Global city rankings: स्‍टूडेंट्स की पहली पसंद लंदन, दिल्‍ली 113वें स्थान पर

Global city rankings: भारत में स्‍टूडेंट्स की पढ़ाई के लिए पहली पसंद बेंगलुरु है और दिल्‍ली को दुनिया में 113वां स्‍थान मिला.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 11:55 AM IST
Global city rankings: स्‍टूडेंट्स की पहली पसंद लंदन, दिल्‍ली 113वें स्थान पर
Student Global city rankings: स्‍टूडेंट्स की पसंद लंदन, दिल्‍ली 113वें स्थान पर
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 11:55 AM IST
Global city rankings: लंदन ने एक बार फिर बाजी मार ली है. ब्रिटेन की राजधानी लंदन ने दुनिया भर में छात्रों के लिए लगातार दूसरे साल सर्वश्रेष्ठ शहर का खिताब हासिल किया है. वहीं भारत में दिल्‍ली ने 113वें स्‍थान पर जगह बनाई हैं. यह रैकिंग वैश्विक शिक्षा कंसलटेंसी ‘क्यूएस क्वाक्यूरेली सायमंडस ने क्यूएस बेस्ट स्टूडेंट सिटीज रैंकिंग तैयार की है, जिसमें हर शहर के प्रदर्शन को छह कैटगरी में रखा गया है. इन कैटेगिरी में शहर में यूनिवर्सिटी की संख्‍या, जीवन की गुणवत्ता, ग्रेजुएशन के बाद नौकरी के उपलब्ध अवसर और छात्रों की खुद की प्रतिक्रिया को शामिल किया है. इसके आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की गई है.

इस लिस्‍ट में भारत में छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ शहर है बेंगलुरु है. बेंगलुरु इस लिस्‍ट में 81 वें पायदान पर है. इसके बाद मुंबई (85),दिल्ली (113) और चेन्नई (115) का स्थान आता है.  हालांकि अगर बेंगलुरु की बात करें तो उसे ये रैंकिग इंडियन इंस्‍ट्टीयूट ऑफ साइंस और इंडियन इंस्‍ट्टीयूट ऑफमैनेजमेंट के कारण भी मिली है.



वहीं इस बारे में जानकारी देते हुए पाकिस्तानी मूल के लंदन के मेयर सादिक खान ने कहा, लंदन को फिर से दुनिया में सबसे अच्छे शहर का दर्जा दिया गया है. यह छात्रों के लिए अच्छी खबर है. यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि लंदन में दुनिया के लीडिंग टॉप लेवल के संस्थान हैं. वहीं क्यूएस ने ये स्‍पष्‍ट किया है कि लंदन की ये रैंकिग शहर में मौजूद टॉप यूनिवर्सिटी की अधिक संख्या, छात्र विविधता के उच्च स्तर और वैश्विक छात्र निकाय द्वारा आयोजित किए जाने वाले संबंध के कारण लंदन दुनिया का टॉप शहर बना हुआ है.

तोक्यो दूसरे स्थान पर

इस सूची में लंदन के बाद जापान का तोक्यो दूसरे और ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न तीसरे स्थान पर काबिज है. बता दें कि लंदन में पढ़ाई के लिए भारत से आने वाले छात्रों की संख्या में 2017-2018 में 20 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई थी. 2016-2017 में छात्रों की संख्या 4545 थी जो 2017-2018 में बढ़ कर 5455 हो गई है.

ये भी पढ़ें:
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 11:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...