दिल्ली विश्वविद्यालय के एंट्रेस एग्जाम की ऐसे करें तैयारी, एडमिशन होगा पक्का

एनएसयूआई ने विश्विद्यालय के कुलपति से मुलाकात की. (File Photo)
एनएसयूआई ने विश्विद्यालय के कुलपति से मुलाकात की. (File Photo)

दिल्ली यूनिवर्सिटी में मुख्यतया चार तरह के कोर्सेस में एडमिशन के लिए आवेदन मांगे जाते हैं. इनमें प्रवेश लेने के लिए हमारे द्वारा बताई जा रही रणनीति के हिसाब तैयारी करेंगे तो आपका डीयू में एडमिशन लेना काफी आसान हो जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्यालय ने कोरोना वायरस के चलते फिलहाल एडमिशन प्रक्रिया को 14 अप्रैल तक के लिए टाल दिया है. इसके बाद की स्थिति को देते हुए डीयू एडमिशन कमेटी आगे नोटिफिकेश जारी करेगी. वहीं देश भर के लाखों स्टूडेंट दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने का सपना पाले बैठे हैं, जो नोटिफिकेशन आते ही आवेदन करेंगे. दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन में प्रक्रिया कैसे होती है. आज हम इसके बारे में बताने जा रहे है. दिल्ली यूनिवर्सिटी में चार तरह के मुख्य कोर्सेस में एडमिशन के लिए आवेदन मांगे जाते हैं. जो इस प्रकार हैं...

- यूजी कोर्स
- पीजी कोर्स
- एमफिल
- पीएचडी
इनमें से तीन कोर्स में एडमिशम के लिए उम्मीदवारों को एंट्रेस एग्जाम देना होता है. पीजी, एमफिल और पीएचडी में एंट्रेंस एग्जाम क्वालिफाई करने पर एडमिशन मिलता है. वहीं यूजी के कुछ कोर्सेस को छोड़कर बारहवीं में प्राप्त अंकों के आधार पर मैरिट बनती है, जिसके आधार पर एडमिशन मिलता है.


यूजी प्रोग्राम

एडमिशन का पहला तरीका
यूजी प्रोग्राम में जिन कोर्सेस में एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम देना होता है उनमें बीएड, एमएड, एलएड, फाइनांस स्टड़ी के अलावा भी कुछ कोर्स आते हैं. इसके लिए आयोजित होने वाले एंट्रेस एग्जाम को Delhi University joint admission test कहते हैं. इस एग्जाम को देने के लिए 12वीं में 60 फीसद अंकों का होगा जरूरी है.

एडमिशन का दूसरा तरीका
दिल्ली यूनिवर्सिटी में यूजी के कुछ कोर्सों को छोड़कर बाकी के कोर्ससेस में 12वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर मैरिट बनाती है. इसके आधार पर ज्यादा प्रतिशत वाले छात्रों को कोर्स में प्रवेश दिया जाता है.

पीजी/एमफिल/पीएचडी
इन कोर्सों में प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होता है,जिसमें मल्टीपल टाइम क्वेश्चन आते हैं. एमफिल और पीएचडी में एंट्रेंस एग्जाम क्वालिफाई करने के बाद इंटरव्यू देना होता है, जिसके बाद उम्मीदवार को दाखिला मिलता है.

कैसे करें एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी
यूजी और पीजी में एंट्रेस एग्जाम की तैयारी के लिए अपने-अपने विषय के प्रीवियस इयर की किताबों को पढ़ें. खासकर महत्वपूर्ण टॉपिक्स को तैयार कर लें. इस परीक्षा की तैयारी के लिए एनसीआरटी की किताबें पढ़ना काफी अच्छा रहेगा. वहीं एमफिल और पीएचडी की के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए यूजीसी नेट के सेलेबस के हिसाब से पढ़ाई करें.

प्रीवियस क्वेश्चन पेपर देखें
एमफिल और पीएचडी का एंट्रेंस एग्जाम देने जा रहे उम्मीदवार यूजीसी प्रीवियस ईयर के क्वेश्चन पेपर को देखें जो आपकी काफी मदद करेंगे. इसी तरह से यूजी और पीजी का एंट्रेस एग्जाम देने जा रहे स्टूडेंट्स को प्रीवियस ईयर के पेपर के साथ ही पिछली क्लास की किताबों से महत्वपूर्ण टापिक्स को तैयार कर लेना चाहिए.

बाजार में उपलब्ध हैं किताबें
डीयू के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली के बाजार से किताबें खरीद सकते हैं. कई प्रकाशक प्रीवियस इयर के क्वेश्न पेपर पर आधारित किताबें पब्लिश कर बेच रहे हैं. इसके अलावा ऑनलाइन स्टडी भी कर सकते हैं.

नोट- सत्र 2020-21 के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय की एडमिशन कमेटी ने अभी तक एडमिशन प्रक्रिया को लेकर कोई भी नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है. आगे यह कमेटी एडमिशन प्रक्रिया के नियमों और शर्तों में बदलाव भी कर सकती है और नहीं भी कर सकती.

ये भी पढ़ें- Sunday Special: हैदराबाद यूनिवर्सिटी के एंट्रेस एग्जाम की ऐसे करें तैयारी, इस तरह से पूछे जाते हैं सवाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज