर्ड अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर आए सुझावों का विश्लेषण करने के बाद उसी पर निर्णय लेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली.  बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन, (Board of Intermediate Education, BIE) आंध्रप्रदेश ने पेरेंट्स, टीचर्स और छात्रों से स्कूलों को खोलने और सिलेबस घटाने पर सुझाव मांगे हैं. इसमें नंबर ऑफ वर्किंग डेज और टीचिंग मेथड के बारे में भी पूछा गया है. बोर्ड के मुताबिक, सभी लोग अपने सुझाव जुलाई के आखिर तक दे देंगे. सभी सुझावों पर विचार करने के बाद, बोर्ड फैसला करेगा.

बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन, आंध्रप्रदेश ने स्टेटमेंट भी जारी किया है. स्टेटमेंट में बोर्ड ने कहा है, जूनियर कॉलेज री-ओपनिंग, सिलेबस में कटौती, वर्किंग डेज में कमी और टीचिंग मेथड के बारे में सभी स्टेकहोल्डर्स से फीडबैक लिया जा रहा है.





पेरेंट्स, टीचर्स और छात्रों से अपना फीडबैक bie.ap.gov.in पर शेयर करने की रिक्वेस्ट की गई है. आंध्र बोर्ड हर साल इंटरमीडिएट और उच्चतर माध्यमिक (Higher Secondary) परीक्षा आयोजित करता है. फीडबैक सबमिट करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2020 शाम 5 बजे तक है.
शिक्षा मंत्रालय ने हाल ही में कक्षाओं के मुद्दे पर अभिभावकों की प्रतिक्रिया मांगी थी. स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा भेजे गए एक सर्कुलर में इस मुद्दे पर माता-पिता से सुझाव मांगे गए थे.

ये भी पढ़ें
बड़ी खबरः सितंबर में खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने कही ये बात
सितंबर में हो सकती है दिल्ली यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा, जानें पूरी डिटेल

हाल ही में CBSE बोर्ड ने अपने सिलेबस में 30 प्रतिशत की कमी की है. क्योंकि स्कूल मार्च 2020 से बंद हैं. तब से ऑनलाइन कक्षाएं संचालित हैं. लेकिन फिर भी पाठ्यक्रम को कवर करना संभव नहीं होगा, जैसा पहले हुआ करता था. इसलिए बोर्ड ने इसे कम करने का फैसला किया. अब आंध्र प्रदेश बोर्ड अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर आए सुझावों का विश्लेषण करने के बाद उसी पर निर्णय लेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading