NID (Amendment) Bill 2019 राज्‍यसभा में पास, ये होंगे बदलाव

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल द्वारा राज्यसभा में नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन (संशोधन) विधेयक 2019 पेश किया गया. इसे सदन में ध्वनि मत से पारित कर गया है.

News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 12:32 PM IST
NID (Amendment) Bill 2019 राज्‍यसभा में पास, ये होंगे बदलाव
राज्‍य सभा में पार‍ित हुआ एनआईडी संशोध‍ित ब‍िल 2019
News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 12:32 PM IST
राज्‍यसभा में मंगलवार को ध्‍वनि मत से नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन (संशोधन) विधेयक 2019 को पारित कर दिया गया है. यह विधेयक चार राज्‍यों के लिये लागू हुआ है. इन चार राज्‍यों में आंध्र प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, असम और हरियाणा शामिल हैं. इस विधेयक के बाद इन संस्‍थानों को डिग्री और डिप्‍लोमा देने का अधिकार होगा. वर्तमान में ये संस्‍थान, सोसाइटीज रजिस्‍ट्रेशन एक्‍ट 1860 के तहत सोसाइटी के तौर पर रजिस्‍टर्ड हैं और इन्‍हें डिग्री या डिप्‍लोमा देने का अधिकार नहीं है. नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन (संशोधन) विधेयक, 2019 को राज्‍य सभा में 30 जुलाई को वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने पेश किया था, जिसे ध्‍वनि मत के साथ पास कर लिया गया है.

दरअसल, इस विधेयक में नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन एक्‍ट, 2014 में बदलाव किए गए हैं. राज्यसभा में विधेयक पर जवाब देते हुए, गोयल ने सदस्यों को आश्वासन दिया कि इन संस्थानों की स्‍वायत्‍तता को बनाए रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि गवर्निंग काउंसिल के सदस्य की नियुक्ति के समय को छोड़कर, सरकार की कोई भूमिका नहीं होगी. हम संस्‍थानों की पूरी स्‍वायत्‍तता चाहते हैं.

सदन में बहस के दौरान कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि सरकार को राष्‍ट्रीय स्‍तर के संस्‍थानों में फैकल्‍टी विकसित करने पर भी काम करना चाहिए. क्‍योंकि IITs और IIMs जैसे संस्‍थानों में फेल्‍टी की कमी चल रही है. उन्‍होंने यह भी कहा कि चार NIDs के स्‍टेटस को अपग्रेड करने के साथ ही सरकार को कंज्‍यूमर फ्रेंडली उत्‍पाद लाने के लिये इंडस्‍ट्री के साथ पार्टनरशिप पर भी ध्‍यान देना चाहिए.

इसके अलावा, NID को क्राफ्ट एंड हैंडलूम इंडस्‍ट्री में डिजाइन पर भी ध्‍यान देना चाहिए. इससे रोजगार के मौके बढ़ेंगे. साइंस, टेक्‍नोलॉजी और अन्‍य इंस्‍ट्रीज में विकास हुआ है, पर डिजाइन में हम वहीं हैं, आगे नहीं बढ़ें.

AIDMK के एन. गोकुलाकृष्‍णन ने सरकार से कहा कि चेन्‍नई और पुडूचेरी में भी NIDs स्‍थापित होनी चाहिए. ऐसे ही SP नेता जया बच्‍चन ने संस्‍थानों में फैकल्‍टी की कमी की ओर सरकार का ध्‍यान खींचते हुए कहा कि सरकार को फैकल्‍टी की संख्‍या बढ़ाने पर काम करना चाहिए. जबकि JDU के कहकशां परवीन ने कहा कि बिहार में भी NID की स्‍थापना होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:
CCSU Admission 2019: इस दिन जारी होगी दूसरी मेरिट लिस्‍ट, पढ़ें डिटेल
Loading...

यूपी: स्कूल में 9 साल के स्टूडेंट की TC पर लिखा कैरेक्टरलेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 12:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...