अपना शहर चुनें

States

Doctors Day 2020: डॉक्टर बनना चाहते हैं तो ये है तरीका, तैयारी से लेकर परीक्षा तक जानें सब कुछ

डॉक्टर बनने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें.
डॉक्टर बनने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें.

Doctors Day Special, How to become a Doctor: एमबीबीएस या बीडीएस करने के लिए आपको नीट परीक्षा देनी होती है. हर साल यह परीक्षा सीबीएसई द्वारा करवाई जाती है जिसके जरिए पूरे भारत में छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए अलग अलग कॉलेजों में प्रवेश दिया जाता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. डॉक्टर बनना (How to become a Doctor) कई स्टूडेंट्स का सपना होता है. समाज में डॉक्टर की प्रतिष्ठा होती है. न सिर्फ इस प्रोफेशन के जरिए समाज की सेवा की जा सकती है बल्कि अच्छा जीवन जीने के लिए ज़रूरी संसाधन जुटाने जितनी इनकम भी हो जाती है. तो अगर आप भी डॉक्ट बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कम उम्र से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए. क्योंकि डॉक्टर बनने के लिए आपको काफी लगन और मेहनत की जरूरत होती है. साथ ही आपको काफी धैर्य की भी ज़रूरत होगी. हम आपको बताते हैं कि डॉक्टर बनने के लिए आपको शुरू से ही क्या करना होगा.

सेकेंडरी स्कूल एजुकेशन
डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायोलजी होनी चाहिए. एमबीबीस प्रोग्राम के लिए अप्लाई करते आपकी उम्र कम से कम 17 साल और अधिकतम 25 साल होनी चाहिए.

ग्रेजुएशन
डॉक्टर बनने के लिए एमबीबीएस की डिग्री होना ज़रूरी है. चिकित्सा के क्षेत्र में घुसने के लिए यह एक एंट्री कार्ड जैसा है. आमतौर पर यह साढ़े पांच साल का एक कोर्स होता है जिसके साथ एक साल की इंटर्नशिप करनी होती है.



प्रवेश परीक्षा
एमबीबीएस या बीडीएस करने के लिए आपको नीट परीक्षा देनी होती है. हर साल यह परीक्षा सीबीएसई द्वारा करवाई जाती है जिसके जरिए पूरे भारत में छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए अलग अलग कॉलेजों में प्रवेश दिया जाता है. नीट परीक्षा में आपकी रैंक के अनुसार निर्धारित किया जाता है कि आपको कौन सा कॉलेज दिया जाएगा. अगर आप आयुर्वेद, यूनानी या होम्योपैथी में स्पेशलाइज़ेशन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको स्पेशल कोर्स करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ेंः
SSC JHT 2020: 283 पदों के लिए शुरू हुई आवेदन प्रक्रिया, ssc.nic.in पर करें चेक
UP Board Result 2020: स्क्रूटिनी फॉर्म हुए रिलीज़, जानें फीस डिटेल सहित सब कुछ

इसके अलावा तमाम कॉलेज जैसे एम्स, JIPMER, आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज, कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज इत्यादि ऐसे कॉलेज हैं जो कि अपना खुद की प्रवेश परीक्षा कराते हैं. इसलिए अगर छात्र इनमें से कोई संस्थान ज्वाइन करना चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए अलग से परीक्षा देना पड़ेगा.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज