आर्ट्स स्ट्रीम के लिए करियर विकल्प- लॉ, फैशन डिजाइनिंग, परफॉर्मिंग आर्ट्स, मीडिया, एक्टिंग

जानते हैं कि आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए करियर के लिहाज से कौन से बेहतर विकल्प हैं.

जानते हैं कि आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए करियर के लिहाज से कौन से बेहतर विकल्प हैं.

जरूरत है सही विषय और पेशा चुनने की. चलिए जानते हैं कि आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए कैरियर के लिहाज से कौन से बेहतर विकल्प हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. हमारे देश में आमतौर पर आर्ट्स (Arts) स्ट्रीम को कॉमर्स (Commerce) और साइंस (Science) से कमतर करके आंका जाता है. जबकि ध्यान दिया जाए तो कॉमर्स और साइंस स्ट्रीम के मुकाबले आर्ट्स स्ट्रीम में कैरियर (Career) के सुनहरे विकल्पों (Options) की भरमार ज्यादा है. आर्ट्स स्ट्रीम के छात्र अपनी मेहनत के ज़रिए एक सफल प्रशासनिक अधिकारी, व्यवसायी, एक्टर, डिज़ाइनर, शिक्षक, पॉलिटिशियन या सफल वकील भी बन सकता है. बस जरूरत है सही विषय और पेशा चुनने की. चलिए जानते हैं कि आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए करियर के लिहाज से कौन से बेहतर विकल्प हैं.

BA जनरल और ऑनर्स कोर्स हैं फायदेमंद:

आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के पास उच्च शिक्षा के बहुत से विकल्प हैं. इसमें BA जनरल के अलावा कई ऑनर्स कोर्स (Course) भी शामिल हैं. जहां जनरल कोर्स में विषयों के अलग-अलग कॉम्बिनेशन चुनने पड़ते हैं, वहीं ऑनर्स कोर्सेज में किसी एक फील्ड विशेष के कोर्स के विभिन्न विषयों की पढ़ाई करनी होती है. इनमें BA इतिहास ( History), BA इकोनॉमिक्स (Economics), BA जियोग्राफी (Geography) और सिविल सर्विसेज (civil services) संबंधित जैसे कोर्स प्रमुख रूप से शामिल हैं.

सही विषय चुनना जरूरी:
आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों को बेहतर करियर ऑप्शंस के लिए सही विषयों का चयन करना बहुत जरूरी है. इन छात्रों के पास विषयों के ढेरों विकल्प होते हैं, लेकिन करियर के लिहाज से किन विषयों का कॉम्बिनेशन सही रहेगा, इसके लिए एक्सपर्ट्स की राय लेना उचित रहेगा. विषय चुनते समय अपनी पसंद के कैरियर, अपनी स्ट्रेंथ, क्षमता और कैरियर के स्कोप को जरूर ध्यान रखें.

ये हैं कैरियर के कुछ बेहतरीन विकल्प:

लॉ: अगर आपको कानूनी विषयों में दिलचस्पी है तो लॉ (Law) आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है. इसके लिए आपको BA के बाद बैचलर ऑफ लेजेस्टिव लॉ (LLB) की डिग्री हासिल करनी होगी. फिलहाल छात्रों के पास बीए और एलएलबी के पांच साल के इंटीग्रेटेड कोर्स को करने का मौका भी है.



लेखन (Writing): अगर आपको साहित्य और पढ़ने-लिखने में रुचि है तो लेखन का पेशा आपके लिए एक बेहतर कैरियर विकल्प हो सकता है. आप सामान्य BA या साहित्य विषय मे कोई ऑनर्स कोर्स करने के बाद इस पेशे में खुद को स्थापित कर सकते हैं. इसके लिए आपको रचनात्मक और कल्पनाशील होना जरूरी है.

मैनेजमेंट (Management): आमतौर पर कॉमर्स के छात्रों को ही मैनेजमेंट कोर्स और कैरियर कोर्स के लिए उपयुक्त समझ जाता है. लईकिन BA के बाद भी बहुत से सर्टिफिकेट और सिप्लोमा के शॉर्ट टर्म कोर्स करके आप आपदा प्रबंधन ( Disaster Management) और होटल मैनेजमेंट (Hotel Management) जैसे क्षेत्रों में कैरियर बना सकते हैं.

डिजाइनिंग (Designing): आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए डिजाइनिंग क्षेत्र में कैरियर की अपार संभावनाएं हैं. इसमें फ़ैशन डिजाइनिंग, ज्यूलरी डिजाइनिंग, फुटवियर डिजाइनिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, वेब डिजाइनिंग और प्रोडक्ट डिजाइनिंग आदि जिस कैरियर ऑप्शन शामिल हैं. डिजाइनिंग कोर्स को चुनते समय छात्रों को अपनी स्किल्स और रुचि को खासतौर पर ध्यान में रखना है.

परफॉर्मिंग आर्ट (Performing Arts): एक्टिंग, डांसिंग, सिंगिंग, थिएटर आदि में रुचि रखने वाले आर्ट्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए परफॉर्मिंग आर्ट्स संबंधित BA के ऑनर्स कोर्स काफी लाभदायक साबित हो सकते हैं. इन छात्रों के लिए टेलीविजन (TV) और सिनेमा (Cinema) में कैरियर के शानदार अवसर मौजूद हैं.

प्रशासनिक सेवाएं (Administrative Servises): आर्ट्स स्ट्राम के छात्रों के पास प्रशासनिक और सिविल सेवाओं संबंधित जॉब्स और कैरियर की संभावनाएं सबसे अधिक होती हैं. इन छात्रों को अपनी स्ट्रीम और ग्रेजुएशन के विषयों का तैयारी में बहुत लाभ मिलता है जिसके चलते इनके लिए IAS, IPS और PCS जैसी परीक्षाओं में सफलता पाना औरो के मुकाबले आसान रहता है.

ये भी पढ़ें-

DU Exam 2021: इंटरमीडिएट 4th सेमेस्टर के लिए असाइंमेंट बेस्ड इवैल्यूएशन, गाइडलाइंस जल्द

Sarkari naukri : इंग्लिश मीडियम स्कूलों में शिक्षकों सहित कई पदों पर भर्तियां, देखें डिटेल

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज