CBSE Class 10, 12 Exams: स्‍कूल करिकुलम में जुड़ रहे हैं ये नये विषय, छात्रों और अभिभावकों को होना चाहिए मालूम

CBSE

CBSE

CBSE Class 10, 12 Exams: अगर आपका बच्‍चा 10वीं या 12वीं में जाने वाला है तो आपको यह मालूम होना चाहिए कि इस बार 10वीं और 12वीं के करिकुलम में कौन से नये विषय जुड़ने वाले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2019, 8:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: छात्रों की विश्लेषणात्मक क्षमता, शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के उद्देश्य से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने स्कूली पाठ्यक्रम में नए विषयों को जोड़ने का फैसला लिया है. इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट (AI), बचपन की देखभाल की शिक्षा और योग विषय शामिल हैं. आगामी शैक्षणिक सत्र के करिकुलम में ये विषय शामिल किए जाएंगे. (यह भी पढ़ें : CBSE Economics 2019 Paper Tips: आज अर्थशास्‍त्र का पेपर, इन टॉपिक्‍स पर आ सकते हैं सवाल)



सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बोर्ड की हालिया बैठक में यह निर्णय लिया गया है. सीबीएसई सत्र 2019-2020 से कक्षा 9वीं में वैकल्पिक 6वें विषय के रूप में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को रखा जाएगा. बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बहुविषयक दृष्टिकोण को बढ़ाने के लिए और नई पीढ़ी को संवेदनशील बनाने के लिए, यह निर्णय लिया गया कि स्कूल कक्षा 8वीं में 12 घंटे का एआई "प्रेरित मॉड्यूल" शुरू कर सकते हैं.



उन्होंने आगे बताया कि बोर्ड ने वरिष्ठ माध्यमिक स्तर पर योग और प्रारंभिक बचपन की शिक्षा को वैकल्पिक विषयों के रूप में पेश करने का निर्णय लिया है. स्‍कूलों में योग पेशेवरों और शिक्षकों की भारी आवश्यकता का अनुमान लगाने वाली विभिन्न रिपोर्टों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. माध्यमिक स्तर पर मौजूदा पांच अनिवार्य विषयों के साथ छठे अतिरिक्‍त विषय के रूप स्‍क‍िल सब्‍जेक्‍ट की पेशकश की जा सकती है.





यह भी पढ़ें: CBSE ने 12वीं के बाद दाखिले के लिए जारी की कोर्स और कॉलेजों की सूची, देखें
यदि कोई छात्र तीन वैकल्पिक विषयों (विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान) में से किसी एक में फेल हो जाता है, तो उसे स्‍किल विषय से बदल दिया जाएगा और 10वीं का रिजल्‍ट बेस्‍ट पांच विषयों के आधार पर तैयार किया जाएगा. हालांकि अगर छात्र फेल हुए विषयों की परीक्षा दोबारा देना चाहता है तो वह कंपार्टमेंट परीक्षा दे सकता है. यह विकल्‍प उसके पास खुला हुआ है.



इसी तरह सीनियर सेकेंडरी स्‍तर पर 42 विषयों के अलावा बोर्ड ने स्‍कूलों को कोई भी एक स्‍क‍िल आधारित विषय का चुनाव करने का सुझाव दिया है. इन विषयों को शुरू करने और पढ़ाने के लिए सीबीएसई शिक्षकों को जरूरी ट्रेनिंग भी देगा.



करियर और जॉब्स से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज