होम /न्यूज /करियर /

Bihar Board Results: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में कम नंबर से न हों परेशान, चेक करें ये विकल्प

Bihar Board Results: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में कम नंबर से न हों परेशान, चेक करें ये विकल्प

Bihar Board Results: 50 प्रतिशत से कम मार्क्स हासिल करने वाले छात्रों के पास हैं ये ऑप्शन

Bihar Board Results: 50 प्रतिशत से कम मार्क्स हासिल करने वाले छात्रों के पास हैं ये ऑप्शन

Bihar Board Results, Bihar Board Matric Result 2022, BSEB Result 2022: बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट 2022 कल जारी किया जा चुका है. बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में अधिकतर स्टूडेंट्स का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है. लेकिन कुछ छात्र-छात्राओं को उनकी उम्मीद से कम मार्क्स भी हासिल हुए होंगे. बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा (Bihar Board Matric Exam) में 50 फीसदी से कम अंक हासिल करने वाले स्टूडेंट्स को परेशान होने की जरूरत नहीं है. उनके पास अपनी पढ़ाई को जारी रखने के कई विकल्प हैं. कुछ समय का ब्रेक लेकर वे अपनी पढ़ाई को जारी रखने के फैसले पर विचार कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली (Bihar Board Results, Bihar Board Matric Result 2022, BSEB Result 2022). बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा के महज 34 दिनों के अंदर बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट 2022 जारी कर दिया है. इस साल बिहार बोर्ड ने सबसे पहले 10वीं और 12वीं का रिजल्ट जारी करके एक खास रिकॉर्ड दर्ज करवा लिया है. बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा (Bihar Board Matric Exam) में 16,11,099 छात्र शामिल हुए थे.

बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट (Bihar Board Matric Result 2022) में 12,86,971 स्टूडेंट्स पास हुए हैं. मैट्रिक परीक्षा में शामिल फेल स्टूडेंट्स की संख्या 3,24,128 है. इस साल 2021 की तुलना में कम स्टूडेंट्स फेल हुए हैं. पिछले साल 03 लाख 60 हजार 655 छात्र फेल हुए थे. बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के रिजल्ट (BSEB Result 2022) में अगर किसी छात्र ने 50 फीसदी से कम अंक हासिल किए हैं तो भी उसके पास आगे पढ़ाई जारी करने के विकल्प हैं. जानिए उनके बारे में (Education News).

इसी स्कूल से करें इंटर की पढ़ाई
कई स्कूलों में 11वीं में एडमिशन के लिए न्यूनतम 50 फीसदी या 60 फीसदी मार्क्स की शर्त रखी जाती है. लेकिन अगर आपके मार्क्स कम आए हैं तो आप उसी स्कूल से 11वीं की पढ़ाई कर सकते हैं (School Education News). आमतौर पर कोई भी स्कूल कम अंकों के आधार पर अपने छात्र को एडमिशन देने से मना नहीं करता है.

प्राइवेट पढ़ाई का भी है ऑप्शन
जिन छात्रों के स्कूल में सिर्फ 10वीं तक पढ़ाई होती है और कम मार्क्स की वजह से उन्हें दूसरे स्कूलों में एडमिशन लेने में दिक्कत हो तो वे प्राइवेट तरीके से इंटर कर सकते हैं. वे चाहें तो या एनआईओएस (NIOS) के जरिए भी इंटर की पढ़ाई जारी रख सकते हैं.

ये भी पढ़ें:
Pariksha Pe Charcha 2022: पीएम मोदी सर ने स्टूडेंट्स को दिए गुरु मंत्र, आप भी कर लें नोट
CUET 2022: देश की इन 8 डीम्ड यूनिवर्सिटी में CUET स्कोर से मिलेगा एडमिशन, देखें लिस्ट

Tags: Bihar board results, Bseb, Class 10th Results, बिहार

अगली ख़बर