Career Options : साइबर सिक्योरिटी में करियर बनाने के लिए करें ये कोर्स, मिलेंगी लाखों रुपये सैलरी वाली जॉब

साइबर सिक्योरिटी के फील्ड में जाने के लिए 12वीं के बाद पांच वर्षीय बीटेक एलएलबी कोर्स कर सकते हैं.

साइबर सिक्योरिटी के फील्ड में जाने के लिए 12वीं के बाद पांच वर्षीय बीटेक एलएलबी कोर्स कर सकते हैं.

Career Options : साइबर सिक्योरिटी करियर के नजरिए से एक उभरता हुआ फील्ड है. नेटवर्क सिक्योरिटी इंजीनियर से लेकर एनालिस्ट और साइबर लॉयर की मांग भी तेजी से बढ़ी है. इस फील्ड में करियर बनाकर लाखों कमाया जा सकता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कंप्यूटर-इंटरनेट और डिजिटलाइजेशन बढ़ने के साथ साइबर क्राइम के खतरे भी बढ़े हैं. तरह-तरह के ऑनलाइन क्राइम ने साइबर सिक्योरिटी की चिंता बढ़ा दी है. साइबर क्राइम रोकने के लिए सभी देशों ने अलग-अलग कानून बनाया है. हैकिंग और ब्लैकमेलिंग, स्टॉकिंग, कॉपीराइट, क्रेडिट कार्ड चोरी, फ्रॉड, पोर्नोग्राफी जैसे इंटरनेट के माध्यम से किए जाने वाले सभी अपराधों की शिकायतें दर्ज दर्ज करने के लिए स्पेशल पुलिस स्टेशन भी खोले जा रहे हैं. जिसके कारण इस फील्ड में साइबर सिक्योरिटी और साइबर लॉ जानने वाले पेशेवरों की मांग बढ़ गई है.

ऐसे ली जा सकती है साइबर सिक्योरिटी के फील्ड में एंट्री

साइबर सिक्योरिटी के फील्ड में आप भी करियर बनाना चाहते हैं तो साइंस से 12वीं पास करने के बाद कंप्यूटर साइंस में बीटेक/एमटेक जैसे कोर्स कर सकते हैं. इसके अलावा 10 महीने से एक साल तक के साइबर सिक्योरिटी में डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं. और भी कम अवधि के कोर्स करना चाहते हैं तो सर्टिफिकेट कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं. इसी तरह साइबर लॉ के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो इस फील्ड के लिए भी कई यूजी, पीजी, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स हैं.

साइबर लॉ के लिए कोर्स
बीटेक एलएलबी- 05 साल का कोर्स

बीए एलएलबी साइबर लॉ स्पेशलाइजेशन- 05 साल का कोर्स है

साइबर लॉ में एलएलएम- 01 साल का कोर्स है



मास्टर ऑफ साइबर लॉ- 02 साल का कोर्स है

एमटेक इन साइबर लॉ- दो साल का कोर्स है

डिप्लोमा इन साइबर लॉ- 01 साल का कोर्स

पीजी डिप्लोमा इन साइबर लॉ- एक साल का कोर्स

साइबर सिक्योरिटी के फील्ड में नौकरियां

नेटवर्क सिक्योरिटी इंजीनियर- एक नेटवर्क सिक्योरिटी इंजीनियर सुनिश्चित करता है कि सभी सिक्योरिटी सिस्टम के जरिए ऑनलाइन खतरों का मुकाबला पूरी मुस्तैदी से किया जा सके. इसके लिए वह फायरवाल मेंटेन करता है. राउटर और नेटवर्क मॉनिटरिंग टूल्स की जांच करता है. ऑटोमेशन को इंप्रूव करता है.

सैलरी- शुरआत में 06 लाख रुपये प्रति वर्ष तक मिल सकती है. अनुभव और योग्यता के आधार पर यह सैलरी एक लाख रुपये प्रति माह से भी अधिक हो सकती है.

सिक्योरिटी एनालिस्ट- एक सिक्योरिटी एनालिस्ट सुरक्षा साइबर सुरक्षा के जरूरी उपायों की योजना, उनके कार्यान्वयन और अपग्रेडिंग की योजना बनाने में मदद करता है. सिक्योरिटी एक्ससे का ऑडिट और मॉनिटरिंग करता है. समस्याओं का पता लगाने के लिए स्टेट कंडक्ट करता है.

सैलरी- इस पद पर भी शुरुआत में सैलरी 06 लाख रुपये प्रति वर्ष तक मिल सकती है. अनुभव और योग्यता के आधार पर यह सैलरी एक लाख रुपये प्रति माह से भी अधिक हो सकती है.

साइबर लॉयर- साइबर लॉ एक उभरता हुआ फील्ड है. यदि आप कानून और कंप्यूटर, दोनों को लेकर पैशनेट हैं तो यह बेहतरीन फील्ड है. साइबर लॉयर तकनीकी जानकारी रखने वाला लॉयर होता है. इसे टेक्नो-लीगल लॉयर कहते हैं. उसे कंप्यूटर, नेटवर्क्स, कम्युनिकेशन, डिवाइस आदि के तकनीकी पहलुओं के साथ इनसे संबंधित कानूनी जानकारी रखता है.

सैलरी- एक साइबर लॉयर शुरुआत में आम लॉयर की तरह सालाना चार लाख रुपये कमा सकता है. लेकिन अनुभवी होने के बाद यह आय सालाना 12 लाख रुपये से भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें- 

CG 10th Board Result 2021:10वीं बोर्ड परीक्षा 2021 के नतीजे जल्द, जानें लेटेस्ट अपडेट्स

Sarkari Naukri : सीनियर मैनेजर सहित कई पदों पर नौकरियां, आवेदन की तिथि नजदीक

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज