Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    CBSE 9वीं-12वीं के सिलेबस से हटाए चैप्टर ला सकते हैं छात्रों के लिए परेशानी

    CBSE ने घटाया 9वीं से 12वीं तक का 30% सिलेबस
    CBSE ने घटाया 9वीं से 12वीं तक का 30% सिलेबस

    CBSE ने NCERT को इस साल IX से XII तक के कुछ विवादास्पद अध्यायों को ड्रॉप करने के लिए कहा है.

    • Share this:
    सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (Central Board of Secondary Education, CBSE) ने घोषणा की है, वर्तमान अकादमिक सत्र के लिए 9वीं से 12वीं तक का 30% सिलेबस घटाया जाएगा. इस निर्णय का स्वागत कोरोनोवायरस महामारी की वजह से मुश्किलों से गुजरने वालों ने किया है.

    सिलेबस घटाने के फैसले के साथ ही दूसरी मुश्किलें सामने आ रही हैं. आशंका जताई जा रही है पाठ्यक्रम से प्रमुख अध्यायों को निकालने से प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए वर्तमान बैच की तैयारी प्रभावित हो सकती है.

    मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल द्वारा सीबीएसई से देश और दुनिया में चल रही असाधारण स्थिति को ध्यान में रखते हुए पाठ्यक्रम को संशोधित करने के लिए कहा गया था. इसके बाद ही सीबीएसई ने ये फैसला लिया है. महामारी के दौरान हुए नुकसान के लिए भी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सभी ग्रेड के लिए पहले यही सुझाव दिया था.



    सीबीएसई पाठ्यक्रम घटाने से स्कूल के शिक्षकों और छात्रों पर बोझ कम होगा. जो लगभग दो महीने का समय निकल जाने के बाद ऑनलाइन मोड से कक्षाओं को सामान्य बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.
    हालांकि, एक रणनीतिक संशोधन (strategic revision) के बिना, अंतिम में परिणाम उस बैच को प्रभावित कर सकता है जो उच्च अध्ययन के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं (competitive exams) में शामिल होना चाहते हैं.

    दिलचस्प बात यह है कि CBSE ने NCERT को इस साल IX से XII तक के कुछ विवादास्पद अध्यायों को ड्रॉप करने के लिए कहा है. उदाहरण के लिए सोशल साइंस से democratic rights, challenges to democracy, citizenship, food security, gender, religion, caste and secularism जैसे चैप्टर हटाने के लिए कहा है.

    ये भी पढ़ें
    Jharkhand Board 10th Result: झारखंड बोर्ड 10वीं का रिजल्ट इन वेबसाइट पर देखें
    RBSE 12th Science Result: राजस्थान बोर्ड 12वीं का रिजल्ट इन वेबसाइट्स पर देखें

    कक्षा XII की किताबों से, NCERT ने सरकार की पंचवर्षीय योजना से निपटने वाले सेक्शन को हटाने का निर्णय लिया है. इसके अलावा जो चैप्टर हटाए जाएंगे उसमें economic development under ‘Planned Development’, भारत के पड़ोसी पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका और म्यांमार के साथ संबंध (India’s relations with neighbours Pakistan, Bangladesh, Nepal, Sri Lanka and Myanmar) ये टॉपिक ‘India’s Foreign Policy’ चैप्टर में हैं. भारत में सामाजिक आंदोलनों और क्षेत्रीय आकांक्षाओं पर एक पूरे अध्याय को ड्रॉप किया जाएगा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज