छत्तीसगढ़:ऑड-ईवन फार्मूले में स्कूल आएंगे बच्चे, सिलेबस में 25% होगी कमी

छत्तीसगढ़:ऑड-ईवन फार्मूले में स्कूल आएंगे बच्चे, सिलेबस में 25% होगी कमी
स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने ये जानकारी दी है. (Demo PIc)

हर स्कूल(School) में स्टूडेंट्स को उनके रोल नंबर और आईडी नंबर के आधार पर ऑड-ईवन (Odd-even) पैटर्न पर बुलाया जाएगा.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रायपुर. सीबीएसई (cbse) ने संकेत दिए हैं कि 15 जुलाई के बाद देशभर में स्कूल(School) शुरू किए जा सकते हैं. संक्रमण के खतरे से बचने के लिए सीबीएसई स्कूलों में कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. इसमें सबसेे बड़ा चेंज होगा बच्चों ऑड ईवन (Odd-even) पैटर्न पर आने की परमिशन होगी. हर स्कूल में स्टूडेंट्स को उनके रोल नंबर (आईडी नंबर) के आधार पर ऑड-ईवन पैटर्न पर बुलाया जाएगा. इस तरह एक बच्चा हफ्ते में तीन दिन स्कूल आएगा. बाकी तीन दिन उसे घर से ही ऑनलाइन क्लासेस (Online classes) अटैंड करनी होंगी. वहीं, पहली से 12वीं तक का सिलेबस 25 से 30 परसेंट तक कम किया जा सकता है. शनिवार को हाफ डे के बजाय फुल क्लासेस लगाई जाएंगी.

40 सीबीएसई स्कूल हैं शहर में
रायपुर शहर में 40 सीबीएसई स्कूल हैं  इनमें कुल 60 हजार स्टूडेंट पढ़ते हैं. इन स्कूलों में 1500 टीचर हैं सीबीएसई स्कूलों में 500 स्कूल बस रोज चलती हैं. इन बड़े बदलावों के साथ शहर के सीबीएसई स्कूल शुरी होंगे.

1. सिलेबस



स्कूल जुलाई से खुल सकते हैं. सिलेबस पूरा करने कम समय मिलेगा. लिहाजा, सिलेबस 25% तक कम करेंगे. किसी क्लास में अगर मैथ्स के 20 लेसन हैं तो उसे 16 लेसन तक किया जा सकता है.



2. होमवर्क
हर क्लास में होमवर्क लिखवाने में 7 से 8 मिनट लगते हैं. होमवर्क नोट कराने के बजाय अब प्रिंटेड वर्कशीट दी जाएंगी. जो समय बचेगा उसमें पढ़ाई होगी.
स्पोर्ट्स और कल्चरल इवेंट: हर स्कूल में एनुअल इवेंट्स लगभग 20 दिन चलते हैं. इस साल इवेंट नहीं कराए जाएंगे. इससे पढ़ाई के लिए ज्यादा समय मिलेगा.

3. शनिवार-रविवार को भी क्लास:
शनिवार को हाफ डे के बजाय फुल क्लास लगेगी. अगर अगस्त में स्कूल शुरू होता है तो सात महीने के हिसाब से 28 शनिवार होते हैं. फुल डे क्लास लगने से 3 पीरियड बढ़ेंगे. यानी कुल 84 पीरियड एक्स्ट्रा मिलेंगे. कुछ स्कूल रविवार को भी क्लासेस लगाने की प्लानिंग कर रहे हैं.

4. जनरल इंस्ट्रक्शन
एक सेक्शन के स्टूडेंट्स दूसरे सेक्शन में नहीं जा सकेंगे. सिलेबस पूरा करने फेस्टिवल और विंटर वेकेशन की छुट्टियां कम की जाएंगी. स्कूलों में एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाॅइंट बनाए जाएंगे, ताकि एक ही समय भीड़ न हो. बैंचेस एक से डेढ़ फीट की दूरी पर रखेंगे. जहां पहले दो स्टूडेंट बैठते थे वहां अब एक बैठेगा, ताकि दूरी बनी रहे.

5. सैनिटाइजेशन
स्कूल बसों को रोज अंदर, बाहर से सैनिटाइज करेंगे. हर तीसरे दिन पूरा कैंपस सैनिटाइज करेंगे.
रोज बैंचेस, चेयर्स, ब्लैकबोर्ड, डाइस जैसे सामानों को सैनिटाइज किया जाएगा. टीचर्स, स्टूडेंट काे मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

इन पर रहेगी पाबंदी
- स्कूल खुलने के कुछ दिनों तक प्रेयर नहीं होगी.
- स्कूल की कैंटीन बंद रहेंगी.
- बच्चों को घर से ही लाई गई चीजें खाने प्रेरित करेंगे. टिफिून शेयर न करने के भी निर्देश देंगे.
- हर क्लास के स्टूडेंट्स के लिए पीने के पानी की अलग व्यवस्था हाेगी.
- कैंपस मेंं ग्रुप बनाकर खेलना, पढ़ना बैन रहेगा.

ये भी पढ़ें- IIM Lucknow Admissions 2020: ऑनलाइन इंटरव्यू के बाद आईआईएम लखनऊ ने पहली लिस्ट जारी की
First published: May 24, 2020, 9:58 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading