Bihar Board Matric Result 2020: सड़क हादसे में हुई पिता की मौत, मां आंगनबाड़ी में करती हैं काम, बेटे ने 10वीं में ऐसे किया कमाल

Bihar Board Matric Result 2020: सड़क हादसे में हुई पिता की मौत, मां आंगनबाड़ी में करती हैं काम, बेटे ने 10वीं में ऐसे किया कमाल
बिहार बोर्ड मैट्रिक में कुल 12 लाख 2 हजार, 30 विद्यार्थी पास हुए हैं.

Bihar matric result 2020: बिहार एजुकेशन बोर्ड (BSEB) ने 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. इसमें कुल 12 लाख 2 हजार, 30 विद्यार्थी पास हुए हैं. बेगूसराय के 2 छात्रों ने मैट्रिक रिजल्ट (Matric Result 2020) में टॉप टेन में जगह बनाई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. Bihar Board Matric Result 2020: बिहार बोर्ड ने 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. मैट्रिक रिजल्ट 2020 में कुल 80.59 प्रतिशत स्टूडेंट्स (Students) पास हुए हैं. इनमें से 4,03,392 फर्स्ट डिविजन, 524217 सेकेंड डिवीजन और 2,75,402 थर्ड डिवीजन पास हुए हैं. कुल मिलाकर 12 लाख 2 हजार, 30 विद्यार्थी पास हुए हैं. बेगूसराय के 2 छात्रों ने भी मैट्रिक रिजल्ट (Matric Result 2020) में टॉप टेन में अपनी जगह बनाई है.

474 अंक के साथ शशि कुमार जहां सातवें स्थान पर हैं, वहीं नवनीत आनंद 472 अंक के साथ नौवें स्थान पर हैं. वीरपुर प्रखंड के एसपी हरिजन उच्च विद्यालय जगदर के छात्र शशि कुमार को 474 अंक मिले हैं. शशि कुमार के पिता अमरदीप महतो की 10 साल पूर्व सड़क हादसे में मौत हो गई थी, जबकि इनकी मां शर्मिला कुमारी आंगनवाड़ी सेविका हैं.


आठ घंटे पढ़ाई करते थे शशि
शशि कुमार ने मीडिया से कहा कि वह आठ घंटे पढ़ाई करते थे. स्कूल के साथ ट्यूशन भी करते थे. वह आगे चलकर आईआईटी से इंजीनियरिंग करना चाहते हैं. दो भाइयों में छोटे शशि कुमार मां का सपना पूरा करना चाहते हैं. शशि कुमार की इस उपलब्धि पर मां और दादा राजदेव महतो ने मिठाई बांटकर खुशी मनाई है. शशि का बड़ा भाई इंटर में पढ़ता है. शशि के अच्छे मार्क्स आने पर पूरा गांव उनके घर पर जुट गया है. सभी की जुबान पर बस एक ही बात है 'लाल हो तो ऐसा'.



IAS बनना चाहते हैं नवनीत
बिहार में नौवें स्थान पर आए नवनीत आनंद शहर के रतनपुर मोहल्ले में किराए पर रहकर पढ़ाई करते थे. इनके 472 नंबर आये हैं और उनको बिहार में नौवां स्थान मिला है. नवनीत आनंद के पिता नरेंद्र कुमार शर्मा सरकारी शिक्षक हैं, मां जानकी हाउसवाइफ हैं. दो भाइयों में बड़े नवनीत ने बताया कि वो आगे चलकर आईएएस बनना चाहते हैं. इंटर में साइंस लेकर पढ़ाई करने की बात नवनीत ने कही है. मूल रूप से छौराही प्रखंड के नारायण पीपड़ गांव के रहने वाले नवनीत कोचिंग के साथ 6 घंटे घर में भी पढ़ते थे. उन्होंने सफलता का श्रेय अपने परिजनों और शिक्षकों को दिया है.

हिमांशु राज ने किया राज्य में टॉप
रोहतास के नटवार के जनता हाईस्कूल के हिमांशु राज टॉपर बने हैं. रोहतास के हिमांशु राज बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा के टॉपर बने हैं. हिमांशु ने 96.20 फीसदी अंक हासिल किए हैं. उन्हें 481 नंबर मिले हैं. टॉपर बनने के बाद हिमांशु ने कहा कि पापा पढ़ाई कराते थे. वह घर में 14 घंटे पढ़ाई करते थे, जिसके कारण आज वह टॉप करने में सफल रहे हैं. हिमांशु ने कहा कि वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं. इसको लेकर वह आगे भी कड़ी मेहनत करेंगे.

किसान का बेटा है हिमांशु
हिमांशु ने कहा कि पापा किसान हैं. वह दूसरे के खेत को पट्टे पर लेकर खेती करते हैं. कई बार तो पढ़ाई के दौरान आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण परेशानी भी हुई, लेकिन किसी तरह से पढ़ाई जारी रही.

ये भी पढ़ें :- BSEB, Bihar Board 10th Result 2020: टॉप 3 में छात्रा ने कब्जा जमाया, लड़कियों का प्रदर्शन ऐसा रहा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading