UP Board Result 2019: इन टॉपरों से लीजिए पढ़ाई-लिखाई में सफलता का 'गुरुमंत्र'

UP Board Class 10th 12th Result 2019: कैसे अभावों में पढ़कर पिछले साल ऑटो ड्राइवर के बेटे ने किया था टॉप और इस साल किसान की बेटी ने बनाया कीर्तिमान!

News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 11:18 PM IST
UP Board Result 2019: इन टॉपरों से लीजिए पढ़ाई-लिखाई में सफलता का 'गुरुमंत्र'
10वीं, 12वीं में टॉपरों के सफलता का मंत्र!
News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 11:18 PM IST
यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं के परीक्षा में टॉप करने वालों ने जो कुछ कहा है वो आपकी सफलता का भी मंत्र बन सकता है. बस कोशिश उसे अमल करने की होनी चाहिए. 12वीं की टॉपर तनु तोमर बागपत के एक किसान की बेटी हैं जबकि 10वीं टॉपर गौतम रघुवंशी कानपुर के रहने वाले हैं. तनु तोमर ने कहा है कि मेहनत करने पर सफलता जरूर मिलती है और लड़कियां भी लड़कों से कहीं कम नहीं हैं. जब मेहनत की जाती है तब कीर्तिमान कायम होता है.

दूसरी ओर, 10वीं में टॉप करने वाले गौतम रघुवंशी का गुरुमंत्र 6 से 7 घंटे पढ़ाई है. उनका मानना है कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता. सफलता के लिए ये तो रही यूपी बोर्ड के टॉपरों की सलाह. साल 2018 में सीबीएसई बोर्ड से 10वीं की परीक्षा टॉप करने वाली नंदिनी गर्ग कहती हैं, "मैं हर हालात में अपने लक्ष्य को पाने के लिए तैयारी करती हूं. परिणाम अच्छा होगा या खराब इसे कभी भी अपने ऊपर हावी नहीं होने देती. टयूशन को भी अपने ऊपर हावी नहीं होने दें. टयूशन पढ़ने से बेवजह का प्रेशर बढ़ता है.


यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019

यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019



(ये भी पढ़ें:  आज बच्चों की नहीं मां-बाप की बारी है! )

 UP Board Result 2019, UP Board Class 12th Result 2019, UP Board Class 10th Result 2019, 12th topper 2019 Tanu Tomar, Intermediate result uttar pradesh, baghpat, 12वीं की टॉपर तनु तोमर, बागपत, barabanki, kanpur, बाराबंकी, कानपुर, गौतम रघुवंशी, gautam raghuvanshi, UP Board Class 12th Result 2019, UP Board Class Inter Result 2019, high school result, career counsellor, suggestions for students mother father, Uttar Pradesh Class 10th 12th results, upmsp.edu.in, यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019, यूपी बोर्ड क्लास 10वीं, 12वीं का परिणाम, हाई स्कूल परिणाम, इंटरमीडिएट परिणाम, कॅरियर काउंसलर, छात्रों के माता-पिता के काउंसलर के सुझाव, उत्तर प्रदेश,        इंटरमीडिएट टॉपर तनु तोमर

2018 में यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में टॉप करने वाले आकाश मौर्य के मुताबिक पैसे की तंगी के चलते उन्‍होंने किसी भी विषय की कोचिंग नहीं की. मैं हमेशा से ही पढ़ाई एक शेड्यूल के मुताबिक करता हूं. आप उतनी पढ़ाई करें, जितना आपके लिए जरूरी हो. ज्यादा भार लेने पर पढ़ाई नहीं हो पाती और हम अपने लक्ष्य से भी भटक जाते हैं."

शिक्षाविद् मंजीत सिंह कहते हैं कि किसी भी फील्ड में मेहनत का कोई विकल्प नहीं है. इसी तरह पढ़ाई-लिखाई में भी. रेगुलर सहजता से पढ़ाई करें, समय से खेलें-कूदें तो कोई दिक्कत ही नहीं होगी. लेकिन जब हम सोचते हैं कि परीक्षा नजदीक आने पर ही पढ़ेंगे तो बात गड़बड़ हो जाती है. हर सफल बच्चे का मंत्र मेहनत ही होती है. पढ़ाई-लिखाई मेहनत की मोहताज है न कि बड़े शहर, बड़े स्कूल और पैसे वालों की. कई बच्चे अभाव में बिना ट्यूशन के भी बहुत अच्छा नंबर लाते हैं.

ये भी पढ़ें:
Loading...

UP Board Result 2019: कैसे छोटे शहरों से निकले पढ़ाई-लिखाई के बड़े खिलाड़ी! 

UP Board Result 2019: रिजल्ट में लगे गड़बड़ी तो स्टूडेंट्स यहां करें शिकायत, लेटेस्ट अपडेट के लिए upmsp.edu.in पर जाएं

यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें.
First published: April 27, 2019, 11:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर