• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • Career Guidance: सिविल इंजीनियरिंग के लिए क्या हैं प्रोफेशनल कोर्स और करियर स्कोप, जानें

Career Guidance: सिविल इंजीनियरिंग के लिए क्या हैं प्रोफेशनल कोर्स और करियर स्कोप, जानें

जानतें हैं कि क्या हैं सिविल इंजीनियरिंग में करियर कि संभावनाएं (Opportunities).

सिविल इंजीनियरिंग के बाद स्टूडेंट्स न सिर्फ दूसरों के लिए इमारतें और भवन (Buildings) तैयार कर सकते हैं, बल्कि खुद के लिए एक शानदार करियर की नींव भी रख सकते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. Civil Engineering career: बहुत से स्टूडेंट्स (Students) 12वीं के बाद कंस्ट्रक्शन (Construction) सम्बन्धी प्रोफेशन (Profession) के जरिये देश के इंफ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) में अपना योगदान (Contribution) देना चाहते हैं. ऐसे स्टूडेंट्स के लिए सिविल इंजीनियरिंग (Civil Engineering) एक बेहतरीन करियर (Career) ऑप्शन (Option) साबित हो सकता है. सिविल इंजीनियरिंग के बाद स्टूडेंट्स न सिर्फ दूसरों के लिए इमारतें और भवन (Buildings) तैयार कर सकते हैं, बल्कि खुद के लिए एक शानदार करियर की नींव भी रख सकते हैं. चलिए जानतें हैं कि क्या हैं सिविल इंजीनियरिंग में करियर कि संभावनाएं (Opportunities).

     Civil Engineering career: प्रोफेशनल कोर्स है सिविल इंजीनियरिंग
    सिविल इंजीनियरिंग एक प्रोफेशनल कोर्स (Professional Course) है. इसमें आप डिप्लोमा (Diploma) और डिग्री (Degree), दोनों तरह के कोर्स कर सकते हैं. डिप्लोमा करने के इच्छुक स्टूडेंट्स 10वीं क्लास के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त पॉलिटेक्निक (Polytechnic) से सिविल इंजीनियरिंग में 3 साल कि अवधि का डिप्लोमा कर सकते हैं. इस कोर्स के लिए स्टूडेंट का फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स (PCM) सब्जेक्ट्स पढ़ा होना जरुरी है. इसके बाद कैंडिडेट जूनियर सिविल इंजिनियर के तौर पर अपना करियर शुरू कर सकता है. वहीं डिग्री कोर्स के लिए स्टूडेंट्स का 12वीं कक्षा में साइंस (Science) स्ट्रीम से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स में कम से कम 55 प्रतिशत अंकों से पास होना जरुरी है. इसके बाद स्टूडेंट्स सिविल इंजीनियरिंग में चार साल का बीटेक (B.Tech) या बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं. इन दोनों कोर्स के बाद स्टूडेंट्स सीनियर सिविल इंजिनियर के तौर पर करियर शुरू कर सकते हैं.

     Civil Engineering career: ये है सैलरी
    जूनियर सिविल इंजिनियर कि सैलरी कि शुरुआर 15 से 18 हजार रूपए महीना है. अनुभव के साथ इसमें बढ़ोतरी निश्चित है. वहीँ सीनियर सिविल इंजिनियर कि सैलरी कि शुरुआत २८ से ३० हजार रूपए महीना तक है. अनुभव के साथ इसमें भी बढ़ोतरी तय है.

     Civil Engineering career: ये है करियर स्कोप
    प्राइवेट और सरकारी, दोनों क्षेत्रों में सिविल इंजीनियर कि काफी डिमांड रहती है. अकेले सरकारी क्षेत्र में हर साल 5 हजार से अधिक सिविल इंजिनियर पदों पर भर्तियाँ निकलती हैं. रियल एस्टेट क्षेत्र में बढती हलचल के चलते फिलहाल इस सिविल इंजिनियर कि डिमांड बहुत ज्यादा है और इनके लिए जॉब्स कि कोई कमी नहीं है. आने वाले समय में यह डिमांड बढती ही जाएगी.

    ये भी पढ़ें-
    UPSESSB TGT Result: जीटीजी कला शिक्षक भर्ती रिजल्ट जारी, यहां करें चेक
    Railway Recruitment 2021: रेलवे में बिना परीक्षा नौकरी का मौका, 2 लाख तक मिलेगा वेतन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज