CBSE 10th Revaluation 2020: सीबीएसई 10वीं मार्क्स वेरीफिकेशन का आज आखिरी दिन, जल्द करें अप्लाई

CBSE 10th Revaluation 2020: सीबीएसई 10वीं मार्क्स वेरीफिकेशन का आज आखिरी दिन, जल्द करें अप्लाई
सीबीएसई 10वीं में इस साल हाई स्कोर करने वाले छात्रों की संख्या घटी है.

मार्क्स वेरीफिकेशन एप्लीकेशन के साथ आंसर शीट की फोटो कॉपी और री-वैल्यूएशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

  • Share this:
सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (Central Board of Secondary Education, CBSE) 10वीं क्लास के मार्क्स वेरीफिकेशन के लिए विंडो आज बंद कर देगा. इसके लिए एप्लीकेशन प्रोसेस 20 जुलाई 2020 को शुरू किया गया था. 10वीं के मार्क्स वेरीफिकेशन एप्लीकेशन के लिए 24 जुलाई आखिरी तारीख है. अप्लाई करने के लिए कैंडिडेट्स cbse.nic.in पर विजिट करें. मार्क्स वेरीफिकेशन एप्लीकेशन के साथ आंसर शीट की फोटो कॉपी और री-वैल्यूएशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. चेक करें डिटेल.

-एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए cbse.nic.in पर जाएं.
-होम पेज पर दिए 10th verification link पर जाएं.
-इस लिंक के जरिए revaluation के लिए अप्लाई करें.
-इसके लिए roll number, five-digit school code, ,centre number की जरूरत पड़ेगी.
-साथ ही वो सबजेक्ट चुनें जिसकी वेरीफिकेशन के लिए अप्लाई करना है.





CBSE 10th Result Revaluation 2020: फीस डिटेल
-Verification of Marks- 20 से 24 जुलाई 2020, 500 रुपए प्रति सब्जेक्ट.
-Obtaining photocopy of evalyated answer books- 4, 5 अगस्त 2020, एक आंसर बुक के 700 रुपए.
-Re-evaluation- 10, 11 अगस्त 2020. एक सवाल के 100 रुपए.

CBSE 10th Revaluation 2020: जरूरी जानकारी
छात्र केवल सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2020 में दिए पेपर के लिए ही रीचेकिंग और पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं. दरअसल इस साल, कोविड 19 के कारण, कई परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकीं. सीबीएसई एक मूल्यांकन पद्धति पर सहमत हुआ और कुछ विषयों के लिए औसत अंक प्रदान किए.

पूरे प्रोसस के लिए फीस ऑनलाइन जमा होगी. पोस्टल ऑर्डर, DD या मनी ऑर्डर, चेक, कैश स्वीकार्य नहीं हैं.

एक रोल नंबर से केवल एक आवेदन स्वीकार किया जाएगा. छात्र नंबरों के वेरिफिकेशन के लिए जितने चाहें उतने विषयों का चयन कर सकते हैं.

नंबर बदले जाने की स्थिति में नए नंबर ही फाइनल माने जाएंगे.

Step 1: मार्क्स वेरिफिकेशन (री-टोटल)
शुरुआत में छात्र को फिर से नंबर जोड़ने के लिए अप्लाई करना होगा. जैसा कि स्पष्ट है, इसके तहत, सीबीएसई केवल कुल त्रुटियों के लिए उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करेगा. या फिर जो प्रश्न शिक्षक द्वारा छूट गया हो तो वह चेक होगा. इसके लिए बोर्ड की तरफ से फिक्स की गई फीस देनी होगी.

पहला प्रोसेस पूरा होने के बाद डही छात्र बाकी दो प्रोसेस के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

Step 2: आंसर शीट की फोटो कॉपी
यदि छात्र री-टोटल से संतुष्ट नहीं होगा तो उसे इस दूसरे स्टेप के लिए अप्लाई करन होगा. कॉपी ऑनलाइन उपलब्ध होन के बाद वे इसे चेक कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें-
देशभर की यूनिवर्सिटीज में फाइनल ईयर एग्जाम रद्द होंगे? पढ़ें SC का जवाब
UP बोर्ड: 9वीं, 11वीं में नया इंग्लिश सिलेबस- विदेशी लेखक बाहर, भारतीयों को जगह

Step 3: रीवैल्यूएशन
रीवैल्यूएशन फाइनल स्टेप है. छात्र, यदि को यकीन है उनका कोई प्रश्न गलत तरीके से चेक किया गया है, तो वे पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं. रीवैल्यूएशन सिर्फ चुनिंनदा सवालों के लिए होगा, पूरी कॉपी के लिए नहीं. कितने सवाल रीवैल्यूएशन के लिए दिए हैं. उसी मुताबिक फीस लगेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading