DU admission 2019: काउंसिल मेंबर्स ने इन नियमों में बदलाव पर किया ऐतराज

DU admission 2019: इस बार इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए बेस्ट 4 सब्जेक्ट में मैथ्स के नंबर जोड़े जाएंगे.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 12:23 PM IST
DU admission 2019: काउंसिल मेंबर्स ने इन नियमों में बदलाव पर किया ऐतराज
DU admission 2019: DU काउंसिल मेंबर्स ने इन नियमों में बदलाव पर किया ऐतराज
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 12:23 PM IST
DU admission 2019:  इस साल डीयू की दाखिला प्रक्रिया में कई तरह के बदलाव किए गए हैं, जिन्हें लागू भी किया जाएगा. लेकिन दिल्ली विश्वविद्यालय के अकादमिक परिषद (AC) और कार्यकारी परिषद (EC) के पांच सदस्यों ने कुलपति को अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटएरिया में मनमाने बदलाव पर लिखा है. उन्होंने कहा इन बदलावों में वैधानिक निकायों की मंजूरी का अभाव है. बता दें कि इस बार, डीयू ने एलिजिबिलिटी क्राइटएरिया में कई बदलाव किए हैं, जो छात्रों में भ्रम पैदा कर रहे हैं.

एलिजिबिलिटी क्राइटएरिया में बदलाव-
इस बार के Eligibility criteria में इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए बेस्ट 4 सब्जेक्ट में मैथ्स के नंबर जोड़े जाएंगे. साथ में इगंलिश के नंबर भी बेहतर होने चाहिए. बहुत से कोर्स में दाखिले के लिए जितने % नंबर ज़रूरी हैं, उससे ज्यादा की मांग की गई है.

कुलपति को लिखे लेटर में  EC मेबंर्स ने कहा कि ये परिवर्तन आरक्षित श्रेणियों के दाखिले पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं. ये परिवर्तन दाखिले के लिए अनियंत्रित हैं, क्योंकि बहुत से कोर्स में दाखिला कट-ऑफ की योग्यता के आधार पर दिया जाता है.

पहली बार लड़कियों के लिए open day session
दिल्ली यूनिवर्सिटी की ओर से पहली बार ओपन डे सेशन भी रखा गया, जिसमें दाखिले में किसी भी तरह की परेशानी आने पर बात की गई. बता दें कि इस बार अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए 2.29 लाख स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है.

ये भी हैं बदलाव
Loading...

Cancellation fee: प्रति कट-ऑफ सूची में केवल एक रद्दीकरण की अनुमति है. छात्रों को उनके विकल्पों को सुनिश्चित करने और प्रवेश पाने के लिए कैंसेलेशन फीस को 500 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये कर दिया गया है. विश्वविद्यालय का डैशबोर्ड इंटरएक्टिव होगा जहां छात्र सीटों की संख्या देख पाएंगे कि उनमें से कितने पाठ्यक्रम भरे गए हैं. ताकि जिनके लिए एक छात्र आवेदन कर रहा है वह उस कॉलेज में आवेदन न करे जहां सीटें पहले ही भरी जा चुकी हैं.

स्पोर्ट्स कोटा में योग नहीं: योग जो पिछले साल तक स्पोर्ट्स कोटा लिस्ट का हिस्सा था, अब अतिरिक्त गतिविधियों के तहत रखा जाएगा.

आधुनिक भारतीय भाषाओं का समावेश: आधुनिक भारतीय भाषाओं को अकादमिक विषयों की सूची में शामिल किया है, जिसका अर्थ है कि यदि छात्र अपने चार अंकों में से सर्वश्रेष्ठ नंबरों की गणना के लिए अपने मुख्य विषयों में से एक के रूप में चुनते हैं, तो उन्हें अंकों के 2.5 प्रतिशत की कटौती का सामना नहीं करना पड़ेगा. ये पिछले साल तक आदर्श था.

ये भी पढ़ें-
Jobs Alert: 10वीं पास के लिए 1737 पदों पर वैकेंसी
VITMEE 2019 Result: वेल्लोर इंस्टिट्यूट ने vit.ac.in पर जारी किया M.Tech रिजल्ट, डायरेक्ट लिंक से देखें
RBSE Rajasthan Board 8th Result 2019 LIVE: पर‍िणाम घोष‍ित, 100% छात्र हुए पास, चेक करें अपना ग्रेड

 
First published: June 9, 2019, 12:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...