Bihar Board Matric Result 2020: 10वीं पास कर लिया है तो 11वीं में सही स्ट्रीम का चुनते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

Bihar Board Matric Result 2020: 10वीं पास कर लिया है तो 11वीं में सही स्ट्रीम का चुनते वक्त इन बातों का रखें ध्यान
11वीं में स्ट्रीम का चयन करते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

Bihar Board Matric Result 2020: दसवीं (10th) पास करने के बाद हजारों स्टूडेंट (Student) यह नहीं तय कर पाते कि उनको 11वीं में कौन सा विषय लेना है. ऐसे में हम आपको सही स्ट्रीम चुनने का तरीका बता रहे हैं.

  • Share this:
Bihar board Matric Result 2020: बिहार एजुकेशन बोर्ड ने 10वीं का रिजल्ट आज जारी कर दिया है. रिजल्ट में 12 लाख से अधिक छात्र पास हुए हैं. अब ये छात्र 11वीं में किसी न किसी स्ट्रीम में प्रवेश लेंगे. ऐसे में बहुत से छात्रों का अपना टारगेट सेट है कि उनको कौन सा विषय लेना है, लेकिन कुछ छात्र ऐसे भी हैं जो इस कशमकश में हैं कि उनको आगे किस स्ट्रीम में पढ़ाई करनी चाहिए. ऐसे छात्रों को आज हम कुछ बातें बता रहे हैं, जिनका वो 11वीं में विषय का चुनाव करते समय ध्यान रखें...

10वीं में मिले अंक और रुचि महत्व रखते हैं
छात्र जब 11वीं में किसी भी स्ट्रीम का चुनाव करता है तो सबसे पहले उसके 10वीं के अंक देखे जाते हैं कि संबंधित विषय में उसके अंके कैसे हैं. 10वीं में मिलने वाले परसेंटेज आपके किसी खास स्ट्रीम में एडमिशन को पुख्त करते हैं. इसके बाद दूसरी चीज अपकी रुचि और जानकारी होती है, जो उस विषय में कैसी है. इसी के आधार पर टीचर या करियर काउंसलर छात्र को कोई भी विषय लेने के लिए सलाह देते हैं.

अपनी पसंद के हिसाब से चुनें स्ट्रीम
11वीं में बच्चा जब किसी स्ट्रीम का चुनाव करे तो उसके माता-पिता को इस बात का ध्यान रखना होगा कि उस विषय में बच्चे की रुचि है या नहीं. इसके साथ ही यह भी देखें कि पिछली कक्षाओं में उससे जुड़े विषय में उसका प्रदर्शन कैसा रहा है? अगर विषय का चुनाव करते समय मन में कोई परेशानी या संदेह हो तो किसी करियर काउंसलर की मदद लेनी चाहिए.



यहां तक तो हमने आपको स्ट्रीम चुनने का तरीका बताया. अब हम आपको कुछ करियर आप्शन्स के बारे में बताते हैं, जिनमें आप करियर बना सकते हैं.

स्ट्रीम्स और भविष्य की संभावनाएं

1. साइंस स्ट्रीम में करियर
साइंस स्ट्रीम में करियर की बहुत सारी संभावनाएं हैं. जिन स्टूडेट्स को आगे चलकर इंजीनियर, आईटी एक्सपर्ट, कम्प्यूटर साइंस, डिफेंस अधिकारी, मैनेजमेंट आदि क्षेत्रों में जाना है. उनको साइंस स्ट्रीम लेकर करियर की शुरुआत करनी चाहिए. ऐसे स्टूडेंट्स को साइंस की पीसीएम (फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स) स्ट्रीम में जाना चाहिए. साथ ही जिन्हें डॉक्टर बनना है या मेडिकल फील्ड में जाना है उनके लिए साइंस पीसीबी (फिजिक्स, कैमिस्ट्री और बायोलॉजी) चुनना चाहिए.

2.कॉमर्स स्ट्रीम में करियर
कामर्स स्ट्रीम उन स्टूडेंट्स के लिए सही है, जिनको बैंकिंग में जाना है. या फिर जो स्टूडेंट कंपनी सेक्रेटरी, सीए, इनकम टैक्स और वित्तीय क्षेत्र में जाना है उनके लिए कॉमर्स बेहतर करियर ऑप्शन होगा. हालांकि इसमें पीएचडी तक का सफर होता है, जिसमें भविष्य बहुत उज्जवल है.

3. आर्ट्स स्ट्रीम में करियर
कई बार तो आर्ट स्ट्रीम को लोग बड़े हल्के में लेते हैं. आर्ट के स्टूडेंट्स को कम पढ़ाकू माना जाता है, लेकिन ऐसा बिल्कपल भी नहीं है. आईएएस, यूपीएससी जैसी परीक्षा आधिकांश आर्ट स्ट्रीम के सब्जेक्टस से निकाली जाती हैं. ऐसे स्टूडेंट जो सोशल वर्क, एजुकेशन, साहित्य, मनोविज्ञान आदि के क्षेत्र में करियर बनाना हैं उन्हें 11वीं में आर्ट्स स्ट्रीम चुनना चाहिए.

4.वोकेशनल स्ट्रीम में करियर
सरकारी स्कूलों में एक स्ट्रीम वोकेशनल कोर्स का होता है, जिसमें इलेक्ट्रिक्स, मैकेनिकल, और आईटीआई जैसे विषयों की पढ़ाई होती है. जिन स्टूडेट्स को आगे मैकेनिक, इलेक्ट्रिशियन बनना है वो इस स्ट्रीम को चुन सकते हैं. 12वीं तक इसमें पढ़ाई करने के बाद पॉलिटेक्निक में दाखिला लिया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- Bihar Board Matric Result 2020 : टॉपर्स में लड़कों का दबदबा, इस बार पिछड़ गईं लड़कियां
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज