JEE and NEET Exam 2020: जेईई और नीट पर अब ममता बनर्जी भी आईं सामने, दिया ये बड़ा बयान

JEE and NEET Exam 2020: जेईई और नीट पर अब ममता बनर्जी भी आईं सामने, दिया ये बड़ा बयान
प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से परीक्षाओं के आयोजन के जोखिम को समझने की अपील की है.

सुप्रीम कोर्ट पहले ही जेईई मेन (JEE Main) और नीट एग्जाम (NEET Exam) को टालने की मांग वाली याचिका को खारिज कर चुका है. इन परीक्षाओं में देशभर से 25 लाख स्टूडेंट्स के शामिल होने की उम्मीद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 7:58 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री (West Bengal Chief Minister) ममता बनर्जी (Mamata Benarjee) ने केंद्र सरकार से ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (Joint Entrance Examination) यानी जेईई मेन (JEE Main) और नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility Entrance Test ) यानी नीट एग्जाम (NEET Exam) टालने की अपील की है. ममता ने लगातार ट्वीट कर कहा कि वे इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई मुख्यमंत्रियों की बैठक से ही काफी मुखर रही हैं. ये दोनों परीक्षाएं सितंबर में आयोजित होनी हैं और इनमें करीब 25 लाख स्टूडेंट्स हिस्सा लेंगे.

जोखिम को देखते हुए स्थगित की जाएं परीक्षाएं
पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के अनुसार, पीएम मोदी के साथ पिछली वीडियो कांफ्रेंस में मैंने यूजीसी की गाइडलाइंस का विरोध किया था, जिसमें यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में टर्मिनस एग्जाम सितंबर के अंत तक कराने की बात कही गई थी. ऐसा करने में स्टूडेंट्स की जिंदगी जोखिम में डालने का खतरा है. यही वजह है कि मैं केंद्र सरकार से अपील करती हूं कि इस जोखिम को देखते हुए इन परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है एग्जाम टालने की याचिका
जेईई मेन का आयोजन 1 से 6 सितंबर तो नीट का आयोजन 13 सितंबर को किया जाना है. सुप्रीम कोर्ट ने 17 अगस्त को ही साफ कर दिया था कि परीक्षाएं तय समय पर होंगी. शीर्ष न्यायालय ने जेईई मेन और नीट की परीक्षाएं टालने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है.



ये भी पढ़ें
बड़ी खबर: JEE Main-NEET एग्जाम टालने के लिए भूख हड़ताल पर बैठे हजारों स्टूडेंट
NEET-JEE Exam 2020: नीट-जेईई परीक्षा को लेकर ओवैसी ने कसा तंज, कही ये बात

बता दें कि जेईई मेन और नीट की परीक्षाएं पहले इस साल मई में आयोजित की जानी थी. मगर बाद में इन परीक्षाओं को जुलाई में कराने का फैसला किया गया. हालांकि इसके बाद भी कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के चलते इन एग्जाम को सितंबर में कराने का फैसला हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज