दिल्ली के स्कूलों पर आई बड़ी अपडेट, हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

दिल्ली के स्कूलों पर आई बड़ी अपडेट, हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब
स्कूलों की फीस वृद्धि को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने शुक्रवार को प्राइवेट स्कूलों में फीस (Private School Fees in Delhi) बढ़ाने से संबंधित मिली किसी भी अनुमति को शिक्षा निदेशालय (Directorate of Education) की वेबसाइट पर अपलोड करने को कहा है. इस संबंध में दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका (Petition in Delhi High Court) डाली गई थी. इस संबंध में एक गैर-सरकारी संगठन (NGO) द्वारा जनहित याचिका (PIL regarding Fees in Private Schools in Delhi) डाली गई थी. मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल (Justice D N Patel) की अध्यक्षता वाली बेंच ने एक नोटिस जारी करके जवाब मांगा है.

कुछ स्कूलों ने बढ़ा ली है फीस
याचिका में कहा गया है कि पैरेंट्स को इस बात की जानकारी नहीं है कि शिक्षा निदेशालय ने फीस बढ़ोत्तरी की अनुमति दी है या नहीं. ऐसे में कुछ प्राइवेट स्कूलों ने इस बात का गलत फायदा उठाते हुए पैरेंट्स से ज्यादा फीस चार्ज की है. एनजीओ ने याचिका में कहा है कि सरकार द्वारा सस्ते में दी गई जमीनों पर बने गैर सहायता प्राप्त सरकारी स्कूलों की फीस वृद्धि का प्रस्ताव शिक्षा निदेशालय को ऑनलाइन भेजा गया था. लेकिन आदेश की प्रति वेबसाइट पर अपलोड नहीं गई ऐसे में पैरेंट्स के पास सूचना नहीं है कि शिक्षा निदेशालय ने क्या आदेश दिया है.

पैरेंट्स को होती है दिक्कत
ऐसा कहा गया है कि पब्लिक डोमेन में कोई सूचना न होने कारण पैरेंट्स के पास कोई सोर्स नहीं होता कि वे इसे वेरिफाई कर पाएं कि फीस बढ़ाई गई है या नहीं. इस याचिका में हाईकोर्ट से अपील की गई है कि वह शिक्षा निदेशालय को निर्देश दे कि आदेश की कॉपी को वेबसाइट पर अपलोड करे ताकि पैरेंट्स को सही जानकारी मिल सके.



प्राइवेट स्कूलों की फीस पर मोटी रकम खर्च करते हैं भारतीय
बता दें कि हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय प्राइवेट स्कूलों पर मोटी रकम खर्च करते हैं. प्राइवेट स्कूल्स आफ इंडिया सेक्टर रिपोर्ट (Private Schools of India Sector Report) के अनुसार निजी स्कूलों पर भारतीय करीब 1.75 लाख करोड़ रुपये खर्च करते हैं. यहां तक कि देश में पढ़ने वाले कुल बच्चों में से 50 प्रतिशत निजी स्कूलों में पढ़ाई करते हैं.

ये भी पढ़ेंः
DSSSB Result 2020: असिस्‍टेंट टीचर का परिणाम dsssb.delhi.gov.in पर घोष‍ित
पहली बार:3 सगी बहनें, तीनों IAS के लिए चयनित, तीनों बनीं हरियाणा की मुख्य सचिव


निजी स्कूल बनाम सरकारी स्कूल
भारत में अलग-अलग स्कूलों में कुल 24 करोड़ 71 लाख 27 हजार 331 स्टूडेंट्स हैं. इन 24 करोड़ में से 8 करोड़ 73 लाख 82 हजार 784 स्टूडेंट्स निजी गैरसहायता प्राप्त स्कूलों में पंजीकृत हैं. वहीं 2.79 करोड़ स्टूडेंट्स एडेड स्कूलों में पंजीकृत हैं. यही आंकड़ा भारत के प्राइवेट स्कूल सेक्टर को दुनिया का तीसरा बड़ा स्कूल सिस्टम बनाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading