CBSE 12th Results 2020: पांच सालों में सबसे ज्यादा रहा इस साल का रिजल्ट, जानिए पिछला ट्रेंड

CBSE 12th Results 2020: पांच सालों में सबसे ज्यादा रहा इस साल का रिजल्ट, जानिए पिछला ट्रेंड
सीबीएसई ने 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है.

CBSE Board 10th 12th Result: सीबीएसई ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस साल का रिजल्ट पिछले पांच सालों में सबसे अच्छा रहा है. अब सबकी निगाहें दसवीं के रिजल्ट पर टिकी हुई हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. लाखों छात्र केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई बोर्ड (Central Board of Secondary Education) की 12वीं कक्षा के रिजल्ट (CBSE Board Results 2020) का इंतज़ार कर छात्रों का इंतज़ार खत्म हो चुका है. सीबीएसई ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है. सीबीएसई ने भी जुलाई में होने वाली बची हुई परीक्षाओं को कैंसिल करने के बाद 15 जुलाई तक रिजल्ट जारी करने की घोषणा की थी. अब छात्रों को दसवीं कक्षा के रिजल्ट का इंतज़ार है. इस साल 88.78 फीसदी रिजल्ट रहा है. जो कि पिछले पांच सालों में सबसे ज्यादा है. इस ट्रेंड से यह भी अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि दसवीं का रिजल्ट कब तक आएगा. बाकी इस साल का रिजल्ट पिछले सालों के मामले में कैसे अलग इसके लिए देखते हैं पिछले पांच सालों के ट्रेंड-

पिछले साल का ऐसा रहा ट्रेंड
पिछले साल यानी 2019 में सीबीएसई ने दोनों कक्षाओं के रिजल्ट को अलग अलग जारी किया था. 10वीं और 12वीं के रिजल्ट के जारी होने में चार दिन का अंतर था. 2 मई को बोर्ड ने 12वीं का और 6 मई को 10वीं का रिजल्ट जारी किया था. खास बात थी कि सीबीएसई ने रिजल्ट जारी करने से पहले कोई सूचना भी नहीं दी थी और अचानक रिजल्ट की घोषणा कर दी थी. पिछले साल 12वीं का पास प्रतिशत 83.4 और 10वीं का पास प्रतिशथ 91.10 था.

साल 2018 में अलग अलग दिनों में जारी हुआ रिजल्ट
साल 2018 में भी 26 मई को 12वीं का रिजल्ट और 29 मई को 10वीं का जारी किया गया था. इस तरह से दोनों रिज़ल्ट्स के बीच में तीन दिन का अंतर था. साल 2018 में करीब 28 लाख छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया था जिसमें से दसवीं का पास प्रतिशत 90.95 और 12वीं का पास प्रतिशत 82.02 था.



साल 2017 में मई और जून में जारी हुआ रिजल्ट
इस साल सीबीएसई को रिजल्ट जारी करने में कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ा और रिजल्ट जारी करने की तारीख को आगे बढ़ाना पड़ा. फिर सीबीएसई ने 28 मई को 12वीं का और 3 जून को 10वीं का रिजल्ट जारी किया. इस साल दसवीं का रिजल्ट 90.95 फीसदी जबकि 12वीं का रिजल्ट 82.02 फीसदी रहा. यानी इस साल दोनों रिजल्ट्स के बीच में भी 5 दिन का अंतर रहा.

साल 2016 में दोनों कक्षाओं के रिजल्ट में था 6 दिन का अंतर
इस साल दसवीं का रिजल्ट पहले जारी किया गया. 10वीं का रिजल्ट 28 मई को जबकि 12वीं का रिजल्ट 21 मई को जारी किया गया. इस तरह से दोनों कक्षाओं के रिजल्ट में एक हफ्ते से ज्यादा का अंतर भी रहा. साल 2016 में 12वीं का रिजल्ट 83.5 फीसदी रहा जबकि दसवीं का पास प्रतिशत 96.21 रहा. दोनों ही कक्षाओं में लड़कियों का परफॉर्मेंस लड़कों से बेहतर रही है.

साल 2015 लड़कियों का पास प्रतिशत लड़कों से ज्यादा रहा
इस साल सीबीएसई ने 12वीं का रिजल्ट 25 मई जबकि दसवीं का रिजल्ट 28 मई को घोषित किया गया. इस साल दसवीं का कुल पास प्रतिशत 97.32 फीसदी जबकि 12वीं का पास प्रतिशत 82 फीसदी रहा.

कब आएगा दसवीं का रिजल्ट
12वीं का रिजल्ट घोषित होने के साथ ही अब सबकी निगाहें दसवीं के रिजल्ट पर लगी हुई हैं. पहले यह माना जा रहा था कि शायद इस साल कोरोना महामारी की वजह से जो देरी हुई है उसकी वजह से दोनों कक्षाओं के रिजल्ट साथ साथ ही घोषित कर दिए जाएं. लेकिन ऐसा नहीं हुआ और हर साल की तरह इस साल भी 12वीं का रिजल्ट पहले घोषित किया गया. अब सबकी निगाहें 10वीं की परीक्षा पर लगी हुई हैं. अब चूंकि सीबीएसई ने कहा है कि 15 जुलाई तक रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा इसलिए या तो रिजल्ट कल आएगा नहीं तो 15 जुलाई को. हालांकि, लोगों का मानना है कि रिजल्ट कल आएगा. हालांकि, अभी तक इस बारे में बोर्ड ने कोई सूचना नहीं दी है.

हर साल मई में आता है रिजल्ट
हर साल रिजल्ट मई महीने में जारी हो जाता था लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के चलते अभी तक रिजल्ट की घोषणा नहीं हो पाई है. ऐसे में यह भी हो सकता है कि बोर्ड एक ही दिन में दोनों रिजल्ट घोषित कर दें, क्योंकि अब 15 जुलाई में ज़्यादा दिन भी नहीं बचे हैं.

ये भी पढ़ें-
कोरोना संकट: महाराष्ट्र के मंत्री बोले-छात्रों के जीवन से खेलना बंद करे केंद्र
National Award to Teachers 2020: एमएचआरडी ने 15 जुलाई तक बढ़ाई आवेदन की आखिरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading