लाइव टीवी

होमवर्क ना करने पर टीचर ने दी ऐसी सजा, माता-पिता को करानी पड़ी पुल‍िस कम्‍प्‍लेन- Viral हुआ मामला

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 1:59 PM IST
होमवर्क ना करने पर टीचर ने दी ऐसी सजा, माता-पिता को करानी पड़ी पुल‍िस कम्‍प्‍लेन- Viral हुआ मामला
यह मामला पुणे स्‍थ‍ित स्‍कूल का है. स्‍कूल ने कहा क‍ि उन्‍होंने 100 उठक-बैठक करने को नहीं कहा था.

घर पहुंचने के बाद छात्र ने अपनी मम्‍मी से बताया क‍ि उठक-बैठक (sit-ups) करने के कारण वह खड़ा नहीं हो पा रहा है और उसके पेट में बहुत ज्‍यादा दर्द है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 1:59 PM IST
  • Share this:
पुणे: स्‍कूल में छात्रों को स‍िर्फ पढ़ाया ही नहीं जाता, बल्‍क‍ि जीवन में अनुशासन के महत्‍व को भी स‍िखाया जाता है. स‍िखाने की इस प्रक्रिया में कई बार श‍िक्षकों को छात्रों के साथ सख्‍ती से भी पेश आना पड़ता है. छात्रों के साथ क‍ितनी सख्‍ती बरतनी है, यह श‍िक्षकोंं को बखूबी मालूम होना चाह‍िए. पुणे (महाराष्‍ट्र) स्‍थ‍ित एक स्‍कूल के श‍िक्षक ने अनुशासन के नाम पर छात्र से इतनी सख्‍ती द‍िखाई क‍ि छात्र के अभ‍िभावकों को श‍िक्षक के ख‍िलाफ पुलिस श‍िकायत दर्ज करानी पड़ी. यह पूरा मामला सोशल मीड‍िया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

दरअसल, यह पूरा मामला होमवर्क न करने का है. 15 साल के छात्र को होमवर्क न करने के कारण श‍िक्षक ने 100 उठक-बैठक करने की सजा सुनाई. पुलिस के पास दर्ज श‍िकायत के अनुसार छात्र महावीर इंग्‍ल‍िश मीडियम स्‍कूल में कक्षा 10वीं में पढ़ाई करता है. ह‍िन्‍दी के श‍िक्षक ने छात्र को कक्षा से बाहर न‍िकाल द‍िया और वहां खड़े सेक्‍योरिटी गार्ड से छात्र को 100 उठक-बैठक कराने को कहा.

स्‍कूल से घर आने के बाद छात्र ने पेट और पैरों में दर्द की बात कही. उसने कहा क‍ि वह अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो पा रहा है. माता-पिता ने इस बारे में जब स्‍कूल से बात करने की कोश‍िश की तो, उन्‍होंने अगले द‍िन स्‍कूल आकर बात करने को कहा. पुलिस के अनुसार किशोर न्याय अधिनियम (Juvenile Justice Act) की प्रासंगिक धाराओं के आधार पर शिक्षक और सुरक्षा गार्ड दोनों के ख‍िलाफ श‍िकायत दर्ज कर ली गई है. हालांक‍ि मामले में अब तक कोई ग‍िरफ्तारी नहींं हुई है.

इसी बीच स्‍कूल प्रशासन का कहना है क‍ि छात्र को स‍िर्फ 15 से 20 उठक-बैठक (sit-ups) करने को कहा गया था. छात्र ने जब पेट दर्द की श‍िकायत की तो सेक्‍योरिटी गार्ड ने उसे रुकने को कह द‍िया था.

यह भी पढ़ें:
आवारा कुत्तों की जान बचाने के आइडिया ने जीता रतन टाटा का दिल, 27 साल के लड़के मिला साथ काम करने मौका

IAS Success Story: उस मां की कहानी, जो 2 साल के बच्चे को संभालते हुए बिना कोचिंग, बनी IAS

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 1:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...