• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • Delhi University (DU): ओपन बुक परीक्षा के विरोध में चार प्रोफेसरों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखा पत्र, बताया- मनमाना फैसला

Delhi University (DU): ओपन बुक परीक्षा के विरोध में चार प्रोफेसरों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखा पत्र, बताया- मनमाना फैसला

दिल्ली विश्वविद्यालय ओपन बुक एग्जाम करवाए जाने के लिए यूनिवर्सिटी ने कुछ दिन पहले ही गाइडलाइन जारी की थी,

दिल्ली विश्वविद्यालय ओपन बुक एग्जाम करवाए जाने के लिए यूनिवर्सिटी ने कुछ दिन पहले ही गाइडलाइन जारी की थी,

Delhi University (DU) Open Book Exam: प्रोफेसरों का कहना है कि यह भेदभावपूर्ण फैसला है. सभी छात्रों के पास इस प्रक्रिया से परीक्षा देने के उपयुक्त संसाधन नहीं हैं.

  • Share this:
    नई दिल्लीः दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) के चार प्रोफेसरों ने यूनिवर्सिटी द्वारा ओपन बुक एग्जाम करवाए जाने के विरोध में पत्र लिखा है. दिल्ली यूनिवर्सिटी ने कुछ दिन पहले नोटिस जारी करके कहा था कि अगर कोविड-19 के कारण पैदा हुई स्थिति नॉर्मल नहीं होती है तो ओपन बुक एग्जाम (Process of Open Book Exam in DU) कराया जाएगा. इसके लिए पूरी गाइडलाइन (Guidelines for Open Book Exam) जारी की गई थी और प्रोसेस भी बताया गया था. चारों प्रोफेसर ने इसे मनमाना फैसला बताया है.

    कहा- छात्रों में करता है भेदभाव-
    ये चार प्रोफेसर कौशल पंवार, प्रेमचंद, डॉ. डी आर अनिल कुमार और दीपांकर हैं. पत्र में कहा गया है, ‘‘हम आपसे इस बात पर तत्काल ध्यान देने की अपील करते हैं कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने मनमाने तरीके से फैसला किया और 13 मई 2020 को सभी विभागों के प्रमुखों को पत्र लिखकर प्रश्न पत्र के तीन सेट्स ‘ओपन-बुक’ परीक्षा के लिए तैयार करने के लिए कहा.’’ प्रोफेसरों ने कहा, ‘‘ ‘ओपन-बुक’ माध्यम से परीक्षा कराने का यह कदम उच्च शिक्षा को निजीकरण की ओर लेकर जाएगा.’’ उन्होंने कहा कि ‘ओपन-बुक’ और ‘क्लोज-बुक’ व्यवस्थाएं बिल्कुल अलग-अलग हैं.

    ओपन बुक और क्लोज बुक एग्जाम हैं बिल्कुल अलग-
    इन दोनों व्यवस्थाओं में प्रश्न पत्र की आवश्यकताएं भी अलग होती हैं. प्रोफेसरों ने दावा किया कि ‘ओपन-बुक’ परीक्षा विभिन्न स्तरों पर छात्रों के बीच एक तरह से भेद-भाव को भी बढ़ावा देगी. जिन छात्रों के पास संसाधन हैं, केवल उन्हें ही इसका फायदा मिल सकता है.

    ABVP ने भी की बैठक-
    इस बीच अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेतृत्व में दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ ने डीयू छात्र प्रतिनिधियों, डूसू के आठ कार्यकारी परिषद सदस्यों और 41 निर्वाचित कॉलेज संघ प्रतिनिधियों की एक आम सभा बुलाई. डूसू ने अकादमिक और परीक्षाओं के मौजूदा हालात पर चर्चा करने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के साथ भी बैठक की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज