• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • सीबीएसई 10वीं-12वीं के जुलाई में होने वाले एग्जाम रद्द होंगे, जानिए अब स्टूडेंट्स के पास क्या हैं विकल्प

सीबीएसई 10वीं-12वीं के जुलाई में होने वाले एग्जाम रद्द होंगे, जानिए अब स्टूडेंट्स के पास क्या हैं विकल्प

जुलाई में सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं क्लास के 29 मूल विषयों की परीक्षाएं होनी थी.

जुलाई में सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं क्लास के 29 मूल विषयों की परीक्षाएं होनी थी.

cbse board exam : सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं के बचे हुए 29 मूल विषयों की परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई तक होनी थीं, लेकिन कोविड19 (Covid19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए परीक्षाएं रद्द करने का फैसला लिया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. सीबीएसई बोर्ड एग्जाम (CBSE Board Exam) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. देशभर में कोरोना वायरस के लगातार तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई के दसवीं और बारहवीं के 1 से 15 जुलाई के बीच होने वाली परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया गया है. केंद्र सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने शीर्ष अदालत को अपने इस फैसले से अवगत कराया. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से नई नोटिफिकेशन जारी करने को कहा है. अब सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को दोबारा सुनवाई होगी. सुनवाई दो बिंदुओं पर होगी. पहला ये कि रिजल्ट कब निकलेंगे और नया सेशन कब शुरू होगा. दूसरा ये कि राज्य के बोर्ड एग्जाम का क्या होगा.

सीबीएसई बोर्ड की लंबित परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई तक होनी थीं. मगर एग्जाम रद्द करने को लेकर कुछ पेरेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर की थी, जिसके बाद कोर्ट ने सीबीएसई से पूछा था कि क्या परीक्षाएं रद्द की जा सकती हैं. इसी के बाद अब बोर्ड ने अपना जवाब दाखिल करते हुए कोर्ट को दसवीं और बारहवीं की बची परीक्षाएं रद्द करने के फैसले की जानकारी दी. स्थिति सामान्य होने पर 12वीं की परीक्षाएं कराई जा सकती हैं.



12वीं के स्टूडेंट्स ऐसे समझें
- पिछले तीन एग्जाम के आधार पर आकलन कर नंबर दिए जाएंगे.
- ये मार्किंग या असेस्मेंट सिर्फ बचे हुए पेपर के लिए है जिनका अब तक एग्जाम नहीं हो पाया है.
- जो छात्र इस साल आयोजित हो चुके अपने तीन एग्जाम में बेहतर नहीं कर पाए हैं और लंबित एग्जाम देना चाहते हैं उनके पास स्थिति सामान्य होने पर परीक्षा देने का विकल्प होगा.
- इसके लिए कोई समय तय नहीं किया गया है. हालात को देखते हुए फैसला लिया जाएगा.

10वीं के स्टूडेंट्स ऐसे समझें
- दसवीं के किसी लंबित पेपर की परीक्षा नहीं होगी.

टाइमलाइन पर कल नोटिफिकेशन जारी करेगा केंद्र
सरकार ने जो आज हलफनामा सुप्रीम कोर्ट में जमा किया उसमे बहुत सी बातों में स्पष्टता नहीं थी. जैसे कोई टाइमलाइन या समय नहीं तय किया गया है कि कब क्या होगा. कब रिजल्ट आएगा और कब से नया दाखिला शुरू होगा. सॉलिसिटर जनरल ने एक अंदाज़ा लगा कर बताया की सारी चीज़े 15 अगस्त तक हो जाएंगी और नया सेशन सितंबर में शुरू होगा. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार जब शुक्रवार को अपना नोटिफिकेशन जारी करे तो उसमे एक टाइमलाइन भी बताए ताकि हर बात में स्पष्टता हो.

अगला सत्र सितंबर से हो सकता है शुरू
केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि स्कूल और कॉलेज का अगला सेशन अब सितंबर से शुरू होगा. इसलिए सरकार कोशिश करेगी की 15 अगस्त से पहले रिजल्ट आ जाए.

राज्यों के बोर्ड एग्जाम का क्या होगा
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से ये भी पूछा कि राज्य के बोर्ड एग्जाम का क्या होगा. राज्यों के स्कूल तो CBSE के अधीन नहीं आते. सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि वह इस पर पूरी जानकारी लेकर कोर्ट के सामने दोबारा पेश होंगे.

अगस्त में नतीजे आने की उम्मीद बढ़ी
ऐसे में जबकि सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) ने दसवीं और बारहवीं की बची परीक्षाएं रद्द करने का फैसला कर ही लिया है तो स्टूडेंट्स के बीच जल्द ही नतीजे आने की उम्मीद भी परवान चढ़ने लगी है. दरअसल, सीबीएसई बोर्ड ने लॉकडाउन से पूर्व हो चुके पेपर की कॉपियों के मूल्यांकन का काम पहले ही शुरू कर दिया था. अब जबकि बची परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं तो माना जा रहा है कि बोर्ड जुलाई के अंत तक या अगस्त में परिणाम की घोषणा कर देगा. बता दें कि पिछले साल 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट 2 मई को घोषित कर दिया गया था, जबकि दसवीं की परीक्षा के नतीजे 6 मई को आए थे.

ये भी पढ़ें :-
बड़ी बात : 8 लाख से ज्यादा छात्र आज से देंगे 10वीं की परीक्षा, पेरेंट्स चिंतित

UP Board : यूपी बोर्ड 12वीं की पिछले साल की टॉपर अब क्या कर रहीं हैं, जानिए

29 विषयों के ​होने थे एग्जाम
दरअसल, देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लॉकडाउन (Lockdown) घोषित करने से पहले ही सीबीएसई परीक्षाएं (CBSE Exam) शुरू हो चुकी थीं. हालांकि लॉकडाउन के बाद कुछ परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला किया गया. बाद में तय किया गया कि दसवीं और बारहवीं के 29 मूल विषयों की परीक्षाएं एक जुलाई से 15 जुलाई तक आयोजित कराई जाएंगी. यहां तक कि मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इसके लिए डेटशीट भी जारी कर दी थी. इसके तहत दसवीं की परीक्षा केवल उत्तर-पूर्वी दिल्ली के इलाकों में होनी थी जहां हिंसा के चलते परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकी थीं. वहीं 12वीं की परीक्षाएं देशभर में आयोजित करने का फैसला लिया गया था. हालांकि अब कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इन परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला ले लिया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन