दिल्‍ली सरकार की नई पहल, बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्‍ट सुधारने के लिए दी जाएगी स्‍पेशल क्‍लास

दिल्‍ली सरकार ने निर्देश दिया है कि स्‍पेशल क्‍लासेस में छात्र-छात्राओं को वे विषय पढ़ाए जाएं, जिनमें वे अक्‍सर फेल हो जाते हैं, जैसे मैथ्‍स, साइंस और इंग्‍लिश. स्‍कूलों को इन विषयों पर फोकस करना होगा.

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 10:46 AM IST
दिल्‍ली सरकार की नई पहल, बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्‍ट सुधारने के लिए दी जाएगी स्‍पेशल क्‍लास
CBSE class 10, 12
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 10:46 AM IST
दिल्ली सरकार ने बोर्ड परीक्षा परिणामों को सुधारने के लिए एक नई पहल की है. इसके मुताबिक 10वीं और 12वीं के एग्‍जाम में बैठने वाले छात्र-छात्राओं के लिए स्‍पेशल क्‍लास लगाई जाएगी. सरकार की योजना है कि जिन विषयों में स्‍टूडेंट्स ने सबसे कम नंबर हासिल किए हैं, उन पर विशेष ध्यान देने के लिए स्‍पेशल क्‍लास लगाई जाए ताकि रिजल्‍ट सुधारा जा सके. वहीं इस बारे में शिक्षा निदेशालय ने भी सरकारी कॉलेजों को निर्देश दे दिए हैं.

ये स्‍पेशल क्‍लासेज 28 दिसंबर से शुरू होगीं और 15 जनवरी तक चलेगीं. इस दौरान बोर्ड स्‍टूडेंट्स का आना जरूरी होगा. हालांकि इस दौरान अन्‍य छात्र-छात्राओं की छुट्टी होगी. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक उनकी उपस्‍थिति सुनिशचित करना जरूरी होगा. वहीं इस बारे में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर एक अखबार को रीट्वीट किया, जिसमें कहा गया था कि सरकारी स्कूल अन्य कक्षाओं के लिए बंद रहेंगे, लेकिन जो छात्र अगले साल बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होंगे, उन्हें अपने संबंधित स्कूलों में जाना होगा. दरअसल ये फैसला इस बार दसवीं के बेहतर परिणाम नहीं आने की वजह से लिया गया है. DoE के अनुसार, इस साल कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम अच्छा नहीं रहा क्योंकि केवल 69.32 प्रतिशत छात्र ही परीक्षा दे पाए.

ये होगा स्‍कूल का समय

पहली शिफ्ट- सुबह 8:00 से दोपहर 1:00 बजे तक

दूसरी शिफ्ट- 1:00 से शाम 6:00 बजे तक

कमजोर छात्रों पर होगा ध्‍यान

स्‍पेशल क्‍लासेस का फोकस उन छात्रों पर होगा, जो पढ़ाई में कमजोर हैं. सरकार ने स्कूलों को उन विषयों की कक्षाएं लेने का निर्देश दिया है, जिनमें छात्रों के फेल होने की संभावना है. जैसे मैथ्‍स, साइंस, इंग्‍लिश. इन विषयों को अनिवार्य तौर पर पढ़ाया जाएगा.वहीं नोटिस के अनुसार, सभी शिक्षकों और बोर्ड के छात्रों का स्कूल जाना अनिवार्य है.
Loading...

10वीं में पढ़ाएं जाएंगे ये विषय

-अंक शास्त्र

-अंग्रेज़ी

-विज्ञान

12वीं में पढ़ाएं जाएंगे ये विषय

-भौतिक विज्ञान

-अंक शास्त्र

-अंग्रेज़ी

यह भी पढ़ें: 

जब निर्मला सीतारमण ने अचार बनाने के लिए मांगी थी छुट्टी

IAS एग्‍जाम में सबसे ज्‍यादा पूछे जाते हैं बजट के ये सवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2019, 10:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...