रद्द हो सकते हैं सीबीएसई बोर्ड एग्जाम! सोशल मीडिया पर जमकर उड़ रहा मजाक

रद्द हो सकते हैं सीबीएसई बोर्ड एग्जाम! सोशल मीडिया पर जमकर उड़ रहा मजाक
सीबीएसई की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं कोरोना वायरस के चलते स्थगित कर दी गईं थीं.

सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) की दसवीं और बारहवीं की बची हुई परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई तक होनी प्रस्तावित हैं, लेकिन इस पर अब असमंजस की स्थिति पैदा हा गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 24, 2020, 10:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई (CBSE) की दसवीं और बारहवीं की बची हुई परीक्षाओं को लेकर असमंजस गुरुवार को खत्म हो सकता है. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते स्थगित किए गए बोर्ड एग्जाम के लिए नई तारीखें 1 से 15 जुलाई तक तय की गई हैं, लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए ऐसा लग नहीं रहा है कि परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी. कुछ पेरेंट्स ने एग्जाम रद्द करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का रुख किया है. कोर्ट ने सीबीएसई से परीक्षाएं रद्द करने को लेकर उसका पक्ष पूछा है. सीबीएसई गुरुवार 24 जून को कोर्ट में अपना पक्ष रखेगा.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे मीम्स
1 से 15 जुलाई तक होने वाली परीक्षाएं रद्द करने को लेकर बनी असमंजस की स्थिति से स्टूडेंट्स भी खासे परेशान हैं. न केवल स्टूडेंट्स बल्कि पेरेंट्स भी इस मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. इस बीच, रद्द होने की संभावना को देखते हुए सोशल मीडिया पर इसे लेकर जमकर मीम्स बनाए जा रहे हैं. सीबीएसई (CBSE) हैशटैग के साथ स्टूडेंट्स द्वारा बनाए गए ये ट्वीट खूब वायरल हो रहे हैं. आइए नजर डालते हैं ऐसे ही कुछ मीम्स पर.





ये भी पढ़ें
टॉपर्स के नाम तक नहीं पढ़ सके शिक्षा मंत्री,प्रज्ञा को प्रयाग,तनु को कहा तांदू
SBI में निकली है बंपर वैकेंसी, जानें योग्यता और सेलेक्शन प्रोसेस

...तो इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर होंगे पास
बता दें कि कोरोना वायरस के चलते सीबीएसई की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाए स्थगित हो गईं थीं. बाद में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने परीक्षा के लिए नई तारीखों का ऐलान किया. सीबीएसई ने 29 मूल विषयों की परीक्षाएं आयोजित कराने का फैसला किया था. मगर अब देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों का देखते हुए एग्जाम रद्द करने की संभावना काफी अधिक हो गई है. ऐसा होता है तो स्टूडेंट्स को इंटरनल असेस्मेंट के नंबरों के आधार पर प्रमोट किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज