MUHS के BDS और पोस्ट ग्रेजुएशन फाइनल ईयर एग्जाम पर रोक लगाने से बॉम्बे HC का इनकार

MUHS के BDS और पोस्ट ग्रेजुएशन फाइनल ईयर एग्जाम पर रोक लगाने से बॉम्बे HC का इनकार
बीडीएस की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 17 अगस्त से शुरू हो रही हैं.

बीडीएस की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 17 अगस्त से शुरू हो रही हैं जबकि पीजी मेडिकल की परीक्षाएं 25 अगस्त से होंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 5:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बॉम्बे उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को महाराष्ट्र आरोग्य विज्ञान विद्यापीठ (Maharashtra University Of Health Sciences) द्वारा इस महीने के अंत में आयोजित होने वाली अंतिम वर्ष की डेंटल (बीडीएस) और पोस्ट-ग्रेजुएट मेडिकल परीक्षाओं पर रोक लगाने से इनकार कर दिया.

जनहित याचिका पर सुनवाई 
मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता की अगुवाई वाली एक पीठ एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी. याचिका में विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की उपस्थिति को अनिवार्य किए जाने के फैसले का चुनौती दी गयी है.

कोरोना वायरस के कारण परीक्षा ऑनलाइन आयोजित
कुछ छात्रों द्वारा अधिवक्ता कुलदीप निकम के माध्यम से दायर जनहित याचिका में अनुरोध किया गया है कि परीक्षाओं को टाल दिया जाए या नासिक स्थित एमयूएचएस को निर्देश दिया जाए कि कोरोना वायरस के कारण परीक्षाओं को ऑनलाइन आयोजित करें.



बीडीएस परीक्षाएं 17 अगस्त से, पीजी की 25 अगस्त से
याचिका के अनुसार, बीडीएस की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 17 अगस्त से शुरू हो रही हैं जबकि पीजी मेडिकल की परीक्षाएं 25 अगस्त से होंगी. हालांकि, पीठ ने कहा कि मेडिकल छात्रों द्वारा विभिन्न अनुरोध करते हुए कई याचिकाएं दायर की गई हैं. कुछ याचिकाओं में परीक्षाओं का विरोध किया गया है वहीं कुछ छात्र चाहते हैं परीक्षाएं हों.

ये भी पढ़ें-
UPSC एग्जाम क्रैक करने के फॉर्मूले का हुआ खुलासा, IPS से जानें मास्टरप्लान
स्वतंत्रता दिवस 2020: राष्ट्रीय ध्वज, राष्ट्रगान के बारे में 12 रोचक तथ्य

अंतिम समय में परीक्षाओं पर रोक से छात्रों को नुकसान
अदालत ने यह भी कहा कि अंतिम समय में परीक्षाओं पर रोक लगाने से उन छात्रों को नुकसान हो सकता है जो परीक्षा की तैयारी कर चुके हैं और परीक्षा में शामिल होने के लिए तैयार हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading