छोटी उम्र में बड़ा नाम: 15 साल की उम्र में कबाड़ी का बेटा बना आईआईटीयन, IAS है लक्ष्‍य

राजस्थान से ताल्‍लुक रखने वाले 15 साल के चतुर्भुज को आईआईटी धनबाद में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में मिला एडमिशन. पिता चलाते हैं कबाड़ी की दुकान

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 11:41 AM IST
छोटी उम्र में बड़ा नाम: 15 साल की उम्र में कबाड़ी का बेटा बना आईआईटीयन, IAS है लक्ष्‍य
छोटी उम्र में बड़ा नाम: कबाड़ी के बेटे ने 15 साल की उम्र में पास किया जेईई एडवांस एग्जाम
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 11:41 AM IST
15 साल की उम्र में जब बच्‍चे बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुटे होते हैं तो वहीं कुछ ऐसे भी होते हैं, जो देश की सबसे प्रतिष्‍ठित और कठिन परीक्षा में शुमार जेईई एडवांस जैसा एग्‍जाम क्‍लीयर करके आईआईटियन बन जाते हैं. जी हां ऐसे ही एक बच्‍चा है, जिनहोंने महज 14 साल 11 महीने की उम्र में ये परीक्षा पास करके सबको हैरत में डाल दिया है. बच्‍चे का नाम है चतुर्भुज सिंह. चतुर्भुज को आईआईटी धनबाद में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में एडमिशन मिल गया है. अब यह छात्र सबसे कम उम्र में एडमिशन लेने वाले स्‍टूडेंट बन गया है.

राजस्थान के अलवर से ताल्‍लुक रखने वाले चतुर्भुज के पिता डालचंद किरार कबाड़ी की दुकान चलाते हैं. घर की बिगड़ी स्‍थिति और पिता की दिन-रात की मेहनत को देखकर बेटे ने आज ये मुकाम हासिल किया है. चतुर्भुज ने 2017 में सीबीएसई 10वीं में आठ सीजीपीए और साल 2019 में 12वीं में 79.6 सीजीपीए अंक मिले थे. वहीं जेईई एडवांस में 1503 कैटेगरी रैंक मिली थी.

ईमानदार होनी चाहिए कोशिश

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अपनी सफलता के टिप्‍स शेयर करते हुए चतुर्भुज ने बताया कि नियमित पढ़ाई करें, लक्ष्य पहले तय करें. इसके अलावा स्‍टूडेंट्स को रिजल्‍ट की परवाह किए बिना केवल अपनी पढ़ाई पर फोकस करना चाहिए, दरअसल अक्‍सर ऐसा होता है कि नतीजों की परवाह करते-करते हम अपने लक्ष्‍य से भटक जाते हैं और तनाव में आ जाते हैं. इसलिए कोशिश करें केवल अपनी तरफ से केवल ईमानदार कोशिश करनी चाहिए. उसके बाद नतीजे खुद-ब खुद बेहतर मिलेंगे.

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर


इतने घंटे की पढ़ाई से मिली सफलता

हिंदुस्‍तान की रिपोर्ट के मुताबिक चतुर्भुज ने तैयारी के दौरान एक स्थानीय कोचिंग सेंटर की मदद ली थी. साथ-साथ स्कूल के अलावा आठ से 10 घंटे की सेल्‍फ स्‍टडी करते थे. बोर्ड के साथ जेईई एडवांस पर भी ध्यान दिया. आज नतीजा सबके सामने है.
Loading...

IAS क्रैक करना है लक्ष्‍य

चतुर्भुज के सपनों की उड़ान अभी और है. वे यहीं नहीं ठहरना चाहते हैं. इंजीनियरिंग करने के साथ-साथ आईएएस की तैयारी भी करना चाहते हैं. इसके लिए वे एक वक्‍त के बाद तैयारी शुरू करेंगे.

इन्‍होंने भी कम उम्र में किया बड़ा नाम

चतुर्भुज के अलावा और एक बच्‍ची का नाम सामने आया है, जिसने महज 15 साल की उम्र में ये कमाल कर दिखाया है. 15 साल की ज्‍योति प्रियदर्शी को भी आईआईटी आईएसएम धनबाद में एडमिशन मिला है. ज्‍योति को यहां माइनिंग मशीनरी इंजीनियरिंग ब्रांच में प्रवेश मिला है. बड़ी बात ये है कि कम उम्र के छात्र-छात्राओं ने इस बार इतिहास रच दिया है. इन छात्रों की जन्मतिथि साल 2004 है.

यह भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 11:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...