बड़ी खबर: गेस्ट टीचर्स को लेकर दिल्ली सरकार ने दिया ये निर्देश, जानें पूरी डिटेल

दिल्ली सरकार ने अतिथि शिक्षकों को राहत दी.
दिल्ली सरकार ने अतिथि शिक्षकों को राहत दी.

शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों के प्रमुखों को इच्छुक अतिथि शिक्षकों और संविदा शिक्षकों को जहां ऑनलाइन शिक्षा के लिए जरूरी होने पर नियोजित करने का निर्देश दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 1:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने गेस्ट टीचर्स को राहत देते हुए स्कूलों को निर्देश दिया है कि वे पिछले एकेडमिक सेशन के दौरान नियोजित किए गए सभी गेस्ट टीचर्स को स्कूली सेवाओं में शामिल करें.

20 हजार अतिथि शिक्षकों के लिए अनिश्चिता
उल्लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी के कारण स्कूल बंद होने की वजह से करीब 20 हजार अतिथि शिक्षकों के लिए अनिश्चिता बनी हुई है जिन्हें दैनिक आधार पर वेतन दिया जाता है.

 पढ़ाने और अन्य गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने के लिए बुलाएं स्टाफ
शिक्षा निदेशालय के आधिकारिक आदेश में कहा गया, स्कूलों के प्रधानाचार्यों को स्कूलों में ऑनलाइन कक्षाओं में पढ़ाने और अन्य गतिविधियों जैसे टेली परामर्श एवं अन्य संबंधित कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए 21 सितंबर से 50 प्रतिशत शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक कर्मचारियों को बुलाने के लिए अधिकृत किया गया था.



 सभी स्कूलों के प्रमुखों को निर्देश 
आदेश में कहा गया, इसलिए, स्कूलों के सुचारु कार्य सुनिश्चित करने के लिए सभी स्कूलों के प्रमुखों को निर्देश दिया जाता है कि वे सभी अतिथि शिक्षकों (गैर-सीटेट को छोड़कर) को जो पिछले सत्र में नियोजित थे,उनके स्कूलों में विषयों में खाली जगह के आधार पर तीन दिनों के भीतर सकारात्मक तरीके से शामिल करें.

ये भी पढ़ेंः
बड़ी खबर: स्कूल-कॉलेज खोलने को लेकर सरकार ने जारी की गाइडलाइन, जानें पूरा प्लान
NEET आंसर-की 2020 ntaneet.nic.in पर जारी, इस डायरेक्ट लिंक से करें चेक


अतिथि शिक्षक ऑनलाइन शिक्षा योजना के तहत फिर से शामिल
गौरतलब है कि जुलाई में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि अतिथि शिक्षकों को ऑनलाइन शिक्षा योजना के तहत फिर से शामिल किया जाएगा. शिक्षा विभाग ने इसके बाद सभी स्कूलों के प्रमुखों को सभी इच्छुक अतिथि शिक्षकों और संविदा शिक्षकों को जहां ऑनलाइन शिक्षा के लिए जरूरी होने पर नियोजित करने का निर्देश दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज