Home /News /career /

Career Tips: बहुत चर्चा में हैं SPG Commando, जानिए कैसे होती है इनकी भर्ती और सैलरी

Career Tips: बहुत चर्चा में हैं SPG Commando, जानिए कैसे होती है इनकी भर्ती और सैलरी

SPG Commando की भर्ती प्रक्रिया काफी कठिन होती है

SPG Commando की भर्ती प्रक्रिया काफी कठिन होती है

Career Tips, SPG Commando Training: एसपीजी यानी स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG Full Form) का गठन प्रधानमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था देखने के लिए किया गया था. मौजूदा समय में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) देश के इकलौते सदस्य हैं, जिन्हें एसपीजी के तहत सुरक्षा प्रदान की हुई है. पीएम नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान सुरक्षा में हुई चूक के बाद से एसपीजी कमांडो काफी चर्चा में हैं (PM Narendra Modi Security). जानिए एसपीजी में किन कमांडो की भर्ती होती है और उनकी सैलरी कितनी होती है (SPG Commando Salary).

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली (Career Tips, SPG Commando Training). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एसपीजी के तहत सुरक्षा प्रदान की गई है (PM Narendra Modi Security). एसपीजी का फुल फॉर्म स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप होता है (SPG Full Form). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत की इकलौती शख्सियत हैं, जिनकी सुरक्षा व्यवस्था एसपीजी कमांडो के हाथ में होती है (SPG Commando). यह देश की सबसे स्पेशल फोर्स मानी जाती है (Special Force).

एसपीजी कमांडो (SPG Commando Training) की टीम में भर्ती होने के लिए खास ट्रेनिंग कराई जाती है. यह देश की सबसे कठिन ट्रेनिंग मानी जाती है. इन दिनों एसपीजी कमांडो काफी चर्चा में हैं. पीएम नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे में सुरक्षा चूक में हुई अव्यवस्था के बाद से हर कोई एसपीजी की बात कर रहा है (PM Narendra Modi Security). जानिए एसपीजी में शामिल होने के लिए भर्ती प्रक्रिया (SPG Commando Selection Process) और कमांडो को मिलने वाली सैलरी के बारे में (SPG Commando Salary).

कब हुआ एसपीजी का गठन?
तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनके ही सुरक्षा कर्मियों द्वारा हत्या होने के बाद केंद्र सरकार हरकत में आ गई थी. फिर उन्हें एक समर्पित बल जुटाने की जरूरत महसूस हुई थी, जो देश के वर्तमान और पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिवार की सुरक्षा कर सके. इसके बाद 2 जून 1988 को संसद के अधिनियम द्वारा स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) का गठन किया गया था. इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है. यह सुरक्षा मौजूदा प्रधानमंत्री व उनके परिवार के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिवार को 1 साल के लिए प्रदान की जाती है. इसके अलावा खतरे के अनुसार इसे बढ़ाया भी जा सकता है. लेकिन फिलहाल सिर्फ मौजूदा प्रधानमंत्री को ही एसपीजी की सुरक्षा प्रदान की जा रही है (PM Narendra Modi Security).

SPG में नहीं होती डायरेक्ट भर्ती
देश के अन्‍य सैन्‍य बलों की तरह एसपीजी में सीधी भर्ती नहीं होती है (SPG Selection Process). इसमें वरिष्ठ और कनिष्ठ अधिकारियों की भर्ती भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) से की जाती है. एसपीजी के जवान हर साल ग्रुप में बदलते हैं. कोई भी व्यक्ति इसमें 1 साल से ज्यादा समय तक अपनी सेवा नहीं दे सकता है. एसपीजी कर्मियों को उनका कार्यकाल पूरा करने के बाद उनकी मूल इकाई में वापस भेज दिया जाता है. इसके बाद गृह मंत्रालय इन संगठनों को फिर से भर्ती की सूची भेजता है.

चयन प्रक्रिया में देने होते हैं ये टेस्ट
एसपीजी में शामिल होने के लिए उम्‍मीदवारों को एसएसबी (SSB) की तरह कई चयन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है (SPG Selection Process). इनके पीआई, साइक और फिजिकल टेस्ट होते हैं. चयन प्रक्रिया के पहले चरण में आईजी (इंस्पेक्टर जनरल), दो डिप्टी आईजी और दो सहायक आईजी रैंक के आईपीएस अधिकारी व्यक्तिगत इंटरव्यू लेते हैं. इसके बाद एक फिजिकल टेस्ट, एक लिखित परीक्षा और एक मनोवैज्ञानिक मूल्यांकन आयोजित किया जाता है. इनमें सफल होने वाले उम्‍मीदवारों को स्‍पेशल ट्रेनिंग दी जाती है (SPG Commando Training).

ये भी पढ़ें:
UPSC Exam: टॉपर के इन टिप्स से बन जाएंगे IAS, कोचिंग जाने की भी नहीं पड़ेगी जरूरत
MBA Courses: कैट 2021 में 80 पर्सेंटाइल स्कोर करने वाले न हों परेशान, यहां से करें एमबीए

खास होती है SPG कमांडो की ट्रेनिंग
एसपीजी में आने वाले उम्‍मीदवार पहले से ही स्‍पेशल फोर्स (Special Force) में काम कर चुके होते हैं. हालांकि इसके बाद भी चयनित उम्मीदवारों को वर्ल्ड क्लास ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है (SPG Commando Training). यही ट्रेनिंग यूनाइटेड स्टेट सीक्रेट सर्विस एजेंट्स (US Secret Service Agents) को दी जाती है. इसमें जवानों को फिट, चौकस और टेक्नोलॉजी में परफेक्ट बनाया जाता है. देश के प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी होने के नाते एसपीजी का एक-एक कमांडर वन मैन आर्मी होता है. इसके बाद इन्‍हें 3 महीनों के लिए निगरानी पर रखा जाता है. इसमें साप्ताहिक परीक्षा भी शामिल होती है. प्रोबेशन में फेल होने वालों को अगले बैच में एक और मौका दिया जाता है और अगर वे फिर भी इसे क्लियर नहीं कर पाते हैं तो उन्हें मूल यूनिट में वापस भेज दिया जाता है.

एसपीजी कमांडो की सैलरी (SPG Commando Salary)
सैलरी (अनुमानित) – रु 84,236-रु 239,457
बोनस (अनुमानित) – रु 153-रु 16,913
प्रॉफिट शेयरिंग (अनुमानित) – रु 2.04-रु 121, 361
कमीशन (अनुमानित) – रु 10,000
टोटल सैलरी (अनुमानित) – रु 84,236-रु 244,632

अन्‍य सुविधाएं
ऑपरेशन ड्यूटी पर तैनात एसपीजी कमांडो को सालाना 27,800 रुपये और नॉन ऑपरेशन ड्यूटी में तैनात ऑफिसर्स को सालाना 21,225 रुपये का ड्रेस भत्ता अलग से मिलता है.

Tags: CISF Commandos, Indian Armed Forces, Indian army, Special training, पीएम नरेंद्र मोदी

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर