Board Exam 2020 : दसवीं के स्टूडेंट्स को रद्द हुए पेपर में ऐसे नंबर मिलेंगे!

Board Exam 2020 : दसवीं के स्टूडेंट्स को रद्द हुए पेपर में ऐसे नंबर मिलेंगे!
कोरोना वायरस के चलते कई राज्यों में बोर्ड के बचे पेपर रद्द किए गए हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते 23 मार्च को होने वाला भूगोल (Geography) का पेपर रद्द कर दिया गया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. ऐसे समय में जब कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देशभर में लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते बोर्ड परीक्षाओं को भी कई राज्यों में रद्द करना पड़ा है तो महाराष्ट्र बोर्ड (Maharashtra Board) के दसवीं के स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर सामने आई है. दरअसल, महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड आफ सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन (Maharashtra State Board of Secondary and Higher Secondary Education) ने साफ किया है कि वो दसवीं क्लास का रद्द किए गए भूगोल (Geography) के पेपर में सभी स्टूडेंट्स को औसत नंबर देगा. ये पेपर 23 मार्च को आयोजित किया जाना था, लेकिन महाराष्ट्र बोर्ड ने इसे कोरोना वायरस के चलते रद्द कर दिया था.

कोरोना वायरस के चलते भूगोल का पेपर रद्द
महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड आफ सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन (Maharashtra State Board of Secondary and Higher Secondary Education) के सर्कुलर के अनुसार, चूंकि दसवीं क्लास का भूगोल (Geography) का पेपर रद्द कर दिया गया था, तो बोर्ड ने सभी छात्र-छात्राओं को अन्य पेपर में लिखित परीक्षा में मिले नंबरों के हिसाब से औसत नंबर देने का फैसला किया है.

भूगोल के पेपर में दसवीं के छात्रों को इस तरह मिलेंगे नंबर
महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड आफ सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन (Maharashtra State Board of Secondary and Higher Secondary Education) के नोटिस में बताया गया है कि अन्य विषयों में लिखित परीक्षा, मौखिक परीक्षा, प्रैक्टिकल और इंटरनल असेस्मेंट में मिले नंबरों के आधार पर ही रद्द की गई भूगोल (Geography) के पेपर में स्टूडेंट्स को औसत नंबर दिए जाएंगे.



17 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने दी परीक्षा
महाराष्ट्र बोर्ड (Maharashtra Board) की दसवीं क्लास की परीक्षा में 17 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया. ये परीक्षाएं 3 मार्च से 23 मार्च के बीच आयोजित की गईं. हालांकि कोरोना वायरस के चलते सभी विषयों की परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकीं. बता दें कि भारत में 24 मार्च को पहला लॉकडाउन घोषित किया गया था, जो 21 दिन के लिए था. इसके बाद दूसरा लॉकडाउन 3 मई तक लगाया गया. वहीं 17 मई तक तीसरा लॉकडाउन घोषित किया गया. इसके बाद लॉकडाउन-4 की अवधि 31 मई तय की गई.

बड़ी खबर: लॉकडाउन-4 खत्म होने से पहले बढ़ी तारीख,अब इस दिन तक बंद रहेंगे स्कूल

UGC का बड़ा फैसला, 127 इंस्टीट्यूट्स को यूनिवर्सिटी शब्द इस्तेमाल करने से रोका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज