बिहार के सरकारी स्कूलों के आठवीं से 12वीं तक के बच्चों को रेडियो से पढ़ाया जाएगा

लॉकडाउन की स्थिति के बाद घर बैठे ही सरकारी स्कूल के बच्चों को यह सुविधा बिहार शिक्षा परियोजना परिषद देने जा रहा है.
लॉकडाउन की स्थिति के बाद घर बैठे ही सरकारी स्कूल के बच्चों को यह सुविधा बिहार शिक्षा परियोजना परिषद देने जा रहा है.

बिहार में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले आठवीं से बारहवीं तक के छात्रों को रेडियो के द्वारा पढ़ाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2020, 12:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन के चलते बिहार सरकार ने बच्चों की पढ़ाई के लिए बड़ा फैसला लिया है. अब बिहार में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले आठवीं से बारहवीं तक के छात्रों को रेडियो के द्वारा पढ़ाया जाएगा. लॉकडाउन की स्थिति के बाद घर बैठे ही सरकारी स्कूल के बच्चों को यह सुविधा बिहार शिक्षा परियोजना परिषद देने जा रहा है. बच्चों के लिए कक्षावार मेटेरियल यूनिसेफ की मदद से तैयार किया जा रहा है.

ऐसी है रेडियो में पढ़ाने की योजना
सारे विषयों का कंटेंट अफेअर्स हर दिन तैयार किया जाएगा. इसकी रिकॉडिंग कर ऑल इंडिया रेडियो के माध्यम से बच्चों तक पहुंचाया जाएगा. इसके बारे में बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के निदेशक संजय कुमार ने जानकारी दी. उन्होंने कहा कि रेडियो की पहुंच आज भी गांव-गांव में है. ऐसे में रेडियो के माध्यम से हम हर बच्चों तक सुविधा पहुंचा सकेंगे. इसे जल्द ही शुरू किया जायेगा. इसके अलावा बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से दीक्षा पोर्टल की भी सुविधा सरकारी स्कूल के बच्चों के लिए की गई है.

एनसीईआरटी का सिलेबस पढ़ सकते हैं
सीबीएसई की तरह बिहार बोर्ड के विद्यार्थी भी दीक्षा पोर्टल से एनसीईआरटी सिलेबस से अपनी पढ़ाई कर सकते हैं. यह उन बच्चों के लिए फायदेमंद होगा, जो दीक्षा पोर्टल को खोल सकते हैं, क्योंकि इस पोर्टल पर नौवीं से 12वीं तक के सारे विषयों का पूरा मेटेरियल रखा गया है. इस पर शिक्षक भी उपलब्ध हैं.



ये भी पढ़ें- पहली से 8वीं कक्षा के छात्रों को बिना परीक्षा प्रमोट करेगी CBSE, सरकार ने दिए निर्देश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज