CISCE result: अपने मार्क्‍स से खुश नहीं हैं आप? यहां है कुछ व‍िकल्‍प

CISCE result: अपने मार्क्‍स से खुश नहीं हैं आप? यहां है कुछ व‍िकल्‍प
सीआईएससीई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं क्लास में इस साल ढाई लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया.

जिन विषयों के लिए आयोजित परीक्षाओं के आधार पर अंक दिए गए हैं, वे छात्र पुन: जांंच या पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं. परिणामों के लिए पुन: जांच के लिए अनुरोध प्रस्तुत करने का ऑनलाइन मॉड्यूल 10 जुलाई से 16 जुलाई तक सात दिनों के लिए खुला रहेगा.

  • Share this:
CISCE के परीक्षा का पर‍िणाम जारी कर द‍िया गया है. दरअसल, पर‍िणाम की घोषणा मार्किंग स्‍कीम के आधार पर की गई है. ऐसे में संभव है क‍ि छात्र अपने र‍िजल्‍ट से संतुष्‍ट ना हों. ऐसे में छात्रों के पास दो रास्‍ते हैं: पहला, पेपर दोबारा चेक कराने का और दूसरा दोबारा ऑफलाइन एग्‍जाम आयोज‍ित करने का. पेपर रीचेक करने का व‍िकल्‍प स‍िर्फ उन्‍हें पेपर्स के ल‍िये उपलब्‍ध होगा, जो आयोज‍ित क‍िये गए थे.

आपके स्‍कोर क‍िस आधार पर कैलकुलेट क‍िये गए हैं, इसे समझने के ल‍िये छात्रों को पहले यह जानना होगा क‍ि क‍िस मार्क‍िंग स‍िस्‍टम के आधार पर उनके स्‍कोर तय क‍िये गए हैं.

जिन विषयों के लिए परीक्षा नहीं हुई है, उनके लिए अंक देने के लिए, तीन उच्चतम स्कोरिंग विषयों में से औसत को गिना जाएगा, जबकि पेपर का आंतरिक मूल्यांकन जिसमें प्रोजेक्‍ट वर्क का काम भी शामिल हो सकता है, को जोड़ा जाएगा. दोनों मार्किंग स्कीमों को 70:30 का वेटेज दिया जाएगा.



जैसा कि CISCE ने अदालत को सूचित किया है, यदि कोई छात्र मूल्यांकन प्रणाली से खुश नहीं है तो वे स्थिति के अनुकूल होने पर लिखित परीक्षा के लिए उपस्थित हो सकते हैं. हालांकि, इस पर अभी तक कोई स्पष्टता नहीं है क्‍योंक‍ि भारत में कोरोनावायरस के मामलों की संख्या बढ़ रही है.
जिन विषयों के लिए आयोजित परीक्षाओं के आधार पर अंक दिए गए हैं, वे छात्र पुन: जांच या पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं. रीचेक‍िंग के ल‍िये आवेदन करने के ल‍िये 10 से 16 जुलाई तक व‍िंडो खुली रहेगी.

रीचेक केवल उन विषयों के लिए आयोजित किया जाएगा, जिनके लिए लिखित परीक्षा आयोजित की गई है. बोर्ड के नियमों के अनुसार, छात्रों को आवेदन करने के लिए 1,000 रुपये प्रति परीक्षा शुल्क देना होगा. CISCE के छात्रों को उत्तीर्ण होने के लिए 35 प्रतिशत अंक चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading