Home /News /career /

बोर्ड एग्जाम्स में Co-ed स्कूलों के स्टूडेंट्स का परफॉर्मेंस बेहतर: दिल्ली सरकार

बोर्ड एग्जाम्स में Co-ed स्कूलों के स्टूडेंट्स का परफॉर्मेंस बेहतर: दिल्ली सरकार

Co-ed स्कूल के छात्रों ने लड़के, लड़कियों के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों से बेहतर प्रदर्शन किया

Co-ed स्कूल के छात्रों ने लड़के, लड़कियों के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों से बेहतर प्रदर्शन किया

इस साल 10वीं में मैथ्स में लड़कियों का परफॉर्मेंस बेहतर रहा. लड़कियां 83.92% और लड़के 78.78% पास हुए.

    दिल्ली सरकार की तरफ जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, बोर्ड परीक्षा में Co-ed स्कूल के छात्रों ने लड़के, लड़कियों के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों से बेहतर प्रदर्शन किया. 10वीं क्लास में Co-ed स्कूल के 88.16 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए. जबकि गर्ल्स और बॉयज के लिए चलने वाले स्कूलों का पास प्रतिशत 82 और 74.8% रहा.

    12वीं क्लास में Co-ed स्कूल का पास प्रतिशत 98.03% रहा. जबकि गर्ल्स स्कूल का पास प्रतिशत 97.42% और बॉयज के स्कूल का पास प्रतिशत 93.42% रहा था. सरकार की तरफ से जारी किए डाटा के मुताबिक, गणित में लड़कियों ने लड़कों की तुलना में बेहतर परफॉर्म किया. जबकि साल 2018 में 10वीं क्लास में मैथ्स में लड़कियों से बेहतर लड़कों का रिजल्ट रहा था. लड़कियां 73.78% और लड़के 77.27% पास हुए थे.

    इस साल 10वीं में मैथ्स में लड़कियों का परफॉर्मेंस बेहतर रहा. लड़कियां 83.92% और लड़के 78.78% पास हुए. ये आंकड़े यह तथ्य जेंडर आधारित मिथक को चुनौती देते हैं कि लड़कियां मैथ्स में अच्छी नहीं होती.

    बता दें कि जब सीबीएसई ने मई की शुरुआत में कक्षा 10 का परिणाम घोषित किया, तो दिल्ली सरकार के स्कूलों में पास प्रतिशत 71.6 प्रतिशत था, ये आंकड़े पिछले साल की तुलना में लगभग 2.7 प्रतिशत बेहतर थे.

    ये भी पढ़ें-
    RRB JE CBT 1 result 2019: जल्‍द जारी होगा रिजल्‍ट
    इस्‍लाम पर रिसर्च करने के लिए इस शख्‍स को मिलेगे 2 करोड़
    कॉलेज स्टूडेंट्स को इस ऐप से मिनटों में मिल जाएगा लोन!

    Tags: AAP, Arvind Kejriwal led Delhi government, Delhi Government, Private School, School Admission

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर