DU Cut-Offs 2020: जानिए कब जारी होगी दिल्ली यूनिवर्सिटी की कट-ऑफ लिस्ट, du.ac.in पर करें चेक

DU Cut-Offs 2020: जानिए कब जारी होगी दिल्ली यूनिवर्सिटी की कट-ऑफ लिस्ट, du.ac.in पर करें चेक
इस साल कोरोना वायरस के चलते देशभर में रिजल्ट जारी करने में देरी हुई है.

DU Cut-Offs 2020: सीबीएसई बोर्ड की 12वीं क्लास के नतीजे आने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी ने कट ऑफ लिस्ट जारी करने की तैयारी शुरू कर दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. ऐसे में जबकि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई ने 12वीं क्लास के नतीजों का ऐलान कर दिया है, तो दिल्ली यूनिवर्सिटी यानी डीयू (Delhi University, DU) में भी कट ऑफ लिस्ट जारी करने की तैयारियों ने जोर पकड़ लिया है. सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा में इस साल 88.78 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं. सीबीएसई ने इस साल मेरिट लिस्ट जारी नहीं की है, लेकिन बोर्ड जल्द ही यूनिवर्सिटी के साथ रिजल्ट साझा करेगा, जिससे कट ऑफ लिस्ट तैयार की जा सके. दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए आवेदन करने वाले छात्र-छात्राएं du.ac.in पर कट ऑफ लिस्ट देख सकते हैं. कट ऑफ लिस्ट जल्द ही जारी होने की उम्मीद है.

2.8 लाख स्टूडेंट्स ने किया आवेदन
दिल्ली यूनिवर्सिटी यानी डीयू में एडमिशन 20 जून से शुरू हो गए थे. कोरोना वायरस के चलते आवेदन की आखिरी तारीख बढ़ा दी गई थी. यूनिवर्सिटी में विभिन्न कोर्सेज के लिए अभी तक 2.8 लाख स्टूडेंट्स ने आवेदन किया है. यूनिवर्सिटी को सीबीएसई के रिजल्ट का इंतजार था और अब जबकि बोर्ड ने इसका ऐलान कर दिया है तो डीयू का स्टाफ कट ऑफ लिस्ट जारी करने में जुट गया है. टाइम्सनाउ की रिपोर्ट के अनुसार, एक प्रोफेसर ने बताया, इस साल कैंडीडेट ने 12वीं का रिजल्ट अपलोड नहीं किया था, लेकिन अब सीबीएसई ने नतीजे घोषित कर दिए हैं तो हम कट ऑफ लिस्ट बनाने की ओर बढ़ सकते हैं.

कट ऑफ में अधिक गिरावट की उम्मीद न करें
रिपोर्ट के अनुसार, इस साल स्टूडेंट्स को कट ऑफ में अधिक गिरावट की उम्मीद नहीं करनी चाहिए. चूंकि मौजूदा हालात को देखते हुए नया सत्र अक्टूबर से पहले शुरू होता नजर नहीं आ रहा है. यूनिवर्सिटी ऐसे स्टूडेंट्स के लिए विंडो खुली रख सकती है जो बाद में एग्जाम देना चाहते हैं. ये भी हो सकता है कि जिन कैंडीडेट के मार्क पांचवीं कट ऑफ से मेल खाते हों, वे भी एडमिशन के लिए योग्य माने जाएंगे.





ये भी पढ़ें-
CBSE Board 12th Result 2020: जानिये दिल्‍ली में क‍ितने हुए फेल और क‍ितने पास
CBSE ने शुरू की पोस्ट-रिजल्ट काउंसलिंग, 1800 11 8004 पर करें कॉल


रिपोर्ट के अनुसार एग्जीक्यूटिव काउंसिल मेंबर राजेश झा ने बताया, शीर्ष कॉलेजों में कट ऑफ पर अधिक असर नहीं पड़ेगा. हालांकि जो स्टूडेंट्स दो से अधिक पेपर नहीं दे सके, उन पर इसका असर पड़ना तय है. इस बार सीबीएसई के 12वीं की परीक्षा में 38 हजार 686 स्टूडेंट्स ऐसे हैं, जिन्होंने 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं. इससे इस साल कट ऑफ बढ़ना तय है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज