अपना शहर चुनें

States

भोपाल में खुलेगी विप्रो यूनिवर्सिटी और सॉफ्टवेयर डेलपमेंट सेंटर, CM और अज़ीम प्रेमजी के बीच हुई बात 

यूनिवर्सिटी का काम डेढ़ साल में पूरा हो जाएगा.
यूनिवर्सिटी का काम डेढ़ साल में पूरा हो जाएगा.

BHOPAL : फिलहाल मध्यप्रदेश के पांच जिलों में 1151 प्राथमिक और मिडिल स्कूलों में अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन काम कर रहा है.

  • Share this:
भोपाल.भोपाल (Bhopal) में विप्रो यूनिवर्सिटी (Wipro University) खुलेगी.अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ये यूनिवर्सिटी खोलेगा और मध्य प्रदेश सरकार उसकी मदद करेगी.शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और विप्रो के प्रमुख अजीम प्रेमजी के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई. सीएम शिवराज सिंह ने कहा मध्यप्रदेश में अजीम प्रेम जी फाउंडेशन द्वारा विश्वविद्यालय स्थापना के लिए की गई पहल सराहनीय है. इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार फाउंडेशन को हर संभव सहयोग करेगी.

इसके साथ ही विप्रो समूह ने भोपाल में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना के लिए भी सहमति दी है. मुख्यमंत्री ने अज़ीम प्रेमजी से शिक्षा योजनाओं, नई शिक्षा नीति के अमल में सहयोगी बनने, बाल भवन में आदर्श आंगनवाड़ी की स्थापना और प्रदेश में कुपोषण उन्मूलन में सहयोग पर चर्चा की. वीडियो कॉन्फ्रेंस में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी, संचालक जनसंपर्क आशुतोष प्रताप सिंह भी थे.

सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सेंटर बनेगा
वीडियो कान्फ्रेंस में भोपाल में विप्रो के सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना के संबंध में भी चर्चा हुई. अजीम प्रेमजी ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे इस सेंटर की स्थापना के लिए सहमत हैं. इस संबंध में सभी जरूरी काम शुरू किए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने बताया कि मध्यप्रदेश में कौशल विकास और उसके माध्यम से युवाओं को अधिकाधिक रोजगार देने का काम हो रहा है. आईटी क्षेत्र में भी युवाओं को अधिक अवसर मिलें, इस दृष्टि से ऐसे डेवलपमेंट सेंटर की उपयोगिता रहेगी.
डेढ़ साल में यूनिवर्सिटी होगी तैयार 


भोपाल में अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के यूनिवर्सिटी के लिए 50 एकड़ ज़मीन एलॉट की गयी है. इसका पहला चरण जल्द शुरू होगा. टारगेट के मुताबिक अगले 18 महीने में विश्वविद्यालय शुरू हो जाएगा. VC के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रेमजी को आश्वस्त किया कि विश्वविद्यालय की स्थापना से जुड़े सभी काम समय पर पूरे किए जाएंगे. भोपाल में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में यह विश्वविद्यालय एक महत्वपूर्ण संस्था के रूप में उभरेगा.

प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग
फिलहाल मध्यप्रदेश के पांच जिलों में 1151 प्राथमिक और मिडिल स्कूलों में अजीम प्रेमजी फाउंडेशन काम कर रहा है. इसका अन्य जिलों में भी विस्तार किया जाएगा. भोपाल स्थित जवाहर बाल भवन में आदर्श आंगनवाड़ी की स्थापना और प्री-प्रायमरी शिक्षा के लिए राज्य स्तरीय रिसर्च सेंटर के विकास के लिए भी प्रयास होंगे. अभी फाउंडेशन अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन के क्षेत्र में भी काम कर रहा है. फाउंडेशन, कुपोषण खत्म करने और पोषण के प्रति जागरूकता के लिए भी मध्य प्रदेश में काम करेगा.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज