लाइव टीवी

Diwali 2019: दीपावली के मौके पर छात्र ऐसे लिखें एक अच्छा निबंध

News18Hindi
Updated: October 23, 2019, 3:34 PM IST
Diwali 2019: दीपावली के मौके पर छात्र ऐसे लिखें एक अच्छा निबंध
Diwali 2019: दिवाली के मौके पर निबंध ल‍िखने में यह मददगार साब‍ित होगा.

दिवाली जिसे रौशनी का त्योहार भी कहा जाता है, हिन्दू धर्म का एक बहुत ही अहम हिस्सा है, यह एक ऐसा त्यौहार है जिसे पूरे देश में उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 3:34 PM IST
  • Share this:
Diwali 2019: दिवाली के त्योहार में कुछ ही दिन बाकी हैं. ऐसे में लगभग हर स्कूल में छात्रों को दिवाली पर निबंध लिखने के लिए कहा जाता है. लेकिन कई बार छात्र अपने विचारों को पेपर पर लिखने में कामयाब नहीं हो पाते. अगर आप भी दिवाली के मौके पर एक अच्छा निबंध लिखना चाहते हैं तो इस उदाहरण से आपको काफी मदद मिल सकती है.

दिवाली पर निबंध का उदाहरण: 

दिवाली हिन्दू धर्म का एक ऐसा त्योहार है जिसे पूरे देश में उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है. इस त्योहार की तैयारियां एक हफ्ते पहले से ही शुरू कर दी जाती हैं. लोग अपने घरों और दुकानों की साफ-सफाई से तैयारियों की शुरुआत करते हैं. दिवाली से पहले घरों और दुकानों के एक-एक कोने की सफाई की जाती है.

कहा जाता है की इसी दिन भगवान राम 14 साल का वनवास काटकर अयोध्या वापस लौटे थे और सभी अयोध्या वासियों ने उनके स्वागत में घी के दीपक जलाए थे. भगवान राम को पूरे देश में उनकी पवित्रता और सत्यता के लिए पूजा जाता है.

दिवाली का त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है. इस दिन सभी हिन्दू अपने घरों में दीये जला कर अमावस्या की रात को भी रौशन कर देते हैं. अलग-अलग रंगों और आकारों की लाइट्स से सजे घर, दरवाजों पर चमकते हुए मिट्टी के दीपक नजारे को और भी खूबसूरत बना देते हैं. लोग नए कपड़े पहन कर देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करते हैं. साथ ही एक दूसरे को मिठाइयां और उपहार भेज कर शुभकामनाएं भी देते हैं.

यही वो समय है, जब हम अपने करीबी और प्रिय लोगों के साथ रिश्तों को और मजबूत बना सकते हैं. इस त्योहार का सभी हिन्दू धर्म के लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं. ये सभी के लिए सबसे महत्वपूर्ण और पसंदीदा त्योहार है खासतौर पे बच्चे इसे सबसे ज्यादा पसंद करते हैं.

दिवाली पर हर साल बड़ी संख्या में पटाखे भी जलाए जाते हैं, ऐसा करने से लोगों को कुछ देर की खुशी तो मिलती है, लेकिन पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता है. पटाखे जलाने से वायु, ध्वनि और भूमि प्रदूषण होता है जिसकी वजह से कई लोगों को परेशानी होती है. दिवाली जिसे रौशनी का त्योहार भी कहा जाता है, हिन्दू धर्म का एक बहुत ही अहम हिस्सा है. पर्यावरण को प्रदूषण से दूषित न करके हमें इस त्योहार को उत्साह और खुशी के साथ मनाना चाहिए.
Loading...

इस उदाहरण के जरिए आपको निबंध लिखने में कुछ मदद तो जरूर मिलेगी.

इस साल दिवाली 27 अक्टूबर 2019 को होगी और इस अवसर पर आप सभी को दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं और उम्मीद करते  हैं  कि हर साल की तरह इस साल भी  ये दिवाली सभी के लिए खुशियों की सौगात लेकर आए.

ये भी पढ़ें:
IAS Success Story: जानिए उस आईएएस अफसर की कहानी, जो बचपन में भैंस चराती थी
शादी के 15 द‍िनों बाद ही टूट गया र‍िश्‍ता, पति‍ के धोखे ने बनाया IAS अध‍िकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 1:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...