सावधान रहें छात्र, सोशल मीडिया पर फर्जी पेज बनाकर उड़ाई जा रही है अफवाहें, इस संस्थान ने किया आगाह

सावधान रहें छात्र, सोशल मीडिया पर फर्जी पेज बनाकर उड़ाई जा रही है अफवाहें, इस संस्थान ने किया आगाह
फेक मैसेज के जरिये अफवाहें उड़ाई जा रहीं हैं.

इंस्टीट्यूट ने छात्रों से आधिकारिक सोशल मीडिया पेज की जानकारियों पर ही भरोसा करने को कहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. सोशल मीडिया (Social Media) पर फेक मैसेज (Fake Message) का सिलसिला नई बात नहीं है. बाकी क्षेत्रों की तरह शिक्षा क्षेत्र में भी इसका दखल लगातार बढ़ता जा रहा है. हाल ही में नीट के एग्जाम की तैयारियों में जुटे छात्रों को इससे सावधान रहने को कहा गया था तो अब इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India) के छात्रों को भी फेक मैसेज के इस जाल से सतर्क रहने को कह दिया गया है. इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया यानी आईसीएआई (ICAI) ने तो इसे लेकर एक सर्कुलर तक जारी कर दिया है.

आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया गया सर्कुलर
दरअसल, इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India) द्वारा जारी किए गए सर्कुलर में संस्थान के सदस्यों और छात्रों को आगाह किया गया है कि वे सोशल मीडिया पर बनाए गए संस्थान के फर्जी पेज से सावधान रहें, जिससे फर्जी मैसेज (Fake Message) के जरिये अफवाहें उड़ाई जा रहीं हैं. ये सर्कुलर इंस्टीट्यूट की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया गया है.

फर्जी पेज के बारे में तुरंत दें जानकारी



सर्कुलर में कहा गया है कि संस्थान के सदस्य और छात्र केवल इंस्टीट्यूट के आधिकारिक सोशल मीडिया पेज की सूचनाओं पर ही भरोसा करें. इंस्टीट्यूट ने छात्रों से ये भी कहा है कि अगर उन्हें संस्थान के ऐसे किसी भी फर्जी सोशल मीडिया पेज की जानकारी मिलती है तो तुरंत उसके बारे में संबंधित विभाग को सूचित करें.



तुरंत बंद कर दें ऐसे अकाउंट्स
इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India) के सर्कुलर के अनुसार, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फर्जी मैसेज और आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट करना कानून का उल्लंघन है. आईसीएआई इस तरह के फर्जी अकाउंट को संचालित करने वाले लोगों को चेतावनी दे रहा है कि वो तुरंत इन अकाउंट्स को बंद कर दें जो गैरकानूनी हैं. ऐसा नहीं किए जाने पर आईसीएआई के पास सभी तरह के कानूनी उपाय किए जाने के अधिकार हैं.

IAS Interview: तलाक होने का असली कारण क्या होता है? आपको पता है सही जवाब

250 रुपये की दिहाड़ी मजदूरी करने वाला ऐसे बना IAS, इसकी कहानी सुनकर चौंक जाएगे
First published: May 16, 2020, 8:00 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading