MP में ग्रेजुएशन के 1st-2nd ईयर के छात्रों के लिए ओपन बुक एग्जाम, देखें नया टाइमटेबल

बैठक के बाद प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने परीक्षाओं की नई तारीखों के बारे में जानकारी दी

बैठक के बाद प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने परीक्षाओं की नई तारीखों के बारे में जानकारी दी

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव (Mohan Yadav) ने शनिवार को हुई बैठक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अप्रैल के महीने में जो भी परीक्षाएं आयोजित की जानी थीं उन्हें अब मई में शुरू किया जाएगा. स्नातक (Graduation) अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर (Post Graduation) चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं छात्रों को भौतिक (फिजिकल) रूप से परीक्षा केंद्रों में उपस्थित होकर ही देनी होंगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 11:20 AM IST
  • Share this:
भोपाल. कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के बीच मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग (MP Higher Education Department) ने छात्रों के लिए परीक्षा का नया टाइमटेबल (Time Table) जारी किया है. शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) की अध्यक्षता में हुई उच्च शिक्षा विभाग की बैठक में परीक्षा (Exam) कराने को लेकर महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है. बैठक के बारे में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि अप्रैल के महीने में जो भी परीक्षाएं आयोजित की जानी थीं उन्हें अब मई में शुरू किया जाएगा. स्नातक (Graduation) अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर (Post Graduation) चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं छात्रों को भौतिक (फिजिकल) रूप से परीक्षा केंद्रों में उपस्थित होकर ही देनी होंगी.

यह परीक्षाएं मई के महीने में आयोजित की जाएंगी. हालांकि सरकार ने छात्रों की परेशानी को देखते हुए यह तय किया है कि जिन छात्रों को भौतिक रूप से परीक्षा देने केंद्रों पर आना होगा उनके लिए विशेष रूप से परीक्षा के दौरान हॉस्टल की व्यवस्था की जाएगी जिससे उन्हें परीक्षा देने में परेशानी ना हो.

उच्च शिक्षा विभाग की बैठक में क्या तय हुआ?

स्नातक अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं परीक्षार्थियों को भौतिक रूप से परीक्षा केंद्रों पर जाकर देनी होगी. स्नातक अंतिम वर्ष के 4.3 लाख और स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के 1.72 लाख परीक्षार्थी प्रदेश के आठ विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित परीक्षाओं में शामिल होंगे.
स्नातक प्रथम और द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति से जून के महीने में आयोजित की जाएंगी. इसमें परीक्षार्थी द्वारा अपने घर पर ही रहकर परीक्षा देने की व्यवस्था रहेगी और पास के संग्रहण केंद्र में उत्तर पुस्तिका जमा कर सकेंगे.

स्नातक प्रथम वर्ष में 5.3 लाख, स्नातक द्वितीय वर्ष में 5.25 लाख, स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर में 1.35 लाख परीक्षार्थी प्रदेश के आठों विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित परीक्षाओं में शामिल होंगे. वर्तमान में आठ सरकारी विश्वविद्यालयों में 665 परीक्षा केंद्र के साथ आवश्यकता अनुसार अतिरिक्त सह-परीक्षा केंद्र बनाए जाने के लिए विश्वविद्यालयों को निर्देशित किया गया है.

परीक्षा केंद्रों में परीक्षार्थियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ बैठक होगी.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज