Home /News /career /

CBSE 10th Result 2019: परिणाम जारी, कोचिंग सिटी कोटा में बढ़ी हलचल

CBSE 10th Result 2019: परिणाम जारी, कोचिंग सिटी कोटा में बढ़ी हलचल

फाइल फाेटो

फाइल फाेटो

CBSE Board Class 10 Result 2019: दसवीं कक्षा के बाद मेडिकल और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के इच्छुक स्टूडेंट्स सीधे देश की कोचिंग सिटी कोटा की ओर रुख करते हैं. कोचिंग सिटी कोटा में भी सीबीएसई के रिजल्ट घोषित होने के बाद हलचल तेज हो जाती हैं.

अधिक पढ़ें ...
    सीबीएसई ने सोमवार को दसवीं का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया. 12वीं के बाद जहां स्टूडेंट्स कॉलेज में एडमिशन की तैयारी के लिए अपनी पसंदीदा कॉलेज की तलाश में रहते हैं, वहीं दसवीं कक्षा के बाद मेडिकल और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के इच्छुक स्टूडेंट्स सीधे देश की कोचिंग सिटी कोटा की ओर रुख करते हैं. कोचिंग सिटी कोटा में भी सीबीएसई के रिजल्ट घोषित होने के बाद हलचल तेज हो जाती हैं.

    CBSE 10th Result 2019: दसवीं का रिजल्ट जारी, यहां देखें

    शिक्षा नगरी कोटा में अभी करीब 1.40 लाख बच्चे कोचिंग सेंटर्स से जुड़े हुए हैं. पिछले कुछ समय से इनमें प्रतिवर्ष औसतन 10 से 15 फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है. इस बार भी यह बढ़ोतरी इतनी ही रहने का अनुमान है. कोटा में वर्तमान में इंजीनियरिंग और मेडिकल के दस बड़े और करीब 50 छोटे कोचिंग सेंटर्स हैं. इनमें देश के कोने-कोने से स्टूडेंट्स अपना करियर बनाने के लिए यहां आते हैं.

    RAS बनने के लिए 17 साल किया संघर्ष, सात बार दी परीक्षा, 7वीं बार में मिली सफलता

    यहां आने वाले छात्रों का उद्देश्य मेडिकल की NEET और AIIMS तथा इंजीनियरिंग की जेईई मेन्स एव जेईई एडवांस जैसी प्रतिष्ठित परीक्षाओं की तैयारी करना होता है. मेडिकल और इंजीनियरिंग से जुड़े छात्रों का यहां अनुपात करीब 40-60 फीसदी है. यहां अध्ययनरत स्टूडेंट्स में से 60 फीसदी जहां इंजीनियरिंग की तैयारी के लिए आते हैं, वहीं 40 फीसदी मेडिकल में अपना भविष्य खोजते हैं.

    हौंसले और जज्बे की कहानी, अनिशा ने थर्ड स्टेज के कैंसर से जूझकर क्रेक किया AIPMT

    कोचिंग सिटी कोटा। फाइल फोटो।


    टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है स्टूडेंट्स को
    अभी कोटा में राजस्थान के अलावा बाहर से आने वाले स्टूडेंट्स में उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, उड़ीसा, दिल्ली, जम्मू एंड कश्मीर के बच्चों की तादाद बढ़ रही है. सीबीएसई के परीक्षा परिणामों के साथ ही कोचिंग सेंटर्स में एडमिशन की हलचलें शुरू हो चुकी है. मेडिकल और इंजीनियरिंग के कोचिंग सेंटर में प्रवेश के स्टूडेंट्स को प्री-टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है. उसके बाद ही कोचिंग सेंटर्स स्टूडेंट्स को प्रवेश देते हैं.

    CBSE 12th Results: अजमेर क्षेत्र में केन्द्रीय व नवोदय विद्यालयों का रहा दबदबा

    कोई बहुत बड़ा टास्क नहीं
    शिक्षा नगरी कोटा में विभिन्न कोचिंग सेंटर्स से जुड़े लोगों का मनाना है कि यह कोई बहुत बड़ा टास्क नहीं है. लगभग सभी कोचिंग सेंटर्स को अपनी एंट्रेस टेस्ट पेपर सीबीएसई और आरबीएसई समेत विभन्न बोर्डों में चलने वाले मैथ्स एवं साइंस के कॉमन पाठ्यक्रमों पर आधारित होता है. इसका मकसद स्टूडेंट्स का महज सामान्य बोदि्धक स्तर को परखना होता है. इसका स्टूडेंट्स के दसवीं प्रतिशत से कोई लेना-देना नहीं है. लिहाजा कोई स्टू्डेंट्स अपने कम प्रतिशत देखकर मायूस ना हों.

    कम नंबर वाले स्टूडेंट निराश न हों, कई विकल्प खुले हैं, यहां देखें एक्सपर्ट के टिप्स

    ये भी पढ़ें- CBSE 12th result 2019: स्टूडेंट्स के लिए ये हैं दिल्ली के कॉलेजों में एडमिशन के विकल्प

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Cbse, CBSE 10th Class Result, CBSE board results, Cbse results, Kota news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर