Home /News /career /

CG बोर्ड के इस टॉपर को नहीं पसंद थी पढ़ाई, क्रिकेट में कॅरियर बनाने को बहा रहा पसीना

CG बोर्ड के इस टॉपर को नहीं पसंद थी पढ़ाई, क्रिकेट में कॅरियर बनाने को बहा रहा पसीना

शिवकुमार पांडेय. फाइल फोटो.

शिवकुमार पांडेय. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ की बोर्ड परीक्षा में टॉप करने के बाद बधाई देने वालों का एक ही सवाल था...शिव अब आगे क्या करेगा? शिवकुमार पांडेय का जवाब था...क्रिकेटर बनूंगा.

    9 मई 2018 को छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के सिमगा में रहने वाले सामान्य परिवार के मनोकामना पांडेय के घर में अचानक मीडिया का जमावड़ा लग गया. उनका बेटा शिवकुमार पांडेय छत्तीसगढ़ बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (CGBSE) की कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा में पूरे प्रदेश में टॉप किया था. गणित समूह के छात्र शिवकुमार ने 98.40 ​प्रतिशत अंकों के साथ प्रदेश में पहला स्थान पाया था. शिव को कुल 500 में से 492 अंक मिले थे. 12वीं बोर्ड परीक्षा में फर्स्ट रैंक वाले शिवकुमार को कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में स्टेट में आठवां रैंक मिला था.

    मीडिया के साथ ही बधाई देने वालों का एक ही सवाल था....शिव अब आगे क्या करेगा? टॉपर शिवकुमार पांडेय का जवाब था...क्रिकेटर बनूंगा. एक आम धारणा को पाले लोग टॉपर के इस जवाब से थोड़ा हैरान हुए. उन्हें उम्मीद थी कि जवाब सिविल सर्विसेस, इंजीनियर, साइंटिस्ट या इसी तरह का कोई और कॅरियर ऑप्शन के रूप में मिलेगा.



    क्रिकेट प्रैक्टिस करते शिवकुमार पांडेय. फाइल फोटो.


    सीजीबीएसई 10 मई को दोपहर एक बजे सत्र 2018-19 की कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट जारी करेगा. ठीक एक साल पहले 12वीं बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाले शिवकुमार पांडेय से न्यूज 18 ने बात की. शिव ने बताया कि वे इस समय भिलाई में हैं और स्टेट क्रिकेट टीम में सलेक्शन के लिए हो रहे टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली एक टीम का हिस्सा हैं. स्टेट टीम में शामिल होने के लिए वे खूब पसीना बहा रहे हैं.

    न्‍यूज 18 हिंदी पर रिजल्‍ट चेक करने के लिए यहां क्‍लिक करें.

    पेशे से आउटडोर फोटोग्राफर और एलआईसी एजेंट मनोकामना पांडेय कहते हैं कि पिछले साल 12वीं का रिजल्ट घोषित होने के बाद शिव ने किसी कॉलेज में दाखिले के लिए आवेदन तक नहीं किया. वो क्रिकेट की बारीकियों को सीखने बैंगलोर की एक एकेडमी में चले गया. कुछ महीने बाद वो वापस छत्तीसगढ़ आया और अलग-अलग टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहा है.

    परिवार के सदस्यों के साथ शिवकुमार पांडेय. फाइल फोटो.


    मनोकामना पांडेय ने न्यूज 18 को बताया कि दूसरे पालकों की तरह उनका सपना भी ​था कि शिव आगे पढ़ाई करे और इसके माध्यम से ही वो अपना कॅरियर बनाए, लेकिन शिव बचपन से ही क्रिकेटर बनना चाहता था.
    हमने उसका साथ दिया. क्योंकि उसे जीवन में ऐसा नहीं लगना चाहिए कि उसके मां-पिता ने उसके सपनों के लिए कुछ नहीं किया.


    छत्तीसगढ़ की जानी मानी मनोविज्ञानी और काउंसलर डॉ. अंबा सेठी का कहना है कि बच्चों को उनकी रुचि के अनुसार कॅरियर बनाने की छूट पालकों को देनी चाहिए. हर फिल्ड में अच्छे लोगों की जरूरत है. ऐसे में पालकों को ये ध्यान देने की जरूरत है कि उनका बच्चा जो भी करना चाहता है, उसमें इमानदारी से मेहनत करे.

    ये भी पढ़ें: News 18 पर ऐसे देखें 10वीं और 12वीं बोर्ड के नतीजे, टेंशन होने पर इस नंबर पर करें कॉल 
    ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में इंजीनियरिंग के तीन कॉलेज बंद, 4 होंगे मर्ज, घटेंगी 3 हजार सीटें 
    ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कितना जानते हैं आप? 
    ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: छत्तीसगढ़ की आधारशिला पर टिका है कांग्रेस का घोषणा पत्र! 
    ये भी पढ़ें:छत्तीसगढ़ में वोटर्स पर कितना असर डालेगा बीजेपी-कांग्रेस का नये चेहरों पर दांव? 
    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स  

    Tags: Cgbse 10th result, CGBSE 12th Result, Chhattisgarh Board Results, Chhattisgarh education department, Chhattisgarh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर