Career Option: कॉमर्स स्ट्रीम का यह प्रोफेशनल कोर्स आपको बना सकता है भविष्य का CFO

इस कोर्स के बाद आप फाइनेंसियल सर्विसेज फर्म्स, इन्वेस्टमेंट बैंक्स, प्राइवेट इक्वलिटी फर्म्स, इंश्योरेंस कंपनीज, कमर्शियल बैंक्स और अन्य कंपनियों से जुड़कर बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं.

इस कोर्स के बाद आप फाइनेंसियल सर्विसेज फर्म्स, इन्वेस्टमेंट बैंक्स, प्राइवेट इक्वलिटी फर्म्स, इंश्योरेंस कंपनीज, कमर्शियल बैंक्स और अन्य कंपनियों से जुड़कर बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं.

इस कोर्स के बाद आप फाइनेंसियल सर्विसेज फर्म्स, इन्वेस्टमेंट बैंक्स, प्राइवेट इक्वलिटी फर्म्स, इंश्योरेंस कंपनीज, कमर्शियल बैंक्स और अन्य कंपनियों से जुड़कर बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. हमारे देश में कैरियर (Career) के लिहाज से मेडिकल और इंजीनियरिंग के बाद कॉमर्स (Commerce) कोर्सेज का नंबर आता है. मौजूदा हालातों में बिज़नेस (Business) और अर्थव्यवस्था (Economy) की बात करें तो अब कॉमर्स स्ट्रीम के प्रोफेशनल्स (Professionals) की जबरदस्त डिमांड है. ऐसे में इस स्ट्रीम में एक कोर्स उभरकर सामने आया है जो आपको भविष्य (Future) का CFO (चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर) बना सकता है. इस कोर्स का नाम है-'बीकॉम प्रोफेशनल एकाउंटिंग' (B.Com Professional Accounting). चलिए इस कोर्स के बारे में विस्तार से जानते हैं.

CFO संभाल रहे CEO की कमान:

करीब दो दशक पहले की बात करें तो ज्यादातर कंपनियों की कमान CEO के हाथों में हुआ करती थी. ज्यादातर CEO सेल्स या मार्केटिंग (Marketing) क्षेत्र से आते थे. जबकि CFO को दूसरे स्थान के लिए उपयुक्त समझा जाता था. लेकिन अब स्थितियां बदल गई हैं. अब ज्यादातर कंपनियां (Companies) चाहती हैं कि CFO ही CEO की जिम्मेदारी भी संभाले. साथ ही CFO और उनकी टीम से यह अपेक्षा भी की जाती है कि वे बिज़नेस एनवॉयरमेंट का 360 डिग्री नजरिया उपलब्ध कराएं. अब CFO बिज़नेस के स्ट्रेटेजिक पर्सपेक्टिव, इंडस्ट्री (Industry) और इकोनॉमी के लिहाज से ऑपरेशन्स, मार्केटिंग और ओवरऑल मैनेजमेंट (Management) में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं.

ताज्जुब की बात है कि कॉमर्स के ज्यादातर अंडर ग्रेजुएट कोर्स एकाउंट्स में आए इन आदर्श बदलावों को नहीं अपना रहे हैं. करिकुलम और सब्जेक्ट मैटर बिना बदलाव के वैसे ही हैं या फिर रिसर्च बेस्ड प्रोफेशनल एडुकेशन के अभाव में उनका दायरा बहुत सीमित है. फिर भी कुछ कोर्स ऐसे भी हैं जो परंपरागत और नई, इंडस्ट्री और एकेडेमिया का संपूर्ण मिश्रण हैं. B.Com Professional Accounting कोर्स एक ऐसा ही विकल्प है.
आप क्या पढ़ेंगे:

बीकॉम प्रोफेशनल एकाउंटिंग में आप समय की मांग और इंडस्ट्री के बदलते स्वरूप की ताल के साथ ताल मिलाने के लिए तैयार होंगे. इस कोर्स में आप एकाउंटिंग के आधार, क्वांटिटेटिव मेथड, इकॉनोमिक्स, फाइनेंस, कंप्यूटिंग और डाटा एनालिसिस सीखेंगे. छात्र इस कोर्स के पार्ट के रूप में मैनेजमेंट, फाइनेंस और एनालिटिक्स के स्पेशलाइजेशन के लिए भी जा सकते हैं. साथ ही वे इस कोर्स के जरिये ICAI के फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल लेवल के लिए भी अपने आप को तैयार कर सकते हैं.

कहाँ से कर सकते हैं कोर्स:



भारत और अन्य देशों की कई यूनिवर्सिटीज ये कोर्स ऑफर कर रही हैं. इनमें चिन्मया विश्वविद्यापीठ, शिव नादर यूनिवर्सिटी, जय हिंद कॉलेज, मीठीबाई कॉलेज ऑफ आर्ट्स, कॉलिंगा यूनिवर्सिटी आदि शामिल हैं.

बेस्ट कोर्स का चुनाव कैसे करें:

किसी भी कोर्स का चुनाव करते समय 3 बातों पर खास ध्यान दें:

कोर्स कंटेंट की क्वालिटी, फैकल्टी की क्वालिटी और इंफ्रास्ट्रक्चर की क्वालिटी.

ये भी पढ़ें-

AIIMS BSc(H) नर्सिंग परीक्षा एक बार पोस्‍टपोन, जानें क्‍या है एग्‍जाम का नया शेड्यूल

ONGC में इन पदों पर निकली भर्तियां, सिर्फ 6 जून तक आवेदन

कोर्स के बाद कैरियर के विकल्प:

इस कोर्स के बाद आप फाइनेंसियल सर्विसेज फर्म्स, इन्वेस्टमेंट बैंक्स, प्राइवेट इक्वलिटी फर्म्स, इंश्योरेंस कंपनीज, कमर्शियल बैंक्स और अन्य कंपनियों से जुड़कर बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज