Home /News /career /

Bihar Board Matric Result 2020: पांचवीं पास मां का बेटा हिमांशु बना बिहार टॉपर, पिता के साथ सब्जी भी बेची

Bihar Board Matric Result 2020: पांचवीं पास मां का बेटा हिमांशु बना बिहार टॉपर, पिता के साथ सब्जी भी बेची

हिमांशु ने बिहार की दसवीं कक्षा की परीक्षा में टॉप किया है.

हिमांशु ने बिहार की दसवीं कक्षा की परीक्षा में टॉप किया है.

बिहार बोर्ट टॉपर हिमांशु राज (Bihar Board Topper Himanshu Raj) कहते हैं कि कई बार वो अपने पिता के साथ सब्जी बेचने बाजार जाता था. अब वो चाहता है कि कुछ बन कर परिवार की मदद कर सके. उसने बताया कि सेल्फ स्टडी के अलावा उसने कोचिंग भी की. पिता भी ट्यूशन पढ़ाते हैं तो उनका भी मार्गदर्शन उसे मिलता रहा

अधिक पढ़ें ...
    पटना/रोहतास. बिहार बोर्ड के दसवीं के नतीजे (Bihar Board Matric Result) घोषित हो गए हैं. इसमें रोहतास के जनता हाईस्‍कूल के छात्र ह‍िमांशु राज (Himanshu Raj) ने 96.20 प्रतिशत अंक (500 में 481 अंक) लाकर टॉप किया है. जबकि समस्तीपुर के दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) 480 नंबर लाकर सेकेंड टॉपर बने हैं. भोजपुर के शुभम कुमार (Shubham Kumar) ने 478 नंबर लाकर तीसरा स्थान हासिल किया है. बता दें कि 478 नंबर लाने वाले दो और स्टूडेंट हैं. इनमें से एक औरंगाबाद के राजवीर और दूसरी अरवल की जूली कुमारी हैं. न्यूज़ 18 ने बोर्ड परीक्षा में अव्वल आने वाले हिमांशु राज से बात की तो उन्होंने बताया कि उनके पिता के कठिन परिश्रम और मेरे संकल्प के कारण जीवन में सफलता का यह क्षण आया है.

    हिमांशु ने बताया कि वो साइंस स्ट्रीम के साथ आगे की पढ़ाई करेंगे और एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं. हिमांशु ने बताया कि वो करीब 12 से 14 घंटे रोज पढ़ाई करते थे जिसके बाद उन्हें यह सफलता मिली है. हिमांशु के स्कूल के प्रिंसिपल उपेंद्र नाथ ने बताया कि ग्रामीण परिवेश से आने वाला हिमांशु  बचपन से मेधावी है. हम सब उसकी सफलता से बेहद खुश हैं. वहीं हिमांशु के पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में बताते हैं कि उसकी बहन ने भी मैट्रिक की परीक्षा में 88 प्रतिशत अंक लाया था.

    हिमांशु राज के पिता सुभाष सिंह ग्रेजुएट हैं और माता मंजू देवी पांचवीं पास हैं. पिछड़ी कुशवाहा जाति से आने वाले हिमांशु के पिता की एक-आधा बीघे की खेती है. वो ग्रामीण स्तर पर ट्यूशन पढ़ाते हैं और सब्जी उगाकर उसे बेचते भी हैं.

    इसी खपरैल विद्यालय में पढ़कर स्टेट टॉपर बना है हिमांशु राज


    'कई बार पिता के साथ सब्जी बेचने जाता था'

    हिमांशु ने न्यूज़ 18 से कहा कि उसके पिता काफी संघर्ष कर उसे पढ़ा-लिखा रहे हैं. दरअसल उनकी कोई खास जमीन नहीं है. लोगों से खेत बटाई पर लेकर वो खेती करते हैं. यही वजह रही कि कई बार आर्थ‍िक परेशानी भी हुई लेकिन पढ़ाई फिर भी जारी रही. हिमांशु कहते हैं कि कई बार वो अपने पिता के साथ सब्जी बेचने बाजार जाता था. अब वो चाहता है कि कुछ बन कर परिवार की मदद कर सके. हिमांशु ने बताया कि उसका वेरिफिकेशन किया गया था, लेकिन टॉपर होने की बात का अंदाजा नहीं था. उसने बताया कि सेल्फ स्टडी के अलावा उसने कोचिंग भी की. पिता भी ट्यूशन पढ़ाते हैं तो उनका भी मार्गदर्शन उसे मिलता रहा.

    हिमांशु के पिता सुभाष सिंह ने कहा कि यह सपने के सच होने जैसा है. गुरबत (गरीबी) में भी मेरे लाल ने सपना पूरा किया इसके लिए भगवान का बहुत धन्यवाद. उन्होंने कहा कि बेटे की प्रतिभा को देखते हुए उनकी कोशिश होती थी कि वो डिस्टर्ब न हो. पूरे परिवार ने उसका सपोर्ट किया और बेटे ने आज सपना पूरा कर दिखाया.

    बिहार बोर्ड के 10 टॉपर स्टूडेंट

    हिमांशु राज, कुल नंबर (481) - रोहतास
    दुर्गेश कुमार, कुल नंबर (480) - समस्तीपुर
    शुभम कुमार, कुल नंबर (478) - भोजपुर
    राजवीर, कुल नंबर (478) - औरंगाबाद
    जूली कुमारी, कुल नंबर (478) - अरवल
    सन्नू कुमार, कुल नंबर (477) - लखीसराय
    मुन्ना कुमार, कुल नंबर (477) - औरंगाबाद
    नवनीत कुमार, कुल नंबर (477) - औरंगाबाद
    रंजीत कुमार गुप्ता, कुल नंबर (476) - रोहतास
    अंकित राज, कुल नंबर (475) - अररिया

    Tags: Bihar News, Bseb, BSEB EXAM, Inter and matric copies, PATNA NEWS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर