• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • CBSE board 12th रिजल्‍ट में इस रीजन ने मारी बाजी, दिल्‍ली दूसरे नंबर पर

CBSE board 12th रिजल्‍ट में इस रीजन ने मारी बाजी, दिल्‍ली दूसरे नंबर पर

सीबीएसई 12वीं रिजल्ट 2021 में त्रिवेंद्रम रीजन से सबसे ज्‍यादा बच्‍चे पास हुए हैं.

सीबीएसई 12वीं रिजल्ट 2021 में त्रिवेंद्रम रीजन से सबसे ज्‍यादा बच्‍चे पास हुए हैं.

CBSE Board class 12th results: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन की ओर से दिए गए आंकड़ों के अनुसार त्रिवेंद्रम का परीक्षा परिणाम इस बार 99.89 फीसदी रहा है. जबकि दूसरे नंबर पर दिल्‍ली के दोनों रीजन हैं. दिल्‍ली वेस्‍ट और दिल्‍ली ईस्‍ट रीजन का परीक्षा परिणाम इस बार 99.84 फीसदी रहा है.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. कोरोना के चलते इस बार अन्‍य राज्‍य बोर्ड की तरह ही सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने के बाद वैकल्पिक मूल्यांकन नीति के आधार पर परिणाम घोषित किया गया है. शुक्रवार यानि कल जारी हुए इस परीक्षा परिणाम में एक बार फिर त्रिवेंद्रम रीजन ने बाजी मारी है.

    सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की ओर से दिए गए आंकड़ों के अनुसार त्रिवेंद्रम (Trivandrum) का परीक्षा परिणाम इस बार 99.89 फीसदी रहा है. जबकि दूसरे नंबर पर दिल्‍ली के दोनों रीजन हैं. दिल्‍ली वेस्‍ट और दिल्‍ली ईस्‍ट रीजन का परीक्षा परिणाम इस बार 99.84 फीसदी रहा है. जबकि तीसरे नंबर पर बंगलुरू (Bengaluru) का परीक्षा परिणाम रहा. यहां 99.83 फीसदी बच्‍चों ने परीक्षा पास की है.

    सीबीएसई के कुल 16 रीजन में सबसे पीछे प्रयागराज रीजन (Prayagraj Region) रहा है. यहां 98.59 फीसदी बच्‍चों ने परीक्षा में सफलता हासिल की है. जबकि देहरादून (Dehradun) में 98.64 और पटना (Patna) में 98.91 फीसदी छात्र परीक्षा में सफल हुए हैं. इनके अलावा भुवनेश्‍वर, चेन्‍नई, पंचकुला, चंडीगढ़, भुवनेश्‍वर, भोपाल, पुणे, अजमेर, नोएडा और गुवाहाटी रीजन का परिणाम 99 फीसदी से ज्‍यादा रहा है.

    बता दें कि परीक्षाएं न होने के चलते इस बार कक्षा 10वीं के छात्रों का मूल्यांकन स्कूल स्तर पर शैक्षणिक वर्ष के दौरान आयोजित विभिन्न परीक्षाओं के आधार पर किया गया है. वहीं, कक्षा 12वीं का मूल्यांकन 10वीं और 11वीं में प्राप्त अंकों के असेसमेंट के आधार पर किया गया है.

    गौरतलब है कि मूल्‍यांकन और रिजल्‍ट की प्रक्रिया बदलने के कारण CBSE बोर्ड ने परिणाम घोषित करने से पहले एक बड़ा फैसला किया था जिसमें उसने कहा था कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अंतर्गत संचालित कोई भी स्कूल 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को मनमाने तरीके से 95 प्रतिशत से ज्यादा अंक नहीं देंगे. अगर कोई भी स्कूल बोर्ड के इस नियम का पालन नहीं करेगा तो बोर्ड खुद ही ऐसे छात्रों के नंबर कम कर देगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज