CBSE Board Exam: परीक्षा से लेकर नतीजे तक की डेट...ये दस बातें जरूरी है जानना

CBSE Board Exam: परीक्षा से लेकर नतीजे तक की डेट...ये दस बातें जरूरी है जानना
कॉपियों का मूल्यांकन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

CBSE Board Exam: सीबीएसई बोर्ड की बची परीक्षाओं और रिजल्ट को लेकर फैले असमंजस से बचने के लिए ये खबर पढ़ें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 8:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लागू किए लॉकडाउन (Lockdown) के बाद देश में शिक्षा विभाग की गतिविधियां भी ठप्प हो गईं हैं. यही वजह है कि छात्रों में असमंजस का माहौल बना हुआ है. सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) की दसवीं और बारहवीं की कुछ परीक्षाएं लॉकडाउन के चलते आयोजित नहीं हो सकी थीं, लेकिन अब उम्मीद की जा रही है कि तीन मई को लॉकडाउन खत्म होने के बाद परीक्षाए आयोजित की जा सकेंगी और जल्द से जल्द इसका नतीजा भी घोषित कर दिया जाएगा. सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं से जुड़ी किसी भी जानकारी से छात्रों को कोई कंफ्यूजन न हो, इसलिए हम आपके लिए कुछ अहम जानकारियां लेकर आए हैं. जानिए ऐसी ही दस बड़ी बातें.

1. 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है. सीबीएसई (CBSE) के 1 अप्रैल को जारी सर्कुलर के अनुसार, दसवीं और बारहवीं के बचे हुए 29 विषयों की परीक्षा लॉकडाउन (Lockdown) के खत्म होने के बाद आयोजित की जाएगी. माना जा रहा है कि लॉकडाउन खत्म होने के 20 दिनों में परीक्षा आयोजित करा ली जाएंगी.

2. सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) के अनुसार, लॉकडाउन के बाद बची हुई परीक्षाएं शुरू होने से 10 दिन पहले इस बारे में जानकारी दे दी जाएगी.



3. सर्कुलर के अनुसार, 10वीं की परीक्षाएं सिर्फ पूर्वी दिल्ली स्थित स्कूलों के स्टूडेंट्स को ही देनी होंगी, जिनकी परीक्षाएं हिंसा की वजह से बीच में ही रोकनी पड़ी थीं. बाकी स्टूडेंट्स को 10वीं की परीक्षाएं नहीं देनी होंगी. मगर 12वीं के छात्रों को मूल विषयों की परीक्षाएं देनी होंगी.
4. विदेशों में बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर सीबीएसई पहले ही रुख साफ कर चुका है. इसके अनुसार, विदेशों में बोर्ड की बची हुई परीक्षाएं आयोजित नहीं की जाएंगी.

5. कॉपियों की चेकिंग के बारे में बोर्ड ने कहा कि अभी की परिस्थिति को देखते हुए कॉपियों की चेकिंग नहीं हो सकती. इस बारे में बोर्ड आगे सूचना जारी करेगा. साथ ही बोर्ड ने ये भी कहा कि अभी यह भी नहीं बताया जा सकता है कि किन-किन सेंटर्स पर कॉपी चेक की जाएगी.

6. सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के अनुसार, इस साल भी सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट समय पर ही आ सकता है. इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं.

7. पूर्वी दिल्ली के स्कूलों में कक्षा 10वीं की परीक्षाएं हिंदी कोर्स ए, हिंदी कोर्स बी, इंग्लिश कम्युनिकेशन, इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर, साइंस और सोशल साइंस विषयों के लिए आयोजित की जाएंगी.

8. पूर्वी दिल्ली स्थित स्कूलों में 12वीं क्लास के लिए अंग्रेजी इलेक्टिव-एन, अंग्रेजी इलेक्टिव-सी, इंग्लिश कोर, गणित, इकोनॉमिक्स, बायोलॉजी, राजनीति विज्ञान, इतिहास, फीजिक्स, अकाउंट्स और केमिस्ट्री की परीक्षाएं आयोजित होंगी. बाकी देश में कक्षा 12 की परीक्षाएं बिजनेस स्टडी, भूगोल, हिंदी (इलेक्टिव, कोर), होम साइंस, सोशियोलॉजी, कंप्यूटर साइंस (पुराना), कंप्यूटर साइंस (नया) के लिए आयोजित होंगी.

9. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सभी राज्यों से अपील की कि वे बोर्ड परीक्षाओं (Board Exams) की आंसर शीट्स जांचने की प्रक्रिया शुरू करें. इसके साथ ही सभी राज्यों से कहा की वे सीबीएसई (CBSE) को अपने राज्यों में छात्रों की आंसर शीट्स जांचने की प्रक्रिया की सुविधा दें.

10. सीबीएसई ने सर्कुलर में ये भी बताया है कि किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें. सिर्फ बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर दी गई सूचना पर ही विश्वास करें.

ग्रेजुएशन किए बिना एक्टर नहीं बन पाते इरफान खान, जानिए क्या है पूरी कहानी

Job Alert : इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स के लिए यहां है नौकरी का मौका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज