CBSE ने एग्‍जाम फीस के साथ बढ़ाया माइग्रेशन और अन्‍य परीक्षाओं का शुल्‍क, पढ़ें ये ताजा Update

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने SC और ST छात्रों के लिए कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं की फीस 50 रुपये से बढ़ाकर 1,200 रुपये कर दी है, जबकि सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए यह राशि दोगुनी कर दी है, जिन्हें अब 1500 रुपये भुगतान करना होगा.

News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:24 AM IST
CBSE ने एग्‍जाम फीस के साथ बढ़ाया माइग्रेशन और अन्‍य परीक्षाओं का शुल्‍क, पढ़ें ये ताजा Update
सीबीएसई बोर्ड ने बढ़ाई फीस
News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:24 AM IST
यह खबर पढ़ने के बाद छात्रों को एक बड़ा झटका लग सकता है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने SC और ST छात्रों के लिए कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के शुल्क में 24 गुना की वृद्धि की है. सीबीएसई ने रविवार को एक नोटिफिकेशन जारी कर यह जानकारी दी है. नोटिफिकेशन के बाद अब छात्रों SC और ST श्रेणी के छात्रों को परीक्षा शुल्‍क के रूप में 50 रुपये की जगह 1200 रुपये जमा करने होंगे. साथ ही सामान्‍य वर्ग के छात्रों के लिये भी परीक्षा शुल्‍क में दोगुना की बढ़ोतरी की गई है. सामान्‍य वर्ग के छात्रों को अब परीक्षा शुल्‍क के रूप में 1,500 रुपये जमा करने होंगे. इससे पहले सामान्‍य वर्ग के छात्रों को परीक्षा शुल्‍क के रूप में 750 रुपये जमा करने होते थे. इसके साथ ही सीबीएसई ने अतिर‍िक्‍त परीक्षा और माइग्रेशन शुल्‍क में भी बढ़ोतरी कर दी है. यह भी पढ़ें: CBSE Exam 2020: मैथ्स में कमज़ोर स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, 10वीं में होंगे मैथ्स के दो पेपर

सीबीएसई (CBSE) के वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा कि संशोधित मानदंडों के अनुसार, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को अब पांच विषयों के लिए 1,200 रुपये का भुगतान करना होगा. वहीं सामान्‍य वर्ग के छात्रों को अब पांच व‍िषयों के ल‍िये 1500 रुपये का शुल्‍क जमा करना होगा. यह परीक्षा शुल्‍क 10वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के लि‍ये लागू है. यह भी पढ़ें: विकलांगता के बावजूद पहली बार में 9वीं रैंक हासिल कर बनीं IAS

अतिर‍िक्‍त परीक्षा के ल‍िये शुल्‍क अलग:
इससे पहले, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा में अतिरिक्त परीक्षा में बैठने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता था. अब से उन्हें इसके लिए 300 रुपये अतिरिक्त देने होंगे. सामान्य श्रेणी के छात्रों को भी अतिरिक्त विषय के लिए 300 रुपये का भुगतान करना होगा. इसके लिये पहले 150 रुपये देने होते थे.

अधिकारियों के अनुसार 100 फीसदी दृष्टिहीन छात्रों को सीबीएसई परीक्षा शुल्क का भुगतान करने से छूट दी गई है. अन्‍य छात्रों को आखिरी तारीख से पहले परीक्षा शुल्‍क का भुगतान करना होगा. छात्र अगर ऐसा नहीं कर पाते हैं, तो उन्‍हें 2019-20 परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं म‍िलेगी. यह भी पढ़ें: CBSE एग्जाम में बैठने के लिए स्टूडेंट्स को देनी होगी डबल फीस

माइग्रेशन फीस में भी बढ़ोतरी:
बोर्ड ने माइग्रेशन फीस में भी बढ़ोतरी की है. माइग्रेशन फीस की राश‍ि 150 से बढ़ाकर 350 कर दी गई है. विदेश में CBSE स्कूलों में नामांकित छात्रों को अब 5000 रुपये के बजाय कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं दोनों के लिए पांच विषयों के लिए 10,000 रुपये का भुगतान करना होगा.
Loading...

छात्र और माता-पिता कर रहे आलोचना:
बोर्ड के इस फैसले के बाद छात्र और माता-पिता इस फैसले की आलोचना कर रहे हैं. इसमें द‍िल्‍ली से सबसे ज्‍यादा प्रतिक्रियाएं आई हैं. इस पर बोर्ड ने कहा नये न‍ियम पूरे देश और दुन‍िया में लागू हैं. यह स‍िर्फ द‍िल्‍ली के ल‍िये नहीं है. CBSE ने कहा क‍ि बोर्ड ने पांच साल के बाद शुल्‍क में बढ़ोतरी की है.

यह भी पढ़ें:

Bihar Board 2020: 10वीं-12वीं का टाइमटेबल जारी, biharboard online.bihar.gov.in पर देखें

नवोदय विद्यालय ने 2370 वैकेंसी के लिए बढ़ाई आखिरी तारीख
First published: August 12, 2019, 11:10 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...